scorecardresearch
 

संसद तक पहुंचा चीनी जासूसी का मसला, कांग्रेस ने लोकसभा में दिया स्थगन प्रस्ताव

कांग्रेस पार्टी की ओर से लोकसभा में चीनी जासूसी के मसले पर स्थगन प्रस्ताव दिया गया है. एक रिपोर्ट में चीनी कंपनी के द्वारा भारत के नेताओं, बिजनेसमैन, जजों की जासूसी किए जाने की बात सामने आई है.

संसद में उठेगा चीनी जासूसी का मसला संसद में उठेगा चीनी जासूसी का मसला
स्टोरी हाइलाइट्स
  • चीनी जासूसी के मसले पर कांग्रेस का स्थगन प्रस्ताव
  • सांसद एम. टैगोर ने की लोकसभा में चर्चा की मांग

चीन के साथ सीमा पर विवाद जारी है और इस बीच जासूसी का मामला भी सामने आया है. एक रिपोर्ट में दावा किया गया है कि चीन ने भारत के करीब दस हजार लोगों का डिजिटल डाटा इकट्ठा किया है, जिसमें भारत के प्रधानमंत्री, राष्ट्रपति समेत कई बड़ी हस्तियां शामिल हैं. अब मंगलवार को ये मामला लोकसभा में उठ सकता है. कांग्रेस पार्टी की ओर से इस मसले पर स्थगन प्रस्ताव दिया गया है. 

कांग्रेस के लोकसभा सांसद एम. टैगौर ने स्थगन प्रस्ताव दिया है कि चीनी जासूसी का जो मामला सामने आया है, वह गंभीर है. ऐसे में सदन में इसपर चर्चा की जानी चाहिए.

आपको बता दें कि इससे पहले सोमवार को भी कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने इस मसले को उठाने की कोशिश की थी, लेकिन विरोध के कारण उठा नहीं पाए थे. अब कांग्रेस की ओर से स्थगन प्रस्ताव दिया गया है. 

एक अंग्रेजी अखबार ने अपनी रिपोर्ट में दावा किया है कि चीनी कंपनी भारत के बड़े लोगों का डिजिटल डाटा इकट्ठा कर रही है, जिसमें उनकी हर हरकत पर नज़र रखी जा रही है. इसमें करीब पंद्रह सौ नेता-अधिकारी-पूर्व जज शामिल हैं, जबकि मंगलवार को किए खुलासे में एक हजार से अधिक बिजनेसमैन पर निगरानी की जाने की बात सामने आई है.

गौरतलब है कि मंगलवार को ही रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह को लोकसभा में चीन के मसले पर जवाब देना है. राजनाथ सिंह लद्दाख सीमा में बीते लंबे वक्त से जारी तनाव के मुद्दे पर अपना बयान देंगे और सदन को मौजूदा स्थिति से अवगत कराएंगे. कांग्रेस की ओर से लगातार सरकार से स्थिति स्पष्ट किए जाने की मांग की जा रही थी. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें