scorecardresearch
 

गाजीपुर बॉर्डर बवाल पर राहुल का ट्वीट, यह एक साइड चुनने का वक्त, मैं किसानों के साथ

प्रियंका गांधी ने लिखा कि कल आधी रात में लाठी से किसान आंदोलन को खत्म करने की कोशिश की. आज गाजीपुर, सिंघु बॉर्डर पर किसानों को धमकाया जा रहा है. यह लोकतंत्र के हर नियम के विपरीत है.

X
प्रियंका गांधी (फाइल फोटो- PTI) प्रियंका गांधी (फाइल फोटो- PTI)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • गाजीपुर बॉर्डर पर प्रदर्शनकारियों को हटाने में जुटा प्रशासन
  • दिल्ली हिंसा के बाद कमजोर पड़ा किसानों का आंदोलन
  • सरकार के एक्शन पर प्रियंका और राहुल गांधी ने किया ट्वीट

किसान आंदोलन को लेकर देश में जारी ताजा घटनाक्रम पर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने ट्वीट किया है. उन्होंने केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि गाजीपुर और सिंघु बॉर्डर पर किसानों को धमकाया जा रहा है. जो किसानों के आंदोलन को तोड़ना चाहते हैं वे देशद्रोही हैं. 

प्रियंका गांधी ने लिखा कि कल आधी रात में लाठी से किसान आंदोलन को खत्म करने की कोशिश की. आज गाजीपुर, सिंघु बॉर्डर पर किसानों को धमकाया जा रहा है. यह लोकतंत्र के हर नियम के विपरीत है. प्रियंका गांधी ने आगे लिखा कि कांग्रेस किसानों के साथ इस संघर्ष में खड़ी रहेगी. किसान देश का हित हैं. जो उन्हें तोड़ना चाहते हैं- वे देशद्रोही हैं. उन्होंने लिखा कि हिंसक तत्वों पर सख्त कार्रवाई की जाए, लेकिन जो किसान शांति से महीनो से संघर्ष कर रहे हैं, उनके साथ देश की जनता की पूरी शक्ति खड़ी है. 

देखें: आजतक LIVE TV

प्रियंका गांधी के अलावा उनके भाई और कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी किसानों के मुद्दे पर ट्वीट किया है. उन्होंने लिखा कि ये एक साइड चुनने का समय है. मेरा फैसला साफ है. मैं लोकतंत्र के साथ हूं, मैं किसानों और उनके शांतिपूर्ण आंदोलन के साथ हूं. 

अजित सिंह की भी एंट्री

वहीं, प्रशासन के निशाने पर आए  किसान नेता राकेश टिकैत को RLD का साथ मिला है. RLD नेता अजित सिंह ने राकेश टिकैत से बात की है और कहा कि आप चिंता मत करिए, सब आपके साथ हैं. अजित सिंह और राकेश टिकैत की बातचीत की जानकारी अजित सिंह के बेटे जयंत चौधरी ने दी है. उन्होंने कहा कि चौधरी अजित सिंह ने BKU के अध्यक्ष और प्रवक्ता, नरेश टिकैत और राकेश टिकैत से बात की है. अजित सिंह ने संदेश दिया है कि चिंता मत करिए, किसान के लिए जीवन मरण का प्रश्न है. सबको एक होना है, साथ रहना है.

आपको बता दें कि गाजीपुर बॉर्डर पर जारी किसानों के आंदोलन पर कार्रवाई की तैयारी है. भारी संख्या में यहां पर पुलिसबल की तैनाती है. गाजीपुर बॉर्डर पर धारा 144 लगा दी गई है. प्रदर्शनकारियों को ले जाने के लिए बसें लाई गईं हैं. RAF की तैनाती है. वज्र वाहन भी लाए गए हैं. वहीं, किसान नेता राकेश टिकैत अनशन पर बैठ गए हैं. उन्होंने आत्महत्या की भी धमकी दी है. राकेश टिकैत ने कहा कि अगर कृषि कानून वापस नहीं होते हैं तो मैं आत्महत्या कर लूंगा. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें