scorecardresearch
 

कोरोना संकट पर पीएम मोदी ने की हाईलेवल मीटिंग, ब्लैक फंगस से निपटने पर भी चर्चा

देश में गहराता जा रहे कोरोना संकट को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को एक हाईलेवल मीटिंग की. इस मीटिंग में ऑक्सीजन सप्लाई और दवा सप्लाई पर चर्चा के साथ-साथ म्युकरमाइकोसिस के प्रबंधन को लेकर भी चर्चा कई गई.

प्रधानमंत्री मोदी ने मीटिंग की. (फाइल फोटो-PTI) प्रधानमंत्री मोदी ने मीटिंग की. (फाइल फोटो-PTI)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • कोरोना के हालात पर पीएम की मीटिंग
  • ऑक्सीजन सप्लाई पर भी हुई चर्चा

देश में जारी कोरोना संकट को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को एक हाईलेवल मीटिंग की. इस मीटिंग में ऑक्सीजन की सप्लाई और दवाओं की उपलब्धता को रिव्यू किया गया. मीटिंग में कोरोना संक्रमण से ठीक होने के बाद कई लोगों में म्युकरमाइकोसिस की शिकायत भी आ रही है. इस पर भी चर्चा की गई. 

इस मीटिंग में पीएम मोदी को जानकारी दी गई कि सरकार कोरोना के साथ म्युकरमाइकोसिस (ब्लैक फंगस) की दवाओं की सप्लाई को लेकर लगातार मॉनिटरिंग कर रही है. मीटिंग में मौजूद मंत्रियों ने बताया कि वो प्रोडक्शन बढ़ाने को लेकर लगातार मैनुफैक्चरर्स के संपर्क में हैं. इसके अलावा पीएम को दवाओं के कच्चे माल के मौजूदा प्रोडक्शन और स्टॉक के बारे में भी जानकारी दी गई. 

प्रधानमंत्री मोदी को इस बात की जानकारी भी दी गई कि राज्यों को सभी जरूरी दवाओं की सप्लाई की जा रही है. साथ ही रेमडेसिविर जैसी दवाओं का प्रोडक्शन लगातार बढ़ रहा है. पीएम ने कहा कि फार्मा सेक्टर और सरकार को साथ मिलकर काम करना चाहिए ताकि दवाओं की उपलब्धता सुनिश्चित की जा सके.

'कोरोना संकट में पीएम मोदी की कड़ी मेहनत' BJP नेताओं-मंत्रियों की मुहिम-विपक्ष का हमला

पीएम ने ऑक्सीजन की उपलब्धता और सप्लाई की स्थिति का भी जायजा लिया. उन्हें बताया गया कि पहली लहर की तुलना में इस बार ऑक्सीजन की सप्लाई तीन गुना बढ़ गई है. पीएम को रेलवे और वायुसेना की तरफ से ऑक्सीजन की सप्लाई को लेकर किए जा रहे ऑपरेशन की जानकारी भी दी गई. इसके अलावा उन्हें ऑक्सीजन कंसंट्रेटर्स, ऑक्सीजन सिलेंडर की खरीद के साथ-साथ देशभर में लगाए जा रहे पीएसए ऑक्सीजन प्लांट्स की स्थिति के बारे में भी बताया गया.

पीएम केयर्स से 1.50 लाख ऑक्सीकेयर सिस्टम खरीदे जाएंगे
इससे पहले सरकार ने पीएम केयर्स फंड से 1.50 लाख ऑक्सीकेयर सिस्टम खरीदने की मंजूरी दी. इसके लिए पीएम केयर्स फंड से 322.5 करोड़ रुपए खर्च किए जाएंगे. ये ऑक्सीकेयर सिस्टम डीआरडीओ ने बनाए हैं. ये SPO2 लेवल के आधार पर ऑक्सीजन की मात्रा को नियंत्रित करता है. दावा है कि इससे 30-40% ऑक्सीजन बचाई जा सकती है. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें