scorecardresearch
 

MCD अस्पताल में मेडिकल स्टाफ की हड़ताल का डर, कोरोना मरीजों को शिफ्ट करने का आदेश

स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा कि हिंदूराव अस्पताल एमसीडी द्वारा संचालित किया जाता है. वहां के डॉक्टरों और मेडिकल स्टाफ ने एमसीडी को हड़ताल पर जाने की नोटिस दी है. हिंदूराव में कोविड मरीज भी भर्ती हैं. हमने अधिकारियों को निर्देश दिया है कि उन मरीजों को दिल्ली सरकार के अस्पतालों में शिफ्ट कर दिया जाए.

कोरोना मरीजों को दूसरे अस्पताल में शिफ्ट करने का आदेश (सांकेतिक-पीटीआई) कोरोना मरीजों को दूसरे अस्पताल में शिफ्ट करने का आदेश (सांकेतिक-पीटीआई)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • MCD के 2 अस्पताल के स्टाफ की हड़ताल पर जाने की चेतावनी
  • इन अस्पतालों में भर्ती कोरोना मरीजों को रविवार तक शिफ्ट के आदेश
  • सत्येंद्र जैनः MCD वेतन जारी करे, वरना अस्पताल को हमें सौंप दें

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने एमसीडी द्वारा संचालित दिल्ली के कस्तूरबा गांधी और हिंदूराव अस्पतालों के डॉक्टरों/मेडिकल स्टाफ की हड़ताल पर जाने की चेतावनी को देखते हुए इन अस्पतालों में भर्ती कोरोना मरीजों को रविवार तक दिल्ली सरकार के अस्पतालों में शिफ्ट करने का निर्देश दिया है.

सत्येंद्र जैन ने कहा कि एमसीडी को अपने अस्पतालों के डॉक्टरों और कर्मचारियों का वेतन जारी करना चाहिए और अगर वो ऐसा नहीं कर सकते हैं, तो अस्पतालों को दिल्ली सरकार को सौंप देना चाहिए, हम उनके अस्पताल भी चला लेंगे.

उन्होंने कहा कि वर्तमान में हिंदूराव में 20 कोरोना मरीज भर्ती हैं, उन्हें रविवार तक दिल्ली सरकार के अस्पतालों में शिफ्ट कर दिया जाएगा. ये मरीज अपनी मर्जी के अनुसार दिल्ली सरकार अधीन आने वाले किसी भी अस्पताल में भर्ती हो सकते हैं.

हम बेहतर तरीके से चलाएंगे अस्पतालः जैन

स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा कि दिल्ली का हिंदूराव अस्पताल एमसीडी द्वारा संचालित किया जाता है. वहां के डॉक्टरों और मेडिकल स्टाफ ने एमसीडी को हड़ताल पर जाने की नोटिस दी है. हिंदूराव अस्पताल में कोविड मरीज भी भर्ती हैं. हमने अधिकारियों को निर्देश दिया है कि उन मरीजों को दिल्ली सरकार के अस्पतालों में शिफ्ट कर दिया जाए. वहां पर रविवार से डॉक्टर और स्टाफ के हड़ताल करने की संभावना हैं. मेरा एमसीडी से अनुरोध है कि वहां पर जो भी स्टाफ हैं, उनको जल्द से जल्द वेतन का भुगतान करें. अगर नॉर्थ एमसीडी से कस्तूरबा गांधी अस्पताल और हिंदूराव अस्पताल के स्टाफ की सैलरी नहीं दी गई है और अगर उनसे अस्पताल नहीं चल रहा है, तो वो दिल्ली सरकार को सौंप दें, हम उन्हें भी चला लेंगे और सभी कर्मचारियों को सैलरी भी दे देंगे.

स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा कि हमने मीडिया में दो अस्पतालों, हिंदूराव और कस्तूरबा गांधी के बारे में पढ़ा है कि उनके स्टाफ की सैलरी का भुगतान नहीं किया गया है. हम सिर्फ इतना कहना चाहते हैं कि यदि एमसीडी इन अस्पतालों को प्रभावी ढंग से चलाने में सक्षम नहीं है, तो वे उन्हें हमें सौंप सकते हैं और हम इन अस्पतालों को उनसे बेहतर ढंग से चलाएंगे.

'राजनीति कर रही बीजेपी'
एक सवाल के जवाब में स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने भारतीय जनता पार्टी पर हमला करते हुए कहा कि भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) मरीजों के स्वास्थ्य को लेकर राजनीति कर रही है. मैं फिर कहना चाहता हूं कि बीजेपी शासित एमसीडी को कर्मचारियों का वेतन देना चाहिए या अस्पतालों को हमें सौंप देना चाहिए और हम स्टाफ को समय पर वेतन देने के साथ अस्पताल को बेहतर ढंग से चलाएंगे.

उन्होंने कहा, 'मुझे नहीं लगता कि एमसीडी के पास फंड की कमी है. एमसीडी लोगों पर भारी टैक्स लगाते हैं और मोटी रकम इकट्ठा करते हैं, लेकिन कोई नहीं जानता कि यह पैसा कहां जाता है? बीजेपी वाले सिर्फ राजनीति कर रहे हैं. केंद्र सरकार ने एमसीडी को आदेश दिया था कि वे हेल्थ ट्रेड लाइसेंस देने की प्रक्रिया रद्द कर दें, लेकिन वे लोग उसे भी हटाने के लिए तैयार नहीं है.'
 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें