scorecardresearch
 

पाक आर्मी हमले के लिए तैयार कर रही ड्रोन ब्रिगेड, जानें क्या है नापाक प्लान

खुफिया सूत्रों के मुताबिक, पाकिस्तान इस ब्रिगेड को पीओके के उस पार तैनात करने की साजिश रच रहा है. जानकारी के मुताबिक, पाकिस्तान जिन ड्रोन का इस्तेमाल कर रहा है, वे ना सिर्फ हथियार भेजने में सक्षम हैं, बल्कि उनमें हमला करने की भी क्षमता है. पाकिस्तान शांति बहाली के नाम पर समय के साथ साथ अपनी ताकत बढ़ाने में भी लगा है.

जम्मू कश्मीर में शुक्रवार को सुरक्षाबलों ने मार गिराया ड्रोन (फाइल फोटो- आजतक) जम्मू कश्मीर में शुक्रवार को सुरक्षाबलों ने मार गिराया ड्रोन (फाइल फोटो- आजतक)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • पाकिस्तान रच रहा नई साजिश
  • दो ड्रोन ब्रिगेड तैनात करने में जुटा पाक

भारतीय सुरक्षाबलों ने शुक्रवार को जम्मू-कश्मीर के अखनूर में एक ड्रोन को मार गिराया. इसी के साथ पाकिस्तान की ड्रोन वाली साजिश का एक बार फिर पर्दाफाश हुआ है. वह ड्रोन के जरिए घाटी में हथियार भेजने में जुटा है और हमलों को भी अंजाम दे रहा है. पाकिस्तान ड्रोन हमलों के लिए नई ब्रिगेड तैयार कर रहा है. इसमें चीन और तुर्की उसकी मदद कर रहे हैं. खुफिया सूत्रों ने आजतक को यह जानकारी दी. 

खुफिया सूत्रों के मुताबिक, पाकिस्तान इस ब्रिगेड को पीओके के उस पार तैनात करने की साजिश रच रहा है. जानकारी के मुताबिक, पाकिस्तान जिन ड्रोन का इस्तेमाल कर रहा है, वे ना सिर्फ हथियार भेजने में सक्षम हैं, बल्कि उनमें हमला करने की भी क्षमता है. पाकिस्तान शांति बहाली के नाम पर समय के साथ साथ अपनी ताकत बढ़ाने में भी लगा है.

दो ब्रिगेड बना रहा पाकिस्तान

खुफिया एजेंसी के सूत्रों ने बताया कि पाकिस्तान चीन और तुर्की की मदद से दो UAV (ड्रोन) ब्रिगेड तैयार कर रहा है. इन्हें पीओके में तैनात किया जा सकता है. अटैक ड्रोन की एक ब्रिगेड चीन से लेने का प्लान है, जबकि दूसरी करीबी दोस्त तुर्की से मिल रही है. 

तुर्की की कंपनी से की डील

पाकिस्तान जो ब्रिगेड तैयार कर रहा है, उसके लिए उसने तुर्की की एक कंपनी से बात और डील भी कर ली है. सूत्रों के मुताबिक, इसको लेकर जुलाई में तुर्की के लैंड सर्विस चीफ (आर्मी चीफ ) के साथ पाकिस्तान के आर्मी चीफ की मुलाकात भी पाकिस्तान में हुई. इसमें यह सहमति बनी है कि पाकिस्तान तुर्की की कंपनी से अटैक ड्रोन ज्यादा से ज्यादा खरीद कर पीओके में तैनात करेगी. 
 
चीन भी कर रहा मदद

दूसरी ओर, पाकिस्तान का सबसे भरोसेमंद दोस्त चीन भी अटैक ड्रोन की पूरी खेप देने में जुटा है. सूत्रों के मुताबिक, चीन की उच्च स्तरीय डेलिगेशन पाकिस्तान के अधिकारियों से मुलाकात भी कर चुका है. जुलाई में हुई इस बैठक में अटैक ड्रोन सप्लाई करने और पूरी ब्रिगेड तैयार करने में पाकिस्तान को मदद देने पर बात बनी है. 
 
पाकिस्तान ने किए ट्रायल

पाकिस्तान ने हाल ही में चीन से मिले कुछ UAV में मिसाइल असेंबल करने के परीक्षण किए हैं. पाकिस्तान दो UAV ब्रिगेड में अपनी BARQ लेजर गाइडेड मिसाइल असेंबल करना चाहता है. इसे लेकर पाकिस्तान ने ट्रायल भी किया है. इस मिसाइल की रेंज करीब 10 किमी है. 

पाकिस्तान ने इन UAV में लेजर मिसाइल लॉन्च करने की क्षमता के साथ साथ सेल्फ प्रोटेक्शन जैमर, हाई रेजॉल्यूशन कैमरे असेंबल किए हैं. ये नए 4 अटैक UAV लगातार उड़ान भरने की क्षमता रखते हैं और कई किमी तक हथियार के जरिए हमला कर सकते हैं. 
 
पाकिस्तान ने बनाया ड्रोन स्टेशन

सूत्रों के मुताबिक, पाकिस्तान सिर्फ पीओके में ही नहीं बल्कि इंटरनेशनल बॉर्डर के उस पार से ड्रोन वाली साजिश रच रहा है. पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी ISI और पाक रेंजर्स ने अंतरराष्ट्रीय बॉर्डर के उस पार शकरगढ़ लॉन्च पैड के नजदीक में एक ड्रोन स्टेशन बना रखा है, जहां से ड्रोन के जरिए हथियार, आतंकियों की घुसपैठ के लिए सर्विलांस और भारतीय सुरक्षा बलों की स्थिति जानने के लिए रेकी कर रहे हैं.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें