scorecardresearch
 

जया बच्चन के श्राप के बाद शिवसेना सांसद संजय राउत ने बीजेपी को घेरा, 'ये दिल्ली है, यहां कोई नहीं टिकता'

सोमवार को जब से सदन में सपा नेता और सांसद जया बच्चन ने बीजेपी को सीधी चुनौती दी है, इसी मुद्दे पर राजनीति गरमा गई है. शिवसेना नेता संजय राउत ने मोदी सरकार को आईना दिखाते हुए कहा है कि बहुत लोग आए और चले गए हैं, यहां पर कोई टिकता नहीं है.

X
संजय राउत की बीजेपी को चुनौती संजय राउत की बीजेपी को चुनौती
स्टोरी हाइलाइट्स
  • संजय राउत ने दी बीजेपी को सीधी चुनौती
  • बोले- ये दिल्ली है, यहां कोई टिकता नहीं है

सोमवार को जब से सदन में सपा नेता और सांसद जया बच्चन ने बीजेपी को सीधी चुनौती दी है, इसी मुद्दे पर राजनीति गरमा गई है. शिवसेना नेता संजय राउत ने मोदी सरकार को आईना दिखाते हुए कहा है कि बहुत लोग आए और चले गए, यहां पर कोई टिकता नहीं है. 

बता दें कि जया बच्चन ने राज्यसभा के अंदर केंद्र सरकार को श्राप देने की बात कही थी.

संजय राउत की बीजेपी को सीधी चुनौती

आजतक से बात करते हुए संजय राउत ने कहा कि ये जो ऐतिहासिक बिल्डिंग आप देख रहे हो ना, ये लोकतंत्र का मंदिर है, इस मंदिर में बीजेपी को श्राप मिला है. अब ये लोग इस बिल्डिंग में वापस नहीं आ पाएंगे. जिस तरह से आप हमारी और देश की आवाज कुचल रहे हो, हमे बोलने नहीं दे रहे हो, याद रखो बहुत लोग आए और चले गए - ये दिल्ली है … यहां कोई टिका नहीं है, ना आप टिकोगे ना हम. अब संजय राउत ने ये हमला बीजेपी पर जया बच्चन के बयान के बाद किया है.

जया बच्चन ने क्या बोला था?

सोमवार को सदन में बहस के दौरान जया बच्चन ने कहा था कि हमारे पास इतने बड़े-बड़े मुद्दे हैं चर्चा करने के लिए, लेकिन हमने यहां 3-4 घंटे दिए हैं, सिर्फ क्लैरिकल एरर पर डिस्कस करने के लिए. हो क्या रहा है?? यह शर्मनाक है. उन्होंने बाकी सांसदों से कहा कि आप किसके आगे बीन बजा रहे हैं?' उन्होंने आगे कहा - देखिए, आपके बुरे दिन बहुत जल्द आने वाले हैं. अगर आपका रवैया इसी तरह चलता रहा, तो आपके बुरे दिन बहुत जल्द आएंगे.' 

यूपी चुनाव पर बड़ा बयान

अब इस बयान पर तो राजनीति हुई ही, आज जया बच्चन ने फिर बीजेपी को घेरने का काम किया. उन्होंने जोर देकर कहा कि बीजेपी यूपी से डर रही है, उन्हें पता है कि वे ये चुनाव हारने वाले हैं. उन्होंने पीएम की लाल टोपी वाले बयान पर भी तंज कसा. जया के मुताबिक ये लाल टोपी ही इन लोगों को कठघरे में खड़ा करेगी. उनकी माने तो वर्तमान सरकार न्याय और निष्पक्षता में कोई विश्वास नहीं रखती है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें