scorecardresearch
 

कृषि बिल पर राहुल-प्रियंका का सरकार पर वार, कहा- किसानों को गुलाम बनाएगा नया कानून

किसानों की ओर से बुलाए गए भारत बंद को कांग्रेस का समर्थन है. इस बीच, पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और महासचिव प्रियंका गांधी ने मोदी सरकार पर निशाना साधा है. कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने कहा कि नया कृषि कानून किसानों को गुलाम बनाएगा. 

प्रियंका गांधी और राहुल गांधी (फोटो- PTI) प्रियंका गांधी और राहुल गांधी (फोटो- PTI)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • कृषि बिल का विरोध कर रहे हैं किसान
  • किसानों को मिला कई विपक्षी दलों का साथ
  • कांग्रेस ने मोदी सरकार पर साधा निशाना

कृषि बिल के खिलाफ देश के कई हिस्सों में किसान प्रदर्शन कर रहे हैं. देश की प्रमुख विपक्षी पार्टी कांग्रेस किसानों के साथ खड़ी है. किसानों की ओर से बुलाए गए भारत बंद को कांग्रेस का समर्थन है. इस बीच, पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और महासचिव प्रियंका गांधी ने मोदी सरकार पर निशाना साधा है. कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने कहा कि नया कृषि कानून किसानों को गुलाम बनाएगा. 

राहुल गांधी ने ट्वीट किया कि पहले जीएसटी ने MSME को नष्ट किया और अब नया कृषि कानून किसानों को गुलाम बनाएगा. वहीं, प्रियंका गांधी ने कहा कि किसानों से MSP छीन ली जाएगी. उन्हें कांट्रैक्ट फार्मिंग के जरिए खरबपतियों का गुलाम बनने पर मजबूर किया जाएगा. कांग्रेस नेता ने ट्वीट किया कि किसानों को न दाम मिलेगा, न सम्मान. किसान अपने ही खेत पर मजदूर बन जाएगा. बीजेपी का कृषि बिल ईस्ट इंडिया कंपनी राज की याद दिलाता है. हम ये अन्याय नहीं होने देंगे. 

कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि पेट में अंगारे और मन में तूफान लिए देश का अन्नदाता किसान भारत बंद करने को मजबूर है. अहंकारी मोदी सरकार को न उसके मन की व्यथा दिखती न उसकी आत्मा की पीड़ा महसूस होती. 

पंजाब के सीएम ने क्या कहा

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि किसान हमारे समाज की रीढ़ हैं और हाल ही में केंद्र सरकार द्वारा पारित किसान बिल गलत दिशा में एक कदम है. यह समय सच्चाई के साथ खड़े होने का है. 

तेजस्वी ने भी साधा निशाना

आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने कृषि बिल के खिलाफ ट्रैक्टर रैली निकाली है. इस दौरान तेजस्वी ने कहा कि सरकार ने हमारे 'अन्नदाता' को 'निधि दाता' के माध्यम से कठपुतली बना दिया है. कृषि बिल किसान विरोधी है. सरकार ने कहा था कि वे 2022 तक किसानों की आय को दोगुना करेंगे, लेकिन ये बिल उन्हें और गरीब बना देगा. कृषि क्षेत्र का कॉर्पोरेटकरण किया गया है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें