scorecardresearch
 

किताब पर बवाल पर सलमान खुर्शीद की सफाई, गुलाम नबी आजाद बोले - हिंदुत्व की जिहादी इस्लाम से तुलना गलत

अयोध्या पर लिखी किताब पर बवाल के बीच सलमान खुर्शीद (Salman khurshid) का बयान आया है. उन्होंने कहा कि क्या भारत को हिंदू-मुस्लिम एकता नहीं चाहिए?

X
सलमान खुर्शीद और गुलाम नबी आजाद सलमान खुर्शीद और गुलाम नबी आजाद
स्टोरी हाइलाइट्स
  • किताब पर बवाल के बीच सलमान खुर्शीद का बयान आया
  • कांग्रेस नेता लगातार सलमान खुर्शीद का समर्थन कर रहे हैं

हिंदुत्व की तुलना कट्टर इस्लामी आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट और बोको हरम से करने के बाद वरिष्ठ कांग्रेस नेता सलमान खुर्शीद (Salman khurshid) ने एक बड़ा विवाद खड़ा कर दिया है. बीजेपी ने इसे कांग्रेस की हिंदू विरोधी सोच और उत्तर प्रदेश चुनाव से पहले तुष्टीकरण की राजनीति का प्रयास बताया है. महाराष्ट्र में कांग्रेस के सहयोगी दल शिवसेना ने भी इस किताब (Sunrise Over Ayodhya) पर आपत्ति जताई है. वहीं कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने भी कहा कि हिंदुत्व की इस्लामी जिहाद से तुलना करना तथ्यात्मक रूप से गलत और अतिशयोक्ति है.

सलमान खुर्शीद पूर्व कानून मंत्री और पूर्व विदेश मंत्री रह चुके हैं. हर शब्द नाप तोल पर बोलते और लिखते हैं. ऐसे में अयोध्या पर किताब में हिदुत्व की तुलना ISIS और बोको हरम से क्यों की गई है? इसकी चर्चा राजनीतिक गलियारों में हो रही है.

क्या है विवाद?

सलमान खुर्शीद ने 'सनराइज ओवर अयोध्या' नाम की किताब लिखी है. इस किताब पर ही सियासी बवाल मचा हुआ है. क्योंकि सलमान खुर्शीद ने अपनी किताब में हिंदुत्व पर निशाना साधा है. सलमान खुर्शीद की किताब के पेज नंबर 113 का चैप्टर है 'सैफरन स्काई' यानी भगवा आसमान. इसमें सलमान खुर्शीद लिखते हैं-

हिंदुत्व साधु-सन्तों के सनातन और प्राचीन हिंदू धर्म को किनारे लगा रहा है, जो कि हर तरीके से ISIS और बोको हरम जैसे जिहादी इस्लामी संगठनों जैसा है.

कांग्रेस की तरफ से फिलहाल सलमान खुर्शीद की किताब पर आधिकारिक बयान नहीं आया है. इस बीच गुलाम नबी आजाद ने सलमान खुर्शीद के विचारों पर आपत्ति जताई है. उन्होंने कहा कि हिंदुत्व की राजनीतिक विचारधारा से भले वह सहमत ना हों, लेकिन हिंदुत्व की इस्लामी जिहाद से तुलना करना तथ्यात्मक रूप से गलत और अतिशयोक्ति है.

दूसरी तरफ कांग्रेस के कुछ नेता खुलकर खुर्शीद के साथ खड़े हैं. पवन खेड़ा ने कहा कि हम भी मानते हैं कि हमारे सभ्यतागत मूल्य खतरे में हैं. जिन लोगों को पद्मश्री मिला वे कहते हैं कि आजादी 2014 में मिली है. उनको अब भारत रत्न भी दिया जा सकता है.

मेरी किताब हिंदू-मुस्लिम एकता की बात करती है. अगर किसी को इससे आपत्ति है तो वे जता सकते हैं. लोग महात्मा गांधी, रामधुन और हिंदू मुस्लिम एकता पर बात क्यों नहीं कर रहा. क्यों देश को इसमें इच्छा नहीं है?'

कांग्रेस नेता सलमान खुर्शीद

सलमान खुर्शीद अयोध्या पर अपनी किताब को लेकर कानूनी दांव पेच में भी फंस गए हैं. दिल्ली के दो वकीलों ने उनके खिलाफ अदालत का दरवाजा खटखटा दिया है.

सलमान खुर्शीद की किताब राइजिंग ओवर अयोध्या फिलहाल हिंदुत्व पर विवाद की वजह से चर्चा में तो आ गई, लेकिन ये चर्चा उनकी पार्टी कांग्रेस को कितनी महंगी पड़ सकती है, इसका अंदाजा शायद सलमान खुर्शीद को भी नहीं होगा. (इनपुट - आजतक ब्यूरो)

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें