scorecardresearch
 

यूपी-पंजाब-हिमाचल में बढ़ रहा कोरोना का मीटर, मदद के लिए पहुंची केंद्र की टीम

कोरोना वायरस प्रबंधन में समर्थन करने के लिए उत्तर प्रदेश, पंजाब और हिमाचल प्रदेश में उच्च-स्तरीय केंद्रीय टीमों की नियुक्ति की गई है. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने रविवार को कहा कि ये राज्य एक्टिव मामलों की संख्या में वृद्धि कर रहे हैं.

सांकेतिक तस्वीर सांकेतिक तस्वीर
स्टोरी हाइलाइट्स
  • उच्च-स्तरीय केंद्रीय टीमों की नियुक्ति
  • हरियाणा, राजस्थान, गुजरात में भी टीम की नियुक्ति
  • देश में कोरोना वायरस के 4,40,962 एक्टिव केस

कोरोना वायरस प्रबंधन में समर्थन करने के लिए उत्तर प्रदेश, पंजाब और हिमाचल प्रदेश में उच्च-स्तरीय केंद्रीय टीमों की नियुक्ति की गई है. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने रविवार को कहा कि ये राज्य एक्टिव मामलों की संख्या में वृद्धि कर रहे हैं. जो अस्पताल में भर्ती हैं या घर पर आइसोलेशन में हैं. बता दें कि इससे पहले, उच्च-स्तरीय टीमों को हरियाणा, राजस्थान, गुजरात, मणिपुर और छत्तीसगढ़ भेजा गया था.

"ये तीन-सदस्यीय दल COVID-19 मामलों की उच्च संख्या की रिपोर्ट करने वाले जिलों का दौरा करेंगे और ​​परीक्षण, संक्रमण की रोकथाम और नियंत्रण उपायों और सकारात्मक मामलों के कुशल नैदानिक ​​प्रबंधन को मजबूत बनाने की दिशा में राज्य के प्रयासों का समर्थन करेंगे. मंत्रालय ने कहा कि केंद्रीय टीमें समय पर निदान और पालन से संबंधित चुनौतियों का प्रभावी ढंग से प्रबंधन करने के लिए मार्गदर्शन करेंगी.

देखें: आजतक LIVE TV

भारत के फिलहाल, कोरोना वायरस के 4,40,962 एक्टिव केस हैं. ये कुल मामलों का 4.85 प्रतिशत है, जबकि राष्ट्रीय COVID-19 रिकवरी रेट 93.69 प्रतिशत हो गया है, जिसमें 24 घंटे के अंदर 43,493 संक्रमित लोग ठीक हुए हैं. देश में अब तक कोरोना से संक्रमित 85,21,617 लोग ठीक हो चुके हैं.

रिकवरी और सक्रिय मामलों के बीच अंतर लगातार बढ़ रहा है. मंत्रालय ने कहा कि 26 राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों में 20,000 से कम एक्टिव केस हैं, जबकि 7 राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों में 20,000 और 50,000 के बीच सक्रिय मामले हैं.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें