scorecardresearch
 

ऐसे हुआ ट्रेन हादसा: रावण को जलते देखने ट्रैक पर आए लोग, रेल ने मारी टक्कर

रावण के पुतले में आग लगते ही वहां जमा भीड़ भाग खड़ी हुई और लोग ट्रैक पर आ गए. इसी दौरान जालंधर से अमृतसर जा रही डीएमयू ट्रेन ट्रैक पर आए लोगों को काटती चली गई.

X
घटनास्थल की फोटो घटनास्थल की फोटो

पंजाब के अमृतसर में दशहरा पर्व पर बड़ा ट्रेन हादसा हुआ है जिसमें करीब 60 से ज्यादा लोगों की मौत की आशंका है. घटना चौड़ा बाजार के करीब की है जहां ट्रैक के पास रावण का पुतला दहन किया जा रहा था. रावण दहन को देखने के लिए सैकड़ों की भीड़ ट्रैक के पास जमा थी.

जानकारी के मुताबिक रावण के पुतले में आग लगते ही वहां जमा भीड़ भाग खड़ी हुई और लोग ट्रैक पर आ गए. इसी दौरान जालंधर से अमृतसर जा रही डीएमयू ट्रेन ट्रैक पर आए लोगों को काटती चली गई. चश्मदीदों के मुताबिक चारों तरह क्षत-विक्षत शव नजर आ रहे हैं और मरने वालों का आंकड़ा बढ़ने की आशंका है. फिलहाल मौके पर पुलिस-प्रशासन के अधिकारी और एंबुलेंस पहुंच गई हैं, राहत और बचाव का काम किया जा रहा.

मौके पर मौजूद चश्मदीदों के मुताबिक रावण दहन के कार्यक्रम में पंजाब के मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू की पत्नी नवजोत कौर सिद्धू  भी मौजूद थीं और चश्मदीदों का आरोप है कि हादसे के बाद मौके से नवजोत कौर तुरंत फरार हो गईं. स्थानीय लोगों ने कौर की इस हरकत में उनके खिलाफ विरोध प्रदर्शन भी किया है.

हादसा अमृतसर के जोड़ा फाटक के पास हुआ है. घटना स्थल से भयावह तस्वीरें आ रही हैं, जिसे हम आपको नहीं दिखा पा रहे हैं. ट्रैक के आसपास खून से लथपथ लाशें बिखरी पड़ी हुई हैं. घटनास्थल पर मौजूद चश्मदीद बता रहे हैं कि ट्रेन की स्पीड बहुत ज्यादा थी, जबकि भीड़भाड़ वाले इलाके को देखते हुए इसकी रफ्तार कम होनी चाहिए. इस घटना को लेकर स्थानीय लोगों में काफी नाराजगी है.

घटनास्थल के पास काफी लोग एकत्रित हो गए हैं और स्वजनों की तलाश कर रहे हैं. मौके पर चारों तरफ लोगों के रोने-बिलखने की तस्वीरें देखी जा सकती हैं. मौके पर बचाव दल पहुंच गया है. बड़े पैमाने पर पुलिस बल को भी तैनात किया गया है.

5-5 लाख के मुआवजे का ऐलान

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने हादसे पर गहरा दुख जताते हुए मुआवजे का ऐलान किया है. अमरिंदर सिंह ने ट्वीट कर कहा कि राहत कार्य का जायजा लेने खुद अमृतसर जा रहा हूं. पंजाब सरकार ने मरने वालों के परिजनों के लिए 5-5 लाख रुपये के मुआवजे का ऐलान किया है. मुख्यमंत्री ने कहा कि घायलों को मुफ्त इलाज दिया जाएगा और इसके लिए जरूरी निर्देश जारी किए गए हैं.

मुख्यमंत्री ने गृह सचिव, स्वास्थ्य सचिव और एडीजी (कानून व्यवस्था) को अमृतसर जाने के निर्देश दिए हैं. राजस्व मंत्री अमृतसर के लिए निकल चुके हैं. सीएम खुद भी घायलों का हाल-चाल लेने शनिवार को वहां पहुंचेंगे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें