scorecardresearch
 

Kumbh से पहले Indian Railways की तैयारी, बनाए कलर-कोडेड काउंटर्स और हाईटेक कंट्रोल रूम

Haridwar Kumbh Mela: कुंभ सिर्फ एक धार्मिक मेला नहीं बल्कि, लाखों लोगों की आस्था का प्रतीक है. कुंभ में लाखों श्रद्धालु पहुंचते है. हालांकि, इस बार का कुंभ कोरोना के कारण काफी एहतियात के साथ आयोजित किया जा रहा है.

कुंभ से पहले भारतीय रेलवे ने किए विशेष इंतजाम (फाइल फोटो) कुंभ से पहले भारतीय रेलवे ने किए विशेष इंतजाम (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • उत्तर रेलवे ने की शाही स्नान से पहले खास तैयारी
  • स्टेशन पर कलर-कोडेड काउंटर्स और हाईटेक कंट्रोल रूम

Haridwar Kumbh Mela: कुंभ सिर्फ एक धार्मिक मेला नहीं बल्कि, लाखों लोगों की आस्था का प्रतीक है. कुंभ में लाखों श्रद्धालु पहुंचते हैं. हालांकि, इस बार का कुंभ कोरोना के कारण काफी एहतिहात के साथ आयोजित किया जा रहा है. हरिद्वार में वर्ष 2021 में आयोजित होने वाले कुंभ मेले को लेकर भारतीय रेलवे ने विशेष तैयारियां की हैं. कुंभ से पहले शाही स्नान से पहले 11 मार्च से हरिद्वार स्टेशन पर यात्रियों की बड़ी संख्या हो सकती है. ऐसे में उत्तर रेलवे ने हरिद्वार स्टेशन पर विशेष इंतजाम किए हैं.

उत्तर रेलवे ने बनाए चार अलग-अलग रंग के काउंटर
भीड़ से निपटने के लिए, उत्तर रेलवे ने विभिन्न गंतव्यों के लिए टिकट बुक करने के लिए चार अलग-अलग रंग के काउंटर बनाए हैं. उत्तर रेलवे उत्तराखंड के वरिष्ठ मंडल वाणिज्यिक प्रबंधन ने कहा कि हमने काउंटर के अंदर आरक्षित टिकट खिड़कियां बनाई हैं. इतना ही नहीं उत्तर रेलवे ने हरिद्वार रेलवे स्टेशन पर भारतीय रेलवे द्वारा एक केंद्रीकृत हाईटेक कंट्रोल रूम भी स्थापित किया है. बता दें कि उत्तराखंड सरकार ने कोविद -19 महामारी के कारण इस साल कुंभ को 30 दिनों तक सीमित करने का फैसला किया है.

कुंभ में जाने से पहले करना होगा पंजीकरण
कुंभ के प्रभारी अधिकारियों ने कहा कि जो लोग इस धार्मिक मेले में जाने वाले हैं, उन्हें सबसे पहले पोर्टल पर पूर्व पंजीकरण करना होगा. साथ ही उनके पास COVID-19 नकारात्मक रिपोर्ट भी होनी चाहिए. कुंभ न केवल एक धार्मिक यात्रा है, बल्कि एक स्थान पर सबसे बड़ा सामूहिक सम्मेलन है. यह 12 वर्षों के दौरान चार बार मनाया जाता है.

इस बार नहीं चलाई जाएगी स्पेशल ट्रेन
गौरतलब है कि हर बार कुंभ के दौरान भारतीय रेलवे स्पेशल ट्रेनें चलाता है. लेकिन, इस बार इस तरह का कोई आयोजन नहीं किया गया है. रेलवे का कहना है कि उत्तराखंड सरकार की ओर से अतिरिक्त स्पेशल ट्रेन चलाने के लिए कहा जाएगा, तभी उस पर विचार किया जाएगा.   

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें