scorecardresearch
 

Exclusive: छात्रों के बवाल पर बोले रेल मंत्री- परीक्षा में गड़बड़ी नहीं हुई, 3 हफ्ते में कमेटी देगी रिपोर्ट

RRB (रेलवे रिक्रूटमेंट बोर्ड) में एनटीपीसी यानी नॉन टेक्निकल पॉपुलर कैटेगरी भर्ती के परिणाम को लेकर छात्रों का प्रदर्शन जारी है. अब इस पूरे मामले में रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने आजतक से विस्तार से बात की है.

X
रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव
4:48
स्टोरी हाइलाइट्स
  • रेल मंत्री का विपक्ष पर वार- छात्रों को भ्रमित कर रहे
  • छात्रों को बोले- रेल संपत्ति को नुकसान ना पहुंचाएं

RRB (रेलवे रिक्रूटमेंट बोर्ड) में एनटीपीसी यानी नॉन टेक्निकल पॉपुलर कैटेगरी भर्ती के परिणाम को लेकर छात्रों का बवाल खत्म नहीं हो रहा है. बिहार में लगातार छात्र विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं, कुछ जगहों पर आगजनी भी की गई है. पुलिस बल का भी इस्तेमाल हुआ है और विवाद बढ़ता चला गया है.अब इस पूरे मामले पर रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने आजतक से खास बातचीत की है.

उन्होंने कहा है कि परीक्षा में कोई भी गड़बड़ी नहीं हुई है. उनकी टीम में कई अनुभवी लोग शामिल हैं जिन्होंने इससे पहले भी इस प्रक्रिया को सफलतापूर्वक पूरा किया है. लेकिन क्योंकि छात्र प्रदर्शन कर रहे हैं, ऐसे में रेल मंत्री ने कमेटी बनाने की बात कही है. जानकारी दी गई है कि वो कमेटी तीन हफ्ते के अंदर अपनी रिपोर्ट सौंप देगी.

रेल मंत्री ने छात्रों को आश्वासन दिया है कि पूरी पारदर्शिता के साथ इस विवाद को सुलझाया जाएगा, साफ नीयत के साथ काम होगा और किसी को शिकायत का मौका नहीं मिलेगा. वहीं क्योंकि चुनावी मौसम में है, ऐसे में रेल मंत्री ने विपक्ष से भी अपील की कि वे छात्रों को भ्रमित करने का काम ना करें. उन्होंने जोर देकर कहा कि हमारी तरफ से कोई गड़बड़ी नहीं हुई है,लेकिन फिर भी छात्रों की चिंताओं को दूर किया जाएगा.

इससे पहले प्रेस कॉन्फ्रेंस कर भी रेल मंत्री ने छात्रों से बातचीत की थी.  उन्होंने सभी छात्रों से अपील की कि रेलवे की संपत्ति को नुकसान ना पहुंचाया जाए. उन्होंने कहा कि रेलवे आपकी भी संपत्ति है और अपनी संपत्ति को नुकसान नहीं पहुंचाया जाता. केंद्रीय रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने कहा, 'मैं अपने छात्र मित्रों से निवेदन करना चाहूंगा कि रेलवे आपकी संपत्ति है, आप अपनी संपत्ति को संभालकर रखें. पुलिस प्रशासन कानून-व्यवस्था के आधार पर काम कर रहा है, कोई भी सार्वजनिक संपत्ति में तोड़फोड़ न करें.

रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने कहा, परीक्षा से संबंधित कोई शिकायत नहीं मिली. एक लाख 40 हजार वैकेंसी है और एक करोड़ से ज्यादा आवेदन आए थे. उन्होंने कहा, इतनी बड़ी संख्या में परिक्षार्थी हों तो एक बार में परीक्षा लेना कठिन है, इस वजह से दो लेवल किया गया था.

अब इस पूरे मामले की बात करें तो रेलवे की एनटीपीसी ( नॉन टेक्निकल पापुलर केटेगरी) भर्ती परीक्षा के परिणाम में गड़बड़ी को लेकर ये बवाल काटा जा रहा है. बिहार में भी छात्र सड़कों पर विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं. छात्रों का कहना है कि बोर्ड की तरफ से ऐन वक्त पर नियम बदल दिए गए. परिणाम आने के बाद सिर्फ पांच फीसदी छात्रों को ही नौकरी पर लिया गया. छात्रों के मुताबिक असल में ये आंकड़ा 20 फीसदी होना चाहिए था. 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें