scorecardresearch
 

SIT के हलफनामे में क्या है? जानें बीजेपी का तीस्ता सीतलवाड़ केस में बड़ा दावा

SIT के हलफनामे में क्या है? जानें बीजेपी का तीस्ता सीतलवाड़ केस में बड़ा दावा

Teesta Seetalwada Case: 20 साल बाद गुजरात दंगे की आंच फिर से उठी है. SIT एक हलफनामा दायर किया तो लपेटे में सामाजिक कार्यकर्ता तिस्ता सीतलवाड़ से लेकर कांग्रेस आलाकमान सोनिया गांधी, अहमद पटेल बीजेपी के निशाने पर आ गए. बीजेपी ने इस मुद्दे को उछालकर सीधे-सीधे सोनिया गांधी पर हमला किया है. बीजेपी का आरोप है कि मोदी को बदनाम करने के लिए पूरी साजिश रची गई थी. वहीं कांग्रेस ने इसे गुजरात विधानसभा चुनाव से जोड़ दिया है. ऐसे में सबसे बड़ा सवाल कि क्या गुजरात दंगे का मामला कानूनी दहलीज पार करके सियासी गलियारे में धमाचौकड़ी मचाएगी. आरोप हैं कि कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के सलाहकार अहमद पटेल के जरिए तीस्ता को गोधरा कांड के बाद 30 लाख रुपये दिए गये थे. इस हलफनामे में SIT ने कहा है कि तीस्ता ने पैसे लेकर गुजरात की तत्कालीन मोदी सरकार को बदनाम करने की साजिश रची थी. SIT के मुताबिक गोधराकांड के बाद कांग्रेस नेता अहमद पटेल ने गुजरात सरकार के खिलाफ बड़ी साजिश की थी. देखे पूरी खबर.

In the wake of the Gujarat Police’s affidavit which claims that activist Teesta Setalvad and others plotted to destabilise the Gujarat government after the 2002 riots, at the behest of Congress leader Ahmed Patel, politics have been intensified. The BJP has alleged that Congress president Sonia Gandhi was the architect of the conspiracy involving party leader Ahmed Patel and activist Teesta Setalvad to topple the Gujarat government after the 2002 riots. The Congress has hit back. Watch this video for detailed information.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें