scorecardresearch
 

भारत-रूस 2+2 डायलॉग के लिए 6 दिसंबर को भारत आएंगे पुतिन

21वां भारत-रूस वार्षिक शिखर सम्मेलन 6 दिसंबर को दिल्ली में आयोजित किया जा रहा है. प्रधानमंत्री मोदी (PM Modi) के साथ होने वाले इस 2+2 डायलॉग के लिए रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन 5- 6 दिसंबर को भारत यात्रा पर रहेंगे. 

X
6 दिसंबर को 2+2 डायलॉग के लिए भारत आ रहे हैं पुतिन 6 दिसंबर को 2+2 डायलॉग के लिए भारत आ रहे हैं पुतिन
स्टोरी हाइलाइट्स
  • 21वां भारत-रूस वार्षिक शिखर सम्मेलन दिल्ली में
  • भारत के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और विदेश मंत्री डॉ. एस जयशंकर करेंगे प्रतिनिधित्व

21वां भारत-रूस वार्षिक शिखर सम्मेलन 6 दिसंबर (21st India-Russia Annual Summit) को दिल्ली में आयोजित किया जा रहा है. प्रधानमंत्री मोदी (PM Modi) के साथ होने वाले इस 2+2 डायलॉग के लिए रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन (Vladimir Putin) 5- 6 दिसंबर को भारत यात्रा पर रहेंगे. 

2019 में ब्रासीलिया में ब्रिक्स बैठक के बाद, राष्ट्रपति पुतिन और प्रधान मंत्री मोदी के बीच यह पहली मित्रस्तरीय बैठक होगी.

भारत और रूसी संघ के बीच, यह विदेश मंत्री और रक्षा मंत्रियों के स्तर की बैठक होगी. भारत के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और विदेश मंत्री डॉ. एस जयशंकर, इस वार्ता में भारत का प्रतिनिधित्व करेंगे. रूसी विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव और रूसी रक्षा मंत्री सर्गेई शोइगु भी इस बैठक में हिस्सा लेंगे. 

इस सम्मेलन में प्रधानमंत्री मोदी और पुतिन द्विपक्षीय संबंधों की संभावनाओं पर समीक्षा करेंगे. साथ ही, दोनों देशों के बीच रणनीतिक साझेदारी को और मजबूत करने के तरीकों पर चर्चा की जाएगी. शिखर सम्मेलन में पारस्परिक हित से जुड़े, क्षेत्रीय, बहुपक्षीय और अंतर्राष्ट्रीय मुद्दों पर विचार विमर्श किया जाएगा. बैठक मेंअफगानिस्तान सहित अन्य क्षेत्रीय और वैश्विक मुद्दों पर दोनों देशों के बीच अहम चर्चा की जाएगी.

पिछला भारत-रूस वार्षिक शिखर सम्मेलन सितंबर 2019 में प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी की रूस यात्रा के दौरान आयोजित किया गया था. कोविड-19 महामारी के चलते 2020 में वार्षिक शिखर सम्मेलन नहीं हो सका था

.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें