scorecardresearch
 

'थप्पड़' वाले बयान पर हंगामा, FIR दर्ज होने पर बोले नारायण राणे- मेरी भी केंद्र में सरकार है

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) पर विवादित बयान देकर फंसे केंद्रीय मंत्री नारायण राणे (Union Minister Narayan Rane) ने मंगलवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस की. शिवसेना की ओर से उनके खिलाफ FIR दर्ज कराई गई है. इस पर राणे ने कहा कि उनकी भी केंद्र में सरकार है और वो किसी से डरते नहीं हैं.

नारायण राणे (फाइल फोटो-ANI) नारायण राणे (फाइल फोटो-ANI)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • नारायण राणे ने दिया था विवादित बयान
  • सीएम उद्धव को थप्पड़ मारने को कहा था
  • महाराष्ट्र में तीन जगहों पर FIR हुई दर्ज

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) पर बयान देकर फंसे केंद्रीय मंत्री नारायण राणे (Union Minister Narayan Rane) अब आर-पार की लड़ाई के मूड में आ गए हैं. सीएम उद्धव (CM Uddhav) पर विवादित बयान देने के मामले में शिवसेना (Shiv Sena) की ओर से उनके खिलाफ केस दर्ज कराया गया है, तो वहीं इस पर नारायण राणे (Narayan Rane) ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा है कि वो किसी से डरते नहीं हैं. केंद्र में उनकी भी सरकार है.

नारायण राणे ने बीजेपी की जन आशीर्वाद यात्रा के दौरान उद्धव ठाकरे को थप्पड़ मारने की बात कही थी. राणे ने दावा किया था कि सीएम उद्धव को ये भी नहीं पता कि देश कब आजाद हुआ था. उन्होंने कहा था कि अगर उनके भाषण के वक्त मैं वहां होता तो उन्हें जोरदार थप्पड़ मारता. इस बीच जानकारी मिली है कि नासिक से पुलिस की टीम नारायण राणे को गिरफ्तार करने के लिए रवाना हो चुकी है.

शिवसेना ने दर्ज कराई FIR

इस बयान के बाद नारायण राणे के खिलाफ महाराष्ट्र के नासिक, पुणे और महाड़ में FIR दर्ज कराई गई है. वहीं, शिवसेना सांसद विनायक राउत ने कहा कि राणे अपना मानसिक संतुलन खो बैठे हैं. उन्होंने कहा, 'बीजेपी लीडरशिप को इम्प्रेस करने के लिए राणे शिवसेना और उसके नेताओं पर हमला कर रहे हैं. मोदी कैबिनेट में शामिल होने के बाद उन्होंने अपना मानसिक संतुलन खो दिया है. पीएम मोदी को उन्हें बाहर का रास्ता दिखाना चाहिए.' विनायक राउत ने पीएम मोदी (PM Modi) को पत्र लिख नारायण राणे को कैबिनेट से हटाने की मांग भी की है.

वहीं, एनसीपी नेता और राज्य सरकार में मंत्री नवाब मलिक (Nawab Malik) ने भी राणे के बयान पर प्रतिक्रिया दी है. उन्होंने कहा, 'सीएम को थप्पड़ मारने का बयान देना महाराष्ट्र का अपमान है. इस तरह की भाषा बर्दाश्त नहीं की जाएगी. बीजेपी महाराष्ट्र की राजनीति उसी तरह गंदा करने की कोशिश कर रही है, जैसी उसने बंगाल में की थी. महाराष्ट्र की जनता इसे बर्दाश्त नहीं करेगी.'

ये भी पढ़ें-- 'मैं होता तो थप्पड़ मार देता', उद्धव ठाकरे पर बयान देकर फंसे नारायण राणे, 3 FIR दर्ज

राणे बोले- हमारी भी केंद्र में सरकार है

इस पूरे मामले पर विवाद खड़ा होने के बाद मंगलवार को नारायण राणे ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की. उन्होंने कहा कि उन्हें इस बात की जानकारी नहीं है कि पुलिस उन्हें गिरफ्तार करने निकली है. राणे ने कहा, 'मैं कोई छोटा-मोटा आदमी नहीं हूं. केंद्रीय मंत्री हूं. मैं किसी के लिए भी जवाबदेह नहीं हूं. मीडिया का आदर कर रहा हूं इसलिए जवाब दे रहा हूं. मैंने कोई गुनाह नहीं किया है.'

उन्होंने कहा, 'मेरे खिलाफ आदेश निकालने वाले ये कोई राष्ट्रपति हैं क्या? मैं किसी आक्रमकता से नहीं डरता. हम उनसे दोगुनी आक्रमकता दिखा सकते हैं. मैंने इतने साल राजनीति में बिताए हैं. मुझे सारे कानून पता है. हमारी भी केंद्र में सरकार है. देखते हैं राज्य सरकार कितना छलांग लगा सकती है.'

नारायण राणे ने आगे कहा, '15 अगस्त के बारे में सीएम को नहीं पता. सचिव से पूछ रहे हैं. देश का अमृत महोत्सव सीएम को नहीं पता. ये देश का अपमान है.' उन्होंने कहा, मैं शिवसैनिकों से डरता नहीं हूं. पुलिस की तत्परता सरकारी आदेश पर है. हमारी सरकार भी ऊपर है. उन्होंने कहा, देश में जो सबके लिए कानून विकल्प हैं, वही मेरे पास भी हैं.

क्या कहा था राणे ने?

केंद्रीय मंत्री नारायण राणे (Union Minister Narayan Rane) ने जन आशीर्वाद यात्रा के दौरान दावा किया था कि मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ये भूल गए थे कि देश कब आजाद हुआ था. उन्होंने ये भी दावा किया था साल भूलने के बाद उन्होंने अपने सहयोगी से पूछा था. इस पर राणे ने कहा था, 'ये शर्मनाक है कि मुख्यमंत्री को ये नहीं पता कि हमें आजाद हुए कितने साल हो गए. अपने भाषण के दौरान उन्होंने पीछे मुड़कर अपने सहयोगी से पूछा था. अगर मैं वहां होता तो उन्हें जोरदार थप्पड़ मारता.'

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×