scorecardresearch
 

संविधान दिवस कार्यक्रम से कांग्रेस समेत कई विपक्षी दलों का किनारा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संविधान दिवस को लेकर ट्वीट किया. उन्‍होंने अपने ट्वीट में लिखा कि 26 नवंबर को संविधान दिवस है. ये दिन उन लोगों को याद करने के लिए है, जिनके असाधारण प्रयासों के बदौलत हमारे संविधान का निर्माण हुआ.

भारतीय संविधान भारतीय संविधान
स्टोरी हाइलाइट्स
  • संविधान दिवस पर विपक्ष हुआ लामबंद
  • सेंट्रल हॉल के कार्यक्रम में नहीं होंगे शामिल

Samvidhan Diwas 2021: संसद के सेंट्रल हॉल में शुक्रवार को संविधान दिवस का कार्यक्रम होगा. हालांकि, कांग्रेस समेत तमाम विपक्षी पार्टियों ने इसका बायकॉट करने का ऐलान किया है. 

कांग्रेस ने कहा कि बीजेपी संविधान का पालन नहीं कर रही है, इस कारण उन्‍होंने इस कार्यक्रम से दूर रहने का फैसला किया है. कुल मिलाकर विपक्ष  इस कार्यक्रम में हिस्‍सा न लेकर मोदी सरकार के खिलाफ विरोध करेगा.

कांग्रेस से जुड़े लोगों ने कहा कि वे (भाजपा) पूरे साल संविधान का अपमान करते हैं. और एक दिन संविधान दिवस के रूप में उत्‍सव मनाते हैं. कांग्रेस संविधान दिवस कार्यक्रम में शामिल नहीं होगी, वहीं विपक्ष से जुड़ी तमाम पार्टियां भी इस कार्यक्रम में हिस्‍सा नहीं लेंगी. इनमें तृणमूल कांग्रेस ( TMC) , राष्‍ट्रीय जनता दल (RJD), DMK, CPI(M), CPI शामिल हैं. 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संविधान दिवस को लेकर ट्वीट किया. उन्‍होंने अपने ट्वीट में लिखा कि 26 नवंबर को संविधान दिवस है. ये दिन उन लोगों को याद करने के लिए है, जिनके असाधारण प्रयासों के बदौलत हमारे संविधान का निर्माण हुआ.

पीएम मोदी ने अपने ट्वीट में आगे लिखा, " मैं दो कार्यक्रमों में हिस्‍सा में लूंगा, पहला कार्यक्रम सेंट्रल हॉल में 11 बजे होगा. वहीं दूसरा कार्यक्रम शाम साढ़े पांच बजे विज्ञान भवन में होगा.'

वहीं प्रकाश जावड़ेकर ने भी संविधान दिवस को लेकर ट्वीट किया. जिसमें उन्‍होंने कहा कि लोग ऑनलाइन संविधान पढ़ सकते हैं. 

लोग अपनी भाषा में पढ़ सकते हैं संविधान 

हहलोग संविधान को अपनी भाषा में पढ़ सकते हैं, इसके लिए उन्‍हें  http://readpreamble.nic.in. वेबसाइट पर जाना होगा. जहां वह 26 नवंबर की अर्द्धरात्रि से इस पर क्लिक कर इसे पढ़ सकते हैं. 


 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×