scorecardresearch
 

कृषि मंत्री बोले- किसानों का सियासी इस्तेमाल हो रहा, कुछ ताकतें चाहती हैं आंदोलन जारी रहे

नई दिल्ली | 22 जनवरी 2021, 6:55 PM IST

कृषि कानून के मसले पर केंद्र सरकार और किसान संगठनों के बीच 11वें दौर की वार्ता हुई. आज की बैठक में सरकार ने किसानों से कहा कि हम इससे बेहतर कुछ नहीं कर सकते. सरकार और किसानों के बीच अगली वार्ता की तारीख तय नहीं हुई है. सरकार और किसानों के बीच अबतक 11 दौर की बातचीत हो चुकी है, लेकिन सभी बेनतीजा रही हैं.

कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों का प्रदर्शन (फोटो- PTI) कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों का प्रदर्शन (फोटो- PTI)

हाइलाइट्स

  • किसान संगठनों और सरकार में 11वें दौर की वार्ता
  • दोनों पक्षों के बीच एक और वार्ता बेनतीजा रही
  • किसानों ने कानून को टालने का प्रस्ताव ठुकराया
  • कृषि मंत्री बोले- अगली बैठक की तारीख तय नहीं
10:04 PM (एक महीने पहले)

किसान नेताओं और पुलिस के बीच हुई बैठक

Posted by :- Devang Gautam

किसान नेताओं ओर पुलिस के बीच हुई बैठक में इन मुद्दों पर चर्चा हुई- पुलिस ने कानून व्यवस्था का हवाला देते हुए कहा कि ट्रैक्टर रैली को दिल्ली के बाहर आयोजित किया जाए. पुलिस ने 5 वैकल्पिक रूट्स का विकल्प दिया, लेकिन किसानों ने इसे ठुकरा दिया. किसानों ने पुलिस को भरोसा दिया कि रैली शांतिपूर्ण तरीके से निकाली जाएगी. अब दोनों पक्ष कल फिर चर्चा करेंगे. 


 

6:37 PM (एक महीने पहले)

कृषि मंत्री नरेंद्र तोमर ने क्या कहा

Posted by :- Devang Gautam

किसानों के साथ बैठक के बाद कृषि मंत्री नरेंद्र तोमर ने कहा कि आज की वार्ता बेनतीजा रही. हमें इसका दुख है. किसान संगठन चाहते हैं कि तीनों कृषि कानून वापस लिए जाए. लेकिन सरकार संशोधन का प्रस्ताव दे रही है. हमने किसानों से कहा कि सरकार के प्रस्ताव पर विचार करें. ये किसानों के हित में है. हमने किसानों से कल अपना फैसला बताने को कहा है. 
 

5:25 PM (एक महीने पहले)

बैठक के बाद किसान नेता ने क्या कहा

Posted by :- Devang Gautam

किसान नेता शिव कुमार कक्का ने कहा कि लंच ब्रेक से पहले किसान नेताओं ने कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग रखी. सरकार ने कहा कि वो संशोधन के लिए तैयार है. मंत्रियों ने किसान नेताओं से प्रस्ताव पर विचार करने के लिए कहा. वहीं, हमने सरकार से हमारे प्रस्ताव पर विचार करने को कहा. इसके बाद मंत्री बैठक छोड़कर चले गए. 


 

5:11 PM (एक महीने पहले)

कृषि मंत्री बोले- सरकार इससे बेहतर नहीं कर सकती

Posted by :- Devang Gautam

कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि कृषि कानूनों पर सरकार डेढ़ साल तक रोक लगाने के लिए तैयार है. इससे बेहतर प्रस्ताव सरकार नहीं दे सकती. नरेंद्र तोमर ने कहा कि अगर किसान बातचीत करने को तैयार हैं तो ये कल भी हो सकती है लेकिन विज्ञान भवन कल खाली नहीं है. कृषि मंत्री ने बातचीत के लिए किसानों का धन्यवाद किया.

5:05 PM (एक महीने पहले)

बैठक में सरकार का कड़ा रुख

Posted by :- Devang Gautam

किसान संगठनों और सरकार के बीच बैठक खत्म हो गई है. आज की बैठक में कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि हमने जो प्रस्ताव दिया है वह आपके हित के लिए है. इससे बेहतर हम कुछ नहीं कर सकते. अगर आप का विचार बने एक बार सोच लीजिए. हम फिर मिलेंगे, लेकिन अगली कोई तारीख तय नहीं की गई.

4:55 PM (एक महीने पहले)

ब्रेक के बाद बैठक शुरू

Posted by :- Devang Gautam

ब्रेक के बाद सरकार और किसान संगठनों के बीच बैठक शुरू हो गई है. दोनों पक्षों के बीच ये बैठक दिल्ली के विज्ञान भवन में हो रही है. कृषि कानून के मुद्दे पर सरकार और किसानों के बीच ये 11वें दौर की वार्ता है. किसान तीनों कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग पर अड़े हैं तो वहीं सरकार कानूनों में संशोधन का प्रस्ताव किसानों के सामने रख चुकी है. इसके अलावा डेढ़ साल तक कृषि कानूनों पर रोक का भी प्रस्ताव सरकार ने किसानों को दिया था, जिसे ठुकरा दिया गया. 

4:11 PM (एक महीने पहले)

कृषि कानूनों की वापसी पर अड़े हैं किसान

Posted by :- Devang Gautam

किसान संगठनों ने सरकार के प्रस्ताव पर कहा कि हमें ये स्वीकार नहीं हैं. हम तीनों कानूनों के वापसी के बिना आंदोलन को खत्म नहीं करेंगे.
 

3:14 PM (एक महीने पहले)

किसानों ने फिर ठुकरा दिया प्रस्ताव

Posted by :- Mohit Grover

किसानों और सरकार के बीच बैठक लगातार चल रही है. किसान संगठनों ने एक बार फिर सरकार के कानून टालने वाले प्रस्ताव को ठुकरा दिया है और तीनों कानून की वापसी की मांग कर रहे हैं.

1:48 PM (एक महीने पहले)

सरकार ने किसानों से फिर विचार करने को कहा

Posted by :- Mohit Grover

किसानों के साथ बैठक में सरकार ने अपील की है कि संगठन एक बार फिर सरकार के प्रस्ताव पर चर्चा करें. अभी बैठक में ब्रेक हुआ है, ऐसे में किसान संगठन इस प्रस्ताव पर फिर चर्चा करने में जुटे हैं. किसानों ने इस दौरान विज्ञान भवन में ही लंच किया. 

12:46 PM (एक महीने पहले)

किसान आंदोलन पर उमा भारती का बयान

Posted by :- Mohit Grover

किसान आंदोलन को लेकर बीजेपी नेता उमा भारती का बयान आया है. उमा भारती का कहना है कि किसानों और सरकार को मिलकर बात करनी चाहिए. जैसा 1989 में हुआ था. किसी भी पक्ष के लिए ईगो रखना ठीक नहीं है.

12:23 PM (एक महीने पहले)

किसान संगठनों और सरकार में वार्ता जारी

Posted by :- Mohit Grover

किसान संगठनों और केंद्र सरकार के बीच 11वें दौर की वार्ता शुरू हो गई है. विज्ञान भवन में ये वार्ता हो रही है. सरकार की ओर से कानून टालने का प्रस्ताव रखा गया है, जिसे किसानों ने ठुकरा दिया है. किसान नेता राकेश टिकैत का कहना है कि किसान ट्रैक्टर रैली जरूर निकालेंगे, हम तिरंगे के साथ रैली निकाल रहे हैं ऐसे में इसपर इजाजत क्यों नहीं दी जा रही है. 

11:08 AM (एक महीने पहले)

वार्ता करने के लिए निकले किसान

Posted by :- Mohit Grover

किसान संगठनों और सरकार के बीच अब से कुछ देर में चर्चा होनी है. किसान नेता सिंघु बॉर्डर से निकल चुके हैं. बैठक से पहले किसान नेताओं का कहना है कि वो अपना आंदोलन जारी रखेंगे और कानून वापस होने से पहले नहीं हटेंगे. किसान अब भी दिल्ली में ट्रैक्टर रैली निकालने पर अड़े हैं. शुक्रवार को पहले किसान संगठनों और सरकार के बीच बैठक होगी और उसके बाद पुलिस-किसानों के बीच ट्रैक्टर रैली को लेकर बैठक होगी. 

9:44 AM (एक महीने पहले)

आंदोलन रहेगा जारी: किसान नेता

Posted by :- Mohit Grover

आंदोलन को लेकर किसान नेता श्रवण सिंह ने बयान दिया है कि हमारा प्रदर्शन जारी रहेगा, साथ ही गणतंत्र दिवस के दिन ट्रैक्टर रैली भी निकलेगी. हम देश के हर राज्य के किसानों से अपील करते हैं कि वो इसमें शामिल हो. बीजेपी की ओर से लगातार आंदोलन को बदनाम करने की कोशिश की जा रही है. लोग आंदोलन में घुसकर माहौल को बिगाड़ सकते हैं, ताकि आंदोलन को तोड़ सकें.

8:16 AM (एक महीने पहले)

ट्रैक्टर रैली को लेकर विवाद

Posted by :- Mohit Grover


गणतंत्र दिवस के मौके पर किसान संगठनों ने दिल्ली में ट्रैक्टर रैली निकालने की बात कही है. हालांकि, दिल्ली पुलिस ने इसकी इजाजत नहीं दी है. बीते दिन पुलिस-किसानों में हुई बैठक बेनतीजा रही. किसान दिल्ली की रिंग रोड पर रैली निकालने को अड़े हैं, पुलिस किसानों को केएमपी एक्सप्रेसवे का ऑप्शन दे रही है. ऐसे में आज फिर होने वाली बैठक में इसपर कोई निर्णय निकलने की संभावना है.

8:15 AM (एक महीने पहले)

क्या मानेंगे किसान संगठन?

Posted by :- Mohit Grover

शुक्रवार दोपहर 12 बजे विज्ञान भवन में किसान संगठन और सरकार के मंत्री एक बार फिर बातचीत के टेबल पर होंगे. सरकार ने पिछले बैठक में कृषि कानूनों को डेढ़ साल तक टालने का प्रस्ताव दिया था. हालांकि, बीते दिन किसान संगठनों ने अपनी बैठक में निर्णय किया है कि वो इस प्रस्ताव को नहीं मानेंगे और तीनों कानून वापसी तक आंदोलन जारी रखेंगे. कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने बीते दिन गृह मंत्री अमित शाह से भी इस मसले पर चर्चा की.