scorecardresearch
 

मुकुल के TMC जाने पर बोले दिलीप घोष- 'इन सबका वक्त नहीं, हमें कार्यकर्ता पर हो रहे हमले की चिंता'

मुकुल के वापस टीएमसी में जाने पर जब बंगाल बीजेपी के अध्यक्ष दिलीप घोष से प्रतिक्रिया मांगी गई तो उन्होंने कहा कि हमारे पास इस सबके लिए वक्त नहीं है. हमारे हजारों कार्यकर्ता पर हमला हो रहा है. कई बेघर हो चुके हैं. हमें उसकी चिंता है.

बंगाल बीजेपी के नेता दिलीप घोष. (फाइल फोटो) बंगाल बीजेपी के नेता दिलीप घोष. (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • बीजेपी छोड़ टीएमसी में शामिल हुए मुकुल रॉय
  • मुकुल से जुड़े फैसले केंद्रीय नेतृत्व ने लिए थे- घोष

पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनावों में मिली हार के बाद बीजेपी को एक और झटका लगा है. टीएमसी से बीजेपी में आए मुकुल रॉय वापस टीएमसी में चले गए हैं. शुक्रवार को मुकुल ने ममता की मौजूदगी में टीएमसी का दामन थाम लिया. मुकुल के वापस टीएमसी में जाने पर जब बंगाल बीजेपी के अध्यक्ष दिलीप घोष से प्रतिक्रिया मांगी गई तो उन्होंने कहा कि हमारे पास इस सबके लिए वक्त नहीं है. हमारे हजारों कार्यकर्ता पर हमला हो रहा है. कई बेघर हो चुके हैं. हमें उसकी चिंता है.

आजतक बांग्ला से बातचीत में दिलीप घोष ने कहा कि किसने पार्टी छोड़ी है इसे लेकर मुझे कुछ नहीं कहना है. मैं बस इतना कहना चाहता हूं कि हमारे पास इन सब चीजों के लिए वक्त नहीं है. जो गया वो गया. हमारा लक्ष्य बेघर और सताए हुए पार्टी कार्यकर्ताओं की मदद  करना है. मुकुल रॉय को लेकर सारे निर्णय केंद्रीय नेतृत्व की तरफ से लिए गए थे. ऑल इंडिया वाइस प्रेसिंडेंट बनाने का फैसला भी केंद्रीय नेतृत्व का ही था तो मुकुल रॉय के बारे में जो कुछ भी कहेगा केंद्रीय नेतृत्व कहेगा, मेरे पास कहने के लिए कुछ नहीं है. दिलीप घोष भले ही इस सवाल पर गेंद केंद्रीय नेतृत्व के पाले में डाल रहे हैं लेकिन केंद्रीय नेतृत्व ने भी अबतक मुकुल रॉय के जाने को लेकर कोई बयान नहीं दिया है. जब रविशंकर प्रसाद से इस बारे में सवाल किया गया तो उन्होंने कहा कि वह इसपर टिप्पणी करना नहीं चाहते हैं.

बता दें कि लगभग साढ़े तीन साल पहले टीएमसी को अलविदा कह बीजेपी में जाने वाले मुकुल रॉय की एक बार फिर से टीएमसी में वापसी हो गई है. टीएमसी में आने के बाद मुकुल रॉय ने कहा कि राष्ट्रीय पटल पर ममता बनर्जी एक अच्छी भूमिका निभा रही हैं. बंगाल फिर से अपनी ऊचाइंयों को छुएगा. ममता सामने से इस मोर्चे का नेतृत्व करेंगी. मैं यहां आकर खुश हूं.

इसपर भी क्लिक करें- कमल के फूल से फिर तृणमूल... मुकुल रॉय के BJP से TMC में लौटने के मायने
 
मुकुल के बेटे शुभ्रांशु रॉय ने भी बीजेपी छोड़ टीएमसी में वापसी की. उन्होंने कहा कि लंबे समय तक कोई बीजेपी में नहीं रह सकता है. उन्होंने कहा कि वह प्रेस रिलीज जारी कर कारण बताएंगे कि उन्होंने बीजेपी क्यों छोड़ी. ममता बनर्जी ने मुकुल की वापसी पर कहा कि मुकुल घर का लड़का है. उसकी वापसी हुई है. मेरा मुकुल के साथ कोई मतभेद नहीं है. सीएम ममता ने कहा कि जिन्होंने टीएमसी के साथ गद्दारी की है, उनको पार्टी में नहीं लेंगे. बाकी लोग पार्टी में आ सकते हैं.

गौरतलब है कि पिछले दिनों कोलकाता में हुई बीजेपी की मीटिंग में मुकुल रॉय नहीं पहुंचे थे. इसके अलावा ममता बनर्जी के भतीजे अभिषेक बनर्जी मुकुल रॉय की पत्नी को देखने के लिए अस्पताल पहुंचे थे.  इन दो घटनाओं के बाद से कयास लग रहे थे कि मुकुल रॉय बीजेपी छोड़ सकते हैं. मुकुल रॉय टीएमसी छोड़ने वाले सबसे पहले नेता थे.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें