scorecardresearch
 

राहुल गांधी की जासूसी की खबर से भड़की कांग्रेस, कहा- गृहमंत्री को हटाया जाए, रविशंकर ने किया पलटवार

इजरायल के पेगासस (Pegasus) सॉफ्टवेयर के जरिए फोन टैपिंग की रिपोर्ट आने के बाद सोमवार को कांग्रेस (Congress) ने भी मोदी सरकार (Modi Government) पर हमला बोला है. कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला (Randeep Surjewala) ने कहा कि सरकार लोकतंत्र के खिलाफ है.

राहुल गांधी (फाइल फोटो-PTI) राहुल गांधी (फाइल फोटो-PTI)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • पेगासस मामले को लेकर मचा बवाल
  • कांग्रेस ने अमित शाह का इस्तीफा मांग
  • बीजेपी ने कांग्रेस के आरोपों को खारिज किया

इजरायल के पेगासस (Pegasus) सॉफ्टवेयर के जरिए फोन टैपिंग की रिपोर्ट आने के बाद बवाल मचा हुआ है. इस पूरे बवाल को लेकर सोमवार को कांग्रेस (Congress) ने भी मोदी सरकार (Modi Government) पर हमला बोला है. कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला (Randeep Surjewala) ने कहा कि सरकार सरकार ने लोकतंत्र के साथ खिलवाड़ किया है. कांग्रेस ने राहुल गांधी (Rahul Gandhi) की जासूसी करवाने को लेकर गृहमंत्री अमित शाह (Amit Shah) के इस्तीफे की मांग की है. वहीं, पूर्व आईटी मंत्री रविशंकर प्रसाद (Ravishankar Prasad) ने कांग्रेस के इन आरोपों को खारिज कर दिया है. उन्होंने फोन टैपिंग के आरोपों को देश विरोधी एजेंडा चलाने की साजिश बताया है.

कांग्रेस ने पूछा- क्या ये उग्रवाद के खिलाफ लड़ाई है?

कांग्रेस ने मोदी सरकार पर राहुल गांधी की जासूसी करवाने का आरोप लगाया. कांग्रेस ने ये भी कहा कि सिर्फ राहुल गांधी ही नहीं, बल्कि विपक्ष के दूसरे नेताओं की भी जासूसी करवाई. रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि राहुल गांधी की, उनके स्टाफ की, खुद के कैबिनेट मंत्रियों की, पत्रकारों की और एक्टिविस्टों की जासूसी करवाई गई, क्या ये उग्रवाद के खिलाफ लड़ाई है? उन्होंने ये भी कहा कि बीजेपी को अब अपना नाम बदलकर भारतीय जासूसी पार्टी रख लेना चाहिए. 

कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला और राज्यसभा सांसद मल्लिकार्जुन खड़गे और अधीर रंजन चौधरी ने जासूसी कांड सामने आने के बाद गृहमंत्री अमित शाह के इस्तीफे की मांग की है. कांग्रेस का कहना है कि गृहमंत्री को बर्खास्त किया जाना चाहिए.

कांग्रेस ने पूछे 6 सवाल...

- क्या हिंदुस्तान में मुख्य चुनाव आयुक्त, राहुल गांधी समेत विपक्ष के नेता, कैबिनेट मंत्रियों, पत्रकारों, एक्टिविस्ट की जासूसी करवाना अगर देशद्रोह नहीं और राष्ट्रीय सुरक्षा के साथ खिलवाड़ नहीं तो क्या है?
- क्या 2019 के लोकसभा चुनाव से पहले मोदी-शाह जासूस करवा रही थी?
- भारत सरकार ने इजरायली सॉफ्टवेयर कब खरीदा? इसकी अनुमति पीएम मोदी या अमित शाह ने दी? इसके लिए कितना खर्चा आया?
- 2019 से 2021 के बीच मोदीजी को जानकारी थी तो आप और गृहमंत्री शाह चुप क्यों रहे?
- देश में आंतरिक सुरक्षा के जिम्मेवार अमित शाह हैं तो क्या अमित शाह को बर्खास्त नहीं किया जाना चाहिए? 
- क्या प्रधानमंत्री की भूमिका की जांच नहीं होनी चाहिए. 

राहुल गांधी गरीब के लिए लड़ते हैं

कांग्रेस के राज्यसभा सांसद मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि इस पूरे मामले को संसद में जोरशोर से उठाया जाएगा. उन्होंने कहा, राहुल गांधी गरीबों के हक के लिए लड़ते हैं, वो न्याय और आजादी के लिए लड़ते हैं, क्या उन्होंने कुछ देश विरोधी किया? उन्होंने कहा कि गांधी परिवार ने देश के लिए योगदान दिया और ये सरकार राहुल गांधी की जासूसी करवा रही है.

बीजेपी ने कांग्रेस के आरोपों को किया खारिज

पूर्व आईटी मंत्री रविशंकर प्रसाद (Ravishankar Prasad) ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कांग्रेस के आरोपों को बीजेपी ने पूरी तरह से खारिज कर दिया है. उन्होंने कांग्रेस के आरोपों को स्तरहीन बताया है. रविशंकर प्रसाद ने कहा कि कांग्रेस का इतिहास ही जासूसी का रहा है. उन्होंने सवाल उठाया कि वायर की खबरें पहले भी झूठी साबित हो चुकी हैं. इसी तरह एम्नेस्टी इंटरनेशनल का रवैया भी हमेशा से भारत विरोधी रहा है. रविशंकर प्रसाद ने मॉनसून सत्र (Monsoon Session) से पहले इस मामले के सामने आने पर भी सवाल उठाए. 

रविशंकर प्रसाद ने कहा कि NSO ने खुद बताया है कि वो पेगासस सॉफ्टवेयर 45 देशों को देती है, तो फिर भारत को ही टारगेट क्यों किया जा रहा है? उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी (PM Modi) की अगुवाई में जो भारत ने दुनिया में अपनी साख बनाई है, उससे लोग परेशान हैं. इसलिए ऐसे आरोप लगाए जा रहे हैं. 

उन्होंने कहा कि मॉनसून सत्र के समय सदन को बाधित करने और देश में बेबुनिया एजेंडा खड़ा करने की कोशिश है और इसका कारण ये है कि कांग्रेस सिमट रही है. उन्होंने कहा कि इस मामले पर कांग्रेस बहस से क्यों भाग रही है. संसद में बहस करें. दूध का दूध पानी का पानी हो जाएगा. हर चीज में जेपीसी की मांग करते हैं, कुछ आधार भी तो होना चाहिए.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें