scorecardresearch
 

'भारत के खिलाफ अपनी जमीन का इस्तेमाल नहीं होने देंगे', Taliban के बदल गए सुर!

'भारत के खिलाफ अपनी जमीन का इस्तेमाल नहीं होने देंगे', Taliban के बदल गए सुर!

क्या तालिबान बदल गया है? क्या तालिबान से दुनिया को डरने की जरुरत नहीं है. काबुल में काबिज होने के बाद तालिबान ने कल पहली प्रेस कांफ्रेंस की और दुनिया को यकीन दिलाने की कोशिश की कि किसी को खौफ खाने की जरुरत नहीं है. महिलाओं का सम्मान किया जाएगा. सरकार अफसरों को नहीं सताया जाएगा लेकिन प्रेस कांफ्रेंस के बाद काबुल से जो तस्वीरें आईं वो तालिबान के दावे की धज्जियां उड़ा रही हैं. मुजाहिद ये यकीन दिलाने की भरसक कोशिश की कि अनुभव के आधार तालिबान की विचारधारा में बदलाव आया है. ऐसी सरकार बनाने की कोशिश की जा रही है कि जिसमें सभी पक्ष शामिल हों. तालिबान से किसी भी देश को कोई खतरा नहीं. सभी दूतावास सुरक्षित रहेंगे. साथ ही तालिबान ने कहा है कि भारत के खिलाफ अपनी जमीन का इस्तेमाल नहीं होने देंगे. देखें ये वीडियो.

Has the Taliban changed? Doesn't the world need to fear the Taliban? The Taliban held its first press conference yesterday since the Kabul seizure, the Taliban vowed to protect women's rights within the limits of Islamic law. Addressing the press conference from inside the Presidential Palace in Kabul, Taliban spokesperson Zabihullah Mujahid asserted that the rights of women will be protected within the limits of Islamic law. He said they wished for peaceful relations with other countries, adding they don't want any internal or external enemies. We want to assure our neighboring countries that our land will not be misused against them. The international community should also recognize us. Watch this video.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें