scorecardresearch
 

महाराष्ट्र-बिहार के स्वास्थ्य मंत्री बोले- ऑक्सीजन की कमी से एक भी मौत नहीं

बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने कहा कि बिहार में ऑक्सिजन की कमी की वजह से कोई मौत नहीं हुई है. उन्होंने कहा कि बिहार में 9632 मरीजों की मौत कोविड से हुई है. उसमें से कोई भी मौत ऑक्सीजन की कमी से नहीं हुई है.

ऑक्सीजन पर राज्यों के बयान (फाइल फोटो) ऑक्सीजन पर राज्यों के बयान (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • 'ऑक्सीजन की कमी से किसी की मौत नहीं'
  • बिहार में स्वास्थ्य मंत्री के बयान पर तेज प्रताप ने साधा निशाना

कोरोना संक्रमण की दूसरी के दौरान देश के कई हिस्सों से ऑक्सीजन (Oxygen) की कमी की वजह से कोरोना मरीज की मौत होने के मामले सामने आए थे. लेकिन अब केंद्र की मोदी सरकार द्वारा राज्यसभा (Rajya Sabha) में बयान दिया गया है कि दूसरी लहर के दौरान ऑक्सीजन की कमी से किसी की मौत की जानकारी राज्यों ने नहीं दी है. ऐसे में देश भर में राज्य सभा में दिए गए इस बयान की चर्चा है. इसी बीच देश के अलग अलग राज्यों से भी ऑक्सीजन से जुड़े बयान समाने आए हैं. 

जिसमें महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने कहा कि ऑक्सीजन की कमी के कारण राज्य में एक भी मरीज की मौत नहीं हुई है. हमने अदालतों में इस आशय का एक हलफनामा दिया था. हमने राज्य में उत्पादित की जा रही ऑक्सीजन का पूरी तरह से उपयोग किया. 

ये भी पढ़ें- कोरोना की तीसरी लहर के लिए कितनी तैयारी? जानें ऑक्सीजन, वेंटिलेटर्स की मौजूदा स्थिति

क्या बोले गुजरात के सीएम?

ऐसे ही गुजरात के सीएम विजय रूपाणी का कहना है कि राज्य में ऑक्सीजन की कमी से किसी की भी मौत नहीं हुई हैं. उन्होंने कहा कि हमारे यहां साढ़े आठ लाख लोगों ने कोरोना का उपचार लिया है. हमारे यहां कई कोरोना डेडीकेटेड अस्पताल हैं. जिस वजह से लाखों लोग ठीक होकर अपने घर चले गये. किसी भी अस्पताल या किसी भी जगह ऐसा कभी नहीं हुआ है कि किसी व्यक्ति की ऑक्सीजन की कमी से मौत हुई हो. 

यूपी के स्वास्थ्य मंत्री ने भी भरी हामी

वहीं उत्तर प्रदेश सरकार के स्वास्थ्य मंत्री जय प्रताप सिंह ने भी कहा है कि कोरोना की दोनों लहरों में जो भी मौत हुईं उसे हम पोर्टल पर अपडेट करते हैं. सबका डेथ ऑडिट भी होता है. राष्ट्रीय पोर्टल पे उसको अपडेट किया जाता है, मौत के कारण में ऑक्सीजन की कमी हो सकती है, सांस लेने में दिक्कत या और भी कारण हो सकते हैं. प्रत्येक होने वाली मौत के बारे में हमने पोर्टल पर अपडेट किया है. उन्होंने कहा कि त्रासदी के समय हर देश में समस्या आई, ऑक्सीजन की सप्लाई को हमने सुनिश्चित किया. स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि मौत के कई कारण हो सकते हैं. सरकारी अस्पतालों और दूसरे अस्पतालों में हमारे पास आक्सीजन भी थी. लेकिन ऑक्सीजन की कमी से हुई मौत का कोई आंकड़ा नहीं है. 

बिहार के स्वास्थ्य मंत्री बोले- ऑक्सीजन की कमी से कोई मौत नहीं

इसी कड़ी में बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने कहा कि बिहार में ऑक्सिजन की कमी की वजह से कोई मौत नहीं हुई है. उन्होंने कहा कि बिहार में 9632 मरीजों की मौत कोविड से हुई है. उसमें से कोई भी मौत ऑक्सीजन की कमी से नहीं हुई है. मंगल पांडेय ने कहा कि बिहार में कोरोना के दूसरे दौर में ऑक्सीजन की मांग 14 गुणा जरूर बढ़ी, लेकिन सरकारी अस्पतालों और निजी अस्पतालों में ऑक्सीजन की कमी की वजह से कोई मौत नहीं हुई है.


तेज प्रताप ने साधा निशाना

ऐसे में बिहार के पूर्व स्वास्थ्य मंत्री तेज प्रताप यादव ने मंगल पांडे के दावों को झुठलाते हुए कहा कि स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे झूठ बोल रहे हैं. पिछले महीनों बिहार में ऑक्सीजन की कमी की वजह से हजारों लोगों की मौत हुई थी. लेकिन स्वास्थ्य मंत्री कह रहे हैं कि ऑक्सीजन की कमी की वजह से एक भी मौत नहीं हुई है. यह सरकार जनता को ठगने का काम कर रही है. बिहार सरकार और केंद्र ने जो राज्यसभा में कल आंकड़ा पेश किया है वह बिल्कुल गलत है. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें