scorecardresearch
 

सऊदी अरब ने नक्शे में जम्मू-कश्मीर को दिखाया अलग हिस्सा, भारत ने जताया विरोध

जी-20 बैठक को लेकर सऊदी अरब ने नया नोट जारी किया है, जिसमें दुनिया का नक्शा शामिल किया गया है. इसी नक्शे में जम्मू कश्मीर को अलग हिस्सा दिखाया गया है.

भारतीय विदेश मंत्रालय ने सऊदी अरब के सामने उठाया मुद्दा भारतीय विदेश मंत्रालय ने सऊदी अरब के सामने उठाया मुद्दा
स्टोरी हाइलाइट्स
  • सऊदी अरब ने जम्मू-कश्मीर पर गलत नक्शा दिखाया
  • नोट पर छपे नक्शे में जम्मू-कश्मीर को भारत से अलग दिखाया

सऊदी अरब द्वारा हाल ही में जारी किए गए एक ग्लोबल नक्शे में जम्मू-कश्मीर और लद्दाख को भारत से अलग दिखाया गया है. जिसपर अब भारत की ओर से आधिकारिक आपत्ति जताई गई है और इसे ठीक करने को कहा गया है. सऊदी अरब ने हाल ही में 20 रियाल का एक नया नोट जारी किया है, जिसमें जम्मू-कश्मीर और लद्दाख को अलग ही क्षेत्र दिखाया गया है. 

सऊदी अरब की अगुवाई में हाल ही में जी-20 की बैठक होनी है, उसी मौके पर सऊदी ने एक नोट जारी किया है. जिसमें किंग सलमान की तस्वीर, जी-20 सऊदी समिट का लोगो और जी-20 देशों का नक्शा दिखाया गया है. 

देखें: आजतक LIVE TV

इसी नक्शे में जम्मू और कश्मीर, जिसमें पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर भी शामिल है उसे एक अलग हिस्सा दिखाया गया है. यानी उसे ना भारत और ना ही पाकिस्तान का हिस्सा दर्शाया गया है. 

सऊदी अरब के इस फैसले से पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर के एक्टिविस्ट अमजद अयूब मिर्जा ने खुशी जताई. उन्होंने PoK और गिलगिट-बाल्टिस्तान को पाकिस्तान से अलग करने पर सऊदी की तारीफ की. 

सूत्रों की मानें, तो भारत ने जब इस नक्शे को देखा तो इसमें गड़बड़ी पाई. इस बारे में नई दिल्ली स्थित सऊदी अरब एम्बेसी और रियाद में मौजूद भारतीय एम्बेसी में इस मसले को उठाया गया. हालांकि, अभी सऊदी की ओर से इस मसले पर जवाब आना बाकी है. 

बता दें कि भारत जी-20 देशों का हिस्सा है, लेकिन पाकिस्तान नहीं है. ये समिट 21-22 नवंबर को होनी है, ऐसे में सऊदी अरब के सामने नोट पर छपे नक्शे को बदलने का दबाव रहेगा. पिछले कुछ वक्त में भारत और सऊदी अरब की दोस्ती मजबूत हुई है, ऐसे में सऊदी भारत से अपने रिश्ते नहीं बिगाड़ना चाहेगा. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें