scorecardresearch
 

त्योहार के बीच पश्चिम बंगाल में नए कोरोना केसों की संख्या बढ़ी

पश्चिम बंगाल में दुर्गा पूजा समारोह शुरू होने के बाद बाजारों में भारी भीड़ हो रही है, दूसरी तरफ राज्य में कोरोना केस भी बढ़ रहे हैं. बुधवार, 21 अक्टूबर को बंगाल में 4,069 नए केस दर्ज किए गए, यह संख्या महामारी शुरू होने के बाद सबसे ज्यादा है. ये ऐसा वक्त है जब भारत में कुल कोरोना केसों की संख्या में उल्लेखनीय कमी दिखाई दे रही है.

दुर्गा पूजा समारोह शुरू होने के बाद कोलकाता के बाजारों में भारी भीड़ हो रही (फोटो-PTI) दुर्गा पूजा समारोह शुरू होने के बाद कोलकाता के बाजारों में भारी भीड़ हो रही (फोटो-PTI)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • बंगाल में बाजारों में भारी भीड़ हो रही
  • 8 अक्टूबर के बाद केसों में उछाल दिखा
  • बंगाल में संक्रमितों की संख्या 3.3 लाख पार

पश्चिम बंगाल में दुर्गा पूजा समारोह शुरू होने के बाद बाजारों में भारी भीड़ हो रही है. दूसरी तरफ राज्य में कोरोना केस भी बढ़ रहे हैं. बुधवार, 21 अक्टूबर को बंगाल में 4,069 नए केस दर्ज किए गए, यह संख्या महामारी शुरू होने के बाद सबसे ज्यादा है. ये ऐसा वक्त है जब भारत में कुल कोरोना केसों की संख्या में उल्लेखनीय कमी दिखाई दे रही है.

अक्टूबर के पहले हफ्ते तक बंगाल में रोजाना नए केसों की संख्या 3,500 के पार नहीं गई थी. लगभग 50 दिनों तक राज्य में हर दिन 3,000-3,500 नए केस दर्ज हो रहे थे. 8 अक्टूबर के बाद दैनिक केस में उछाल आया और अब यह हर दिन औसतन 3,800 है.
 
बंगाल में अब तक कुल केसों की संख्या 3.3 लाख के पार जा चुकी है. केस दोगुना होने के मामले में बंगाल की रैंक सातवीं है. भारत में केस दोगुना होने का औसत 90 दिनों का है, जबकि पश्चिम बंगाल में हर 56 दिनों में केस दोगुने हो रहे हैं, मतलब राज्य में संक्रमण बहुत तेज़ी से फैल रहा है.

एक दिन में 4,069 नए केस के साथ एक दिन सबसे ज्यादा केस दर्ज करने के मामले में बंगाल अब महाराष्ट्र, कर्नाटक और केरल के बाद चौथे स्थान पर है. इसी दिन महाराष्ट्र में 8,100 नए केस दर्ज हुए. सितंबर के मध्य में महाराष्ट्र में जितने केस दर्ज हो रहे थे, ये उसका आधा है.

6,200 मौतों के साथ बंगाल में मृत्यु दर 1.8 फीसदी है, जो 1.5 फीसदी के राष्ट्रीय औसत से ज्यादा है.

 
अगस्त के आखिर से बंगाल में हर दिन 50-60 मौतें हो रही हैं. दैनिक मौतों के मामले में बंगाल का ग्राफ ऊपर की ओर बढ़ रहा है, जबकि ज्यादातर राज्य दैनिक मौतें कम करने में कामयाब रहे हैं.

दैनिक मौतों के मामले में बंगाल देश में तीसरे स्थान पर है. पहले स्थान पर महाराष्ट्र (250) और दूसरे पर कर्नाटक (69) है. लेकिन बंगाल के उलट, महाराष्ट्र और कर्नाटक में दैनिक मौतों में 30-40 फीसदी की कमी आई है.  

त्योहारों का मौसम  
 
बंगाल में वार्षिक त्योहार दुर्गा पूजा मनाया जा रहा है, जहां  सार्वजनिक आवाजाही, सामूहिक सभाएं और पारिवारिक आयोजन चरम पर हैं. ये सभी गतिविधियां वायरस के फैलने में अहम भूमिका निभाती हैं.

विशेषज्ञों ने चेतावनी दी है कि बाजारों में बढ़ती भीड़ और सुरक्षा नियमों के उल्लंघन के कारण बंगाल में केसों की संख्या बढ़ सकती है. यह पहली बार नहीं है जब त्योहारों की वजह से कोरोना केसों में बड़े पैमाने पर बढ़ोत्तरी हुई हो. ओणम समारोह के बाद केरल में कोरोना संकट सबसे खराब दौर में पहुंच गया था.
 
इंडिया टुडे से बात करते हुए मिशिगन यूनिवर्सिटी के पब्लिक हेल्थ स्कूल में महामारी विज्ञान की प्रोफेसर भ्रमर मुखर्जी ने कहा कि उन्हें बंगाल के आंकड़ों के बारे में ‘संदेह’ है.  

उन्होंने कहा, “वायरस की रिप्रोडक्शन रेट (प्रजनन दर/संक्रमण दर) के हिसाब से अभी सिर्फ तीन राज्यों- पश्चिम बंगाल, मध्य प्रदेश और दिल्ली में केस बढ़े हैं. मुझे बंगाल के आंकड़ों के बारे में संदेह है. मैंने सीरो सर्वे के आंकड़े देखे हैं जिसमें कोलकाता में लगभग 30-35 फीसदी लोग संक्रमित हैं.”
 
कलकत्ता हाईकोर्ट ने हाल ही में कहा था कि पंडाल में श्रद्धालुओं की एंट्री नहीं होगी, लेकिन बाद में प्रतिबंधों में ढील दे दी गई.
 
प्रोफेसर मुखर्जी ने ऐसे कदमों का स्वागत किया जो सोशल डिस्टेंसिंग को सुनिश्चित करें और साथ ही व्यापारिक लेनदेन को भी बढ़ावा मिले ताकि आर्थिक संकट को कम किया जा सके.
 
उन्होंने कहा, “हमें वास्तव में सघनता को कम करने वाली रणनीतियों की जरूरत है, मॉल, सुपरमार्केट, सड़कों और पंडालों में भीड़ की संख्या को सीमित करना होगा. उसी समय हम यह सुनिश्चित करना चाहिए कि खुदरा, छोटे व्यवसाय और दुकानदार महीनों की बंदी के बाद कुछ पैसा कमा सकें.”
 
यहां तक कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी 20 अक्टूबर को राष्ट्र के नाम अपने संबोधन में लोगों को याद दिलाया है कि उन्हें बेहद सावधानी के साथ त्योहार मनाने की जरूरत है.


 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें