scorecardresearch
 

क्या 4 दिसंबर को घर लौट जाएंगे किसान, ख़त्म हो जाएगा आंदोलन?

किसान नेता राकेश टिकैत का कहना है कि 4 दिसंबर की SKM की बैठक में सभी किसान संगठन एक राय होकर महत्वपूर्ण निर्णय लेंगे. सरकार टेबल पर आयेगी तो हम किसानों की शाहदत से जुड़े पूरे तथ्य भी सामने रखेंगे.

X
किसान आंदोलन को लेकर 4 दिसंबर हो सकता है ख़ास दिन (फाइल फोटो) किसान आंदोलन को लेकर 4 दिसंबर हो सकता है ख़ास दिन (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • चार दिसंबर को होनी है संयुक्त मोर्चा की बैठक
  • आंदोलन पर आ सकता है बड़ा फैसला

संसद में कृषि कानून को रद्द कर दिया गया है, लेकिन किसान अब भी आंदोलन की राह नहीं छोड़ रहे हैं. किसान दिल्ली के बॉर्डर्स पर डटे हुए हैं. इस बीच खबर आई है कि कुछ किसान नेता और किसान संगठन अब घर वापसी चाहते हैं. वो चाहते हैं कि कृषि कानून खत्म होने के बाद वो आंदोलन छोड़कर घर चले जाएं.

इसको लेकर किसान नेता सतनाम सिंह ने कहा है कि केंद्र सरकार ने किसानों की सारी मांगे मान ली हैं, 4 दिसंबर को संयुक्त किसान मोर्चा की बैठक के बाद आंदोलन समाप्त किया जा सकता है.

वहीं किसान नेता राकेश टिकैत का कहना है कि 4 दिसंबर की SKM की बैठक में सभी किसान संगठन एक राय होकर महत्वपूर्ण निर्णय लेंगे. सरकार टेबल पर आयेगी तो हम किसानों की शाहदत से जुड़े पूरे तथ्य भी सामने रखेंगे.

इसी बीच गुरुवार को एक मीडिया कार्यक्रम में शिरकत करते हुए राकेश टिकैत ने कहा कि ये संघर्ष से समझौते की तरफ आंदोलन जा रहा है हम चाहते हैं सरकार को छल, कपट, द्वेष छोड़कर किसानों से बातचीत करनी चाहिए, जो मसले हैं उनका समाधान करना चाहिए.

ऐसे में अब 4 दिसंबर को संयुक्त किसान मोर्चा की फिर बैठक होगी. इस बैठक में आगे की रणनीति पर चर्चा होगी. किसानों ने कहा है कि बाकी मुद्दे सुलझाने के लिए सरकार को बातचीत करनी चाहिए. हो सकता है कि आने वाले दिनों में फिर से किसान और सरकारों के बीच बात शुरू हो जाए. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें