scorecardresearch
 

तमिलनाडु: कोरोना में अनाथ हुए बच्चों के लिए स्पेशल पैकेज, 5 लाख फिक्स करेगी सरकार

तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एमके स्टालिन ने कहा कि ऐसे बच्चे जब वयस्क होंगे यानी कि जब उनकी उम्र 18 साल की हो जाएगी तब वे मुआवजे के पांच लाख रुपए के साथ साथ उस पर मिलने वाला ब्याज भी हासिल कर सकेंगे.

सांकेतिक तस्वीर सांकेतिक तस्वीर
स्टोरी हाइलाइट्स
  • सीएम स्टालिन ने की स्पेशल पैकेज की घोषणा
  • अनाथ बच्चों के लिए राज्य सरकार जमा करेगी 5 लाख रुपये

Tamilnadu Government Latest News: देश में कोरोना संक्रमण की गति थमती हुई नजर आ रही है. कोरोना की दूसरी लहर में अनेक लोगों ने अपने प्रियजनों को खो दिया. कई परिवार उजड़ गए. ऐसे में तमिल नाडु के मुख्यमंत्री एम. के. स्टालिन ने वरिष्ठ के साथ बैठक कर कोरोना संकट में अनाथ हुए बच्चों के बारे में चिंता व्यक्त की. सीएम ने इस दौरान निर्णय लेते हुए कहा कि कोरोना काल में जिन बच्चों ने अपने माता-पिता को खो दिया है, राज्य सरकार ऐसे बच्चों के लिए 5 लाख रुपए जमा करेगी. 

उन्होंने कहा कि ऐसे बच्चे जब वयस्क होंगे यानी कि जब उनकी उम्र 18 साल की हो जाएगी तब वे मुआवजे के पांच लाख रुपए के साथ साथ उस पर मिलने वाला ब्याज भी हासिल कर सकेंगे. सीएम ने कहा कि कोरोना काल में अनाथ हुए बच्चों को सरकारी बाल गृह में जगह मिले इसकी भी प्राथमिकता रहेगी. 

सीएम ने कहा कि ऐसे सभी बच्चों की स्कूल और कॉलेज की फीस का वहन भी सरकार करेगी. उन्होंने आगे कहा कि जिन परिवारों ने माता-पिता में से एक को खो दिया है, और उनका बच्चा भी है, ऐसे परिवार को मुआवजे के तौर पर 3 लाख रुपए दिए जाएंगे. 

वहीं उन्होंने आगे जानकारी देते हुए बताया कि ऐसे बच्चे जो सरकारी बाल गृह में ना रहकर परिवार के किसी सदस्य के साथ रहना चाहते हैं, उनके अभिभावक को तीन हजार रुपए मासिक भरण-पोषण भत्ते के रूप में दिए जाएंगे.

जानकारी के मुताबिक प्रत्येक जिलों में बच्चों के लिए फंड वितरण और बच्चों के विकास की निगरानी के लिए एक विशेष टीम का गठन किया जाएगा. 
 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें