scorecardresearch
 

महबूबा की केंद्र को नसीहत- तालिबान भारत में नहीं, किसान पर फोकस करे सरकार

जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री और पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती (Mehbooba Mufti) ने केंद्र सरकार से किसानों के मुद्दों (Farmer Issues) पर ध्यान केंद्रित करने को कहा है.

महबूबा मुफ्ती महबूबा मुफ्ती
स्टोरी हाइलाइट्स
  • महबूबा मुफ्ती की सरकार को दो टूक
  • किसानों के मुद्दों पर ध्यान देने को कहा

जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री और पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती (Mehbooba Mufti) ने केंद्र सरकार से किसानों के मुद्दों (Farmer Issues) पर ध्यान केंद्रित करने को कहा है. मुफ्ती ने केंद्र शासित प्रदेश के पुंछ जिले में पत्रकारों से बात करते हुए यह बात कही. साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि तालिबान भारत में नहीं, बल्कि अफगानिस्तान में है. सरकार का फोकस किसानों के मुद्दे होने चाहिए.

पुंछ के सूरनकोटे इलाके में पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती ने कहा, ''पिछले कई महीनों से किसान धरने पर बैठे हुए हैं. सरकार का मुख्य फोकस किसानों के मुद्दे पर होना चाहिए.'' मालूम हो कि केंद्र सरकार के तीन कृषि कानूनों के खिलाफ पंजाब, हरियाणा और पश्चिमी उत्तर प्रदेश के बड़ी संख्या में किसान कई महीनों से आंदोलन कर रहे हैं.

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली की विभिन्न सीमाओं पर चल रहा किसानों का आंदोलन समय-समय पर तेज होता रहता है. किसानों की मांग सरकार से कानूनों को रद्द करने, एमएसपी पर कानून बनाने समेत अन्य हैं. किसानों ने कुछ महीने पहले हुए पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में भी बीजेपी के पक्ष में वोट न डालने की अपील की थी. इसके बाद अब यूपी, उत्तराखंड समेत अन्य राज्यों में होने वाले चुनावों के लिए भी किसानों ने कमर कस ली है.

यह भी पढ़ें: महबूबा मुफ्ती बोलीं- निजी स्वार्थ के लिए जम्मू और कश्मीर के बीच दरार पैदा की जा रही

पांच सितंबर को किसानों ने मुजफ्फरनगर में महापंचायत बुलाई थी, जिसमें बड़ी संख्या में किसान इकट्ठा हुए थे. किसान आंदोलन का नेतृत्व संयुक्त किसान मोर्चा के साथ-साथ भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत भी कर रहे हैं. किसान नेता आंदोलन को गांवों-गांवों में ले जा रहे हैं. हाल ही में उन्होंने हरियाणा के करनाल जिले में प्रदेश के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर की सभा का विरोध किया था, जिसके बाद पुलिस को लाठीचार्ज तक करना पड़ गया था.

कांग्रेस, आम आदमी पार्टी, तृणमूल कांग्रेस समेत विपक्षी दल सरकार से किसानों की मांगों को मानने की बात कहते रहे हैं. विपक्षी दलों की मांग है कि सरकार तीनों कृषि कानूनों को वापस लेते हुए किसानों की सभी मांगों को स्वीकार करे. वहीं, अब जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने भी सरकार से किसानों के मुद्दे पर फोकस करने के लिए कह दिया है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें