scorecardresearch
 

सपा सांसद रवि प्रकाश वर्मा बोले- ट्रंप भारत में जहां-जहां गए, वहीं फैला कोरोना

सपा सांसद ने कहा कि भारत में आने से पहले दुनिया के कई देशों में महामारी फैल चुकी थी. अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को खुश करने के लिए एयरपोर्ट्स को बंद नहीं किया गया.

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (फाइल फोटो) अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • राज्यसभा में कोरोना संकट पर चर्चा
  • सपा सांसद रवि प्रकाश वर्मा ने रखी बात
  • बाहर से आई कोरोना महामारी: रवि प्रकाश वर्मा

समाजवादी पार्टी के सांसद रवि प्रकाश वर्मा ने भारत में कोरोना महामारी के फैलने का कारण अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के दौरे को बताया है. राज्यसभा में कोरोना पर चर्चा के दौरान सपा सांसद ने कहा कि अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को खुश करने के लिए एयरपोर्ट्स को बंद नहीं किया गया था. राष्ट्रपति ट्रंप के साथ काफी संख्या में लोग आए थे. सांसद ने कहा कि डोनाल्ड ट्रंप अहमदाबाद, आगरा और दिल्ली गए. और हमने देखा है कि जहां-जहां वो गए वहीं पर ये बीमारी सबसे ज्यादा फैली.

सांसद रवि प्रकाश वर्मा ने कहा कि कोरोना ने देश में अजीब परिस्थिति पैदा कर दी है. लॉकडाउन और सरकार की ओर से पर्याप्त इंतजाम नहीं करने के कारण ज्यादा दिक्कतें पैदा हुईं. सपा सांसद ने कहा कि भारत में आने से पहले दुनिया के कई देशों में ये महामारी फैल चुकी थी. अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को खुश करने के लिए एयरपोर्ट्स को बंद नहीं किया गया. ये बीमारी बाहर से आई है.

सपा सांसद ने कहा कि ट्रंप के साथ काफी संख्या में लोग आए थे. अमेरिकी राष्ट्रपति अहमदाबाद, आगरा और दिल्ली गए. और हमने देखा है कि जहां-जहां वो गए वहीं पर ये बीमारी सबसे ज्यादा फैली. और इसके बाद सबसे बड़ा नुकसान तो तब हुआ जब सरकार ने बिना समय दिए लॉकडाउन का ऐलान कर दिया. 

सांसद ने कहा कि सरकार ने आदेश दिया कि कोई भी मकान मालिक मजदूरों से किराया नहीं लेगा. ये कौन सी बात थी. सरकार को क्या हक है ये कहने का. इसका असर ये हुआ कि जो मजदूर फैक्ट्रियों में काम कर रहे थे वो निकाल दिए गए.

रवि प्रकाश वर्मा ने कहा कि लॉकडाउन के दौरान लाखों लोग पैदल अपने घरों के लिए निकले. मुझे दुख हुआ ये देखकर. कई महिलाओं ने तो रास्ते में ही बच्चों को जन्म दिया. इस देश के संवेदनशीलता को क्या हो गया है.

सपा सांसद ने कहा कि मैं आजकल कवि सम्मेलन भी देख रहा हूं, लेकिन किसी भी कवि सम्मेलन में इन दुखी लोगों की दिक्कतों का जिक्र तक नहीं किया गया. मेरे देश को क्या हो गया है. 


 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें