scorecardresearch
 

केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह बोले- पाक अधिकृत कश्मीर फिर से हासिल करना एजेंडा में शामिल

जितेंद्र सिंह ने कहा कि भारतीय उपमहाद्वीप का विभाजन मानव जाति के इतिहास में सबसे बड़ी त्रासदी थी. बड़े दुर्भाग्य की बात है कि भारत को इसका सामना करना पड़ा. जम्मू और कश्मीर को तत्कालीन राज्य के एक हिस्से को खोना पड़ा. यह काफी पीड़ादायक था.

X
केंद्रीय राज्यमंत्री जितेंद्र सिंह केंद्रीय राज्यमंत्री जितेंद्र सिंह
स्टोरी हाइलाइट्स
  • 'विभाजन मानव जाति के इतिहास में सबसे बड़ी त्रासदी'
  • भारत को इस त्रासदी का सामना करना पड़ा था

पाक अधिकृत जम्मू-कश्मीर (PoJK) के विस्थापितों को समर्पित 'मीरपुर बलिदान दिवस' कार्यक्रम में केंद्रीय राज्यमंत्री जितेंद्र सिंह ने कहा कि जिस नेतृत्व में धारा 370 को खत्म करने की क्षमता है, वह पाकिस्तान के अवैध कब्जे से पीओजेके को फिर से हासिल करने की क्षमता भी रखता है. 

जितेंद्र सिंह ने कहा कि भारतीय उपमहाद्वीप का विभाजन मानव जाति के इतिहास में सबसे बड़ी त्रासदी थी. बड़े दुर्भाग्य की बात है कि भारत को इसका सामना करना पड़ा. जम्मू-कश्मीर को तत्कालीन राज्य के एक हिस्से को खोना पड़ा. यह काफी पीड़ादायक था. 

केंद्रीय राज्यमंत्री ने कहा कि हमेशा यही माना जाता था कि अनुच्छेद 370 कभी भी खत्म नहीं किया जाएगा. लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में यह संभव हुआ. उन्होंने कहा कि अब हमारा अगला एजेंडा पाकिस्तान के कब्जे वाले जम्मू-कश्मीर (पीओजेके) को फिर से हासिल करना है.

उन्होंने कहा कि पीओजेके को फिर से हासिल करना न केवल एक राजनीतिक और राष्ट्रीय एजेंडा है, बल्कि यह मानवाधिकारों के सम्मान की जिम्मेदारी की तरह है. क्योंकि "पीओजेके में हमारे लोग अमानवीय हालात में जीवन बिता रहे हैं. उनके पास स्वास्थ्य और शिक्षा जैसी बुनियादी सुविधाएं तक नहीं हैं.
 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें