scorecardresearch
 

गुजरातः बहन की कब्र पर घंटों बैठा रहता है बिल्ला, वीडियो वायरल

मुन्नावर का परिवार अब लियो की अतिरिक्त देखभाल कर रहा है ताकि वह सदमे से उबर सके. कब्र के पास चुपचाप बैठकर अपनी बहन की मौत पर शोक जताते हुए लियो का वीडियो वायरल हो गया है.

बहन की कब्र के पास बैठा बिल्ला लियो बहन की कब्र के पास बैठा बिल्ला लियो
स्टोरी हाइलाइट्स
  • 23 सितंबर को कोको की बीमारी से हो गई थी मौत
  • लियो की बहन कोको को घर के पीछे ही दफना दिया

गुजरात के वलसाड शहर में रहने वाले रेल कर्मचारी मुन्नावर शेख और उनका परिवार अपने पालतू जानवर के व्यवहार से हैरान है. उनका पालतू बिल्ला अपनी बहन की मौत के बाद उसके कब्र के पास घंटों बैठा रहता है और इसे देखकर लोग भी हैरान हैं. 

तस्वीर में एक कब्र के बगल में बैठा बिल्ली का बच्चा इन दिनों चर्चा का विषय बना हुआ है. दरअसल, ये एक फारसी बिल्ली का बच्चा है और इसका नाम लियो है. गत 23 सितंबर को लियो की बहन कोको की बीमारी के चलते मौत हो गई थी. लेकिन, लियो इस बात से अंजान था.

हालांकि लियो को अंदेशा हो गया कि उसकी बहन कोको के साथ कुछ अप्रिय घटित हो गया है और कुछ समय बाद वो उसे तलाशते हुए उसके शव के पास पहुंच गया और फिर वहीं कब्र के पास घंटों बैठा रहा. लियो को इस बात का एहसास हो गया कि कोको अब इस दुनिया में नहीं है और इसी कब्र में दफन है.

मुन्नावर का परिवार अब लियो की अतिरिक्त देखभाल कर रहा है ताकि वह सदमे से उबर सके. कब्र के पास चुपचाप बैठकर अपनी बहन की मौत पर शोक जताते लियो का वीडियो वायरल हो गया है. मुन्नावर के बेटे फैसल की मानें तो चार साल पहले भाई-बहन गुड़िया के चेहरे वाली फारसी बिल्ली किस्म के बिल्ली के बच्चों को दोस्त से उपहार के रूप में प्राप्त किया था.

इसे भी क्लिक करें --- पटाखों पर SC की टिप्पणी- रोजगार की आड़ में मासूमों के जीन के अधिकार का उल्लंघन नहीं कर सकते

लियो के पास सफेद चमकदार फर है जबकि कोको काली थी. फैसल बताते हैं कि करीब ढाई साल पहले शेख आवास के बाहर खेलते हुए कोको लापता हो गई थी. परिवार को डर था कि कहीं चोरी तो नहीं हो गई. हैरानी की बात यह है कि करीब छह महीने पहले उन्हें सूचना मिली थी कि वलसाड में कोको के पास एक और परिवार है.

कोको को उस परिवार से वापस लाने के लिए शेख को पुलिस की मदद लेनी पड़ी. उस समय तक कोको कुछ गंभीर स्वास्थ्य समस्याओं से ग्रसित हो चुकी थी. दो साल के अंतराल के बाद भी दोनों भाई-बहनों ने तुरंत एक-दूसरे को पहचान लिया. वे आपस में खूब खेलते थे. लेकिन, कुछ समय बाद कोको की तबीयत बिगड़ने लगी.

शेख परिवार उसका इलाज करवाने के लिए जानवरों के अस्पताल ले गए. लेकिन बीमारी के चलते उसकी मृत्यु हो गई. इसके बाद परिवार ने कोको को घर के पीछे परिसर में दफना दिया. कुछ लोग उत्सुकतावश यह देखने के लिए शेख के घर भी गए और अब इसका वीडियो वायरल हो रहा है.
 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×