scorecardresearch
 

जम्मू से तमिलनाडु, गुजरात से बंगाल तक हाइवे पर उतरेंगे लड़ाकू विमान, जानें पूरी तैयारी?

देश की 28 लोकेशन पर ऐसे हाइवे तैयार किए जा रहे हैं, जहां इमरजेंसी या रेस्क्यू के दौरान वायुसेना के विमानों को उतारा जा सके. इन हाइवे पर एयर स्ट्रिप बनाई जा रही हैं, जिससे लड़ाकू विमान लैंड और टेकऑफ कर सकेंगे.

हाइवे पर उतर सकेंगे वायुसेना के विमान (फाइल फोटो) हाइवे पर उतर सकेंगे वायुसेना के विमान (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • 28 लोकेशन पर बनेंगे ऐसे हाइवे
  • युद्ध और रेस्क्यू में होंगे मददगार

इमरजेंसी के हालात में या फिर रेस्क्यू और राहत पहुंचाने के मकसद से नेशनल हाईवे को लैंडिंग एयर स्ट्रिप में बदलने की तैयारी जोरों पर है. आज तक के पास उन सभी 28 लोकेशन की एक्सक्लूसिव जानकारी है, जहां ये नेशनल हाइवे बनाए जा रहे हैं. इन सभी एयर स्ट्रिप्स की लंबाई और डिजाइन उस हिसाब से की गई है ताकि बड़े-बड़े फाइटर एयरक्राफ्ट से लेकर विमान भी उतारे जा सकें. 

सड़क परिवहन मंत्रालय से जुड़े सूत्रों ने बताया कि फ्लाइट लैंड करते समय हाइवे को दोनों तरफ से बंद करने से लेकर जरूरी सेफ्टी प्रोटोकॉल का भी विशेष ख्याल रखा जा रहा है ताकि यातायात बाधित न हो. 

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, नेशनल हाइवे पर बनाई गईं ऐसी ही दो एयर स्ट्रिप्स आंध्र प्रदेश में बनकर तैयार हो चुकी हैं और पश्चिम बंगाल के अलावा जम्मू-कश्मीर में हाइवे पर एक-एक और एयर स्ट्रिप्स बनाई जा रही हैं. नेशनल हाईवे पर ऐसी ही चार एयरस्ट्रिप्स बनाने के टेंडर निकाले गए हैं. जानकारी के मुताबिक, कुछ के टेंडर निकाले जा चुके हैं तो कुछ की जमीन को अधिग्रहण करने का प्लान चल रहा है. 

ये भी पढ़ें-- राजस्थान: वायुसेना ने दिखाया दम, Pak बॉर्डर से 40KM दूर हाइवे पर उतारे गए फाइटर प्लेन, Video

किन जगहों पर बनेंगी एयर स्ट्रिप? 

- जम्मू कश्मीर : बनिहाल-श्रीनगर मार्ग पर अवंतिपुरा के पास काम चल रहा है. जम्मू-उधमपुर मार्ग में साइट विजिट होनी है.

- पंजाब : संगरुर जिले में एनएच 71 पर दोगल दिरवा गांव के पास साइट विजिट होनी है. हरियाणा में सिरसा मार्ग में डबबली के पास टेंडर एक माह में भीतर हो जाएगा. हिसार में कल्पना चावला मेडिकल कॉलेज के पास टेंडर एक महीने में हो जाएगा.

- उत्तर प्रदेश : मुरादाबाद के पास एनएच 24 में साइट विजिट होना है. इसके अलावा लखनऊ-रायबरेली के बीच और अयोध्या के पास एनएच 27 में साइट विजिट होनी है.

- राजस्थान : फलौदी-जैसलमेर और बाड़मेड़–जैसलमेर मार्ग में स्पॉट फाइनल हो गया है. टेंडर होने वाला है. इसके साथ ही गंधो-बकासर मार्ग में निर्माण कार्य चालू है.

- गुजराज : राजकोट के दतराना के पास निर्माण का टेंडर हो गया है. द्वारका-माल्या में वर्क ऑर्डर हो गया है. जमीन अधिग्रहण नहीं होने की वजह से काम नहीं हो रहा है. भुज-अंजार मार्ग में साइट विजिट होनी है. सूरत-मुबंई मार्ग पर साइट विजिट होनी है.

- आंध्रप्रदेश : नेल्लोर के पास निर्माण कार्य चल रहा है. विजयवाड़ा-अंगोर में निर्माण कार्य चल रहा है. राजमूंदरी-विजयवाड़ा मार्ग में साइट विजिट होनी है.

- तमिलनाडु : पुडुचेरी में टेंडर हो गया है. जमीन अधिग्रहण करने नहीं दिया गया. मदुरै मार्ग में साइट विजिट होनी है.

- पश्चिम बंगाल : बालासूर-खड़गपुर में काम चल रहा है. डिगना के पास साइट विजिट होनी है.

- बिहार : इस्लामपुर-किशनगंज के पास साइट विजिट होनी है.

- असम : जोरहाट में शिवसागर के पास चयन हो गया है. टेंडर होने वाला है. बरकाघाट के पास लोकेशन फाइनल है. टेंडर होने वाला है. नौगांव सेनभोग मार्ग एनएच 27 का टेंडर होने वाला है.

- ओडिशा : खगड़पुर-कंजावर मार्ग में साइट विजिट होनी है.

आखिर क्यों बन रहे हैं एयर स्ट्रिप्स?

युद्ध के दौरान दुश्मन देश अक्सर देश के महत्वपूर्ण एयरबेस को टारगेट करके उन्हें तबाह करने की कोशिश में रहते हैं ताकि उस देश के फाइटर जेट लैंड और टेकऑफ न कर सकें. एयरबेस तबाह हो जाने की सूरत में देश की एयरफोर्स के लिए हाइवे पर बने रनवे विकल्प के तौर पर काम करते हैं. सूत्रों के मुताबिक, देश में आपदा के समय इमरजेंसी रेस्क्यू के दौरान हाईवे एयरस्ट्रिप का इस्तेमाल किया जा सकता है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें