scorecardresearch
 

चीनी दूतावास पर हिंदू सेना ने लगाए पोस्टर, कहा- फारूक अब्दुल्ला को ले जाओ

पोस्टर पर जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री और नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता फारूक अब्दुल्ला का फोटा है. इस फोटो के साथ लिखा है, प्लीज़ अडॉप्ट, टेक हिम टू चाइना. यानी चीन से मांग की गई है कि फारूक अब्दुल्ला को आप अपने यहां बुला लीजिए, उन्हें गोद ले लीजिए.

चीनी दूतावास के साइन बोर्ड लगाए पोस्टर चीनी दूतावास के साइन बोर्ड लगाए पोस्टर
स्टोरी हाइलाइट्स
  • फारूक अब्दुल्ला ने दिया था विवादित बयान
  • हिंदू सेना ने किया फारूक के बयान का विरोध

जम्मू-कश्मीर में चीन की मदद से धारा 370 की बहाली वाले फारूक अब्दुल्ला के बयान पर बवाल मच गया है. भारतीय जनता पार्टी ने जहां उनके बयान को राजद्रोह की श्रेणी में रखा है वहीं अब दूसरे दक्षिणपंथी संगठन भी फारूक अब्दुल्ला के खिलाफ आवाज उठा रहे हैं.

दिल्ली स्थित चीन के दूतावास पर मंगलवार को कुछ पोस्टर लगाए गए. पोस्टर पर जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री और नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता फारूक अब्दुल्ला का फोटा है. इस फोटो के साथ लिखा है, ''प्लीज़ अडॉप्ट, टेक हिम टू चाइना.'' यानी चीन से मांग की गई है कि फारूक अब्दुल्ला को आप अपने यहां बुला लीजिए, उन्हें गोद ले लीजिए.

बता दें कि फारूक अब्दुल्ला ने कहा था कि उन्हें उम्मीद है चीन की मदद से जम्मू-कश्मीर में धारा 370 की बहाली हो जाएगी. केंद्र सरकार ने संसद से कानून बनाकर 2019 में 5 अगस्त को ये धारा खत्म की थी, जिससे जम्मू-कश्मीर का विशेष राज्य का दर्जा खत्म हो गया था. तब से जम्मू-कश्मीर के सभी राजनीतिक दल सरकार के इस फैसले का विरोध करते आ रहे हैं. अब फारूक का ताजा बयान की चीन की मदद को लेकर आया तो देश की राजनीति गर्मा गई.

देखें: आजतक LIVE TV  

हिंदू सेना ने क्या कहा

हिंदू सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष विष्णु गुप्ता की तरफ से इस मसले पर बयान भी जारी किया गया है. विष्णु गप्ता ने कहा, ''ये पहली बार नहीं है जब सांसद फारूक अब्दुल्ला ने इस तरह का भारत विरोधी बयान दिया है. आज हिंदू सेना के कुछ गुस्साए वॉलंटियर्स ने दिल्ली में शांति मार्ग स्थित चीन दूतावास के साइनबोर्ड पर पोस्टर लगाया और फारूक अब्दुल्ला के खिलाफ प्रदर्शन किया.''

हिंदू सेना की तरफ से कहा गया है कि अब्दुल्ला और मुफ्ती परिवार को अब समझ लेना चाहिए कि कश्मीर उनकी निजी संपत्ति नहीं है और इस बात को स्वीकार कर लेना चाहिए कि जम्मू-कश्मीर भारत का अटूट अंग है. हिंदू सेना ये भी कहा कि ये लोग भारतीय लोगों के टैक्स के पैसे पर पलते हैं और देश के लोगों और अर्थव्यवस्था के खिलाफ काम करना इनका रुटीन बन गया है. 

इसके साथ ही हिंदू सेना ने केंद्र सरकार से मांग की है कि फारूक अब्दुल्ला की सभी सरकारी सुविधाएं वापस ली जानी चाहिए, उनका बंगला भी ले लेना चाहिए और उन्हें चीन डिपोर्ट कर देना चाहिए. 


 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें