scorecardresearch
 

दिल्ली दंगाः शरजील-उमर के खिलाफ चार्जशीट दाखिल, कोर्ट बोला-केस चलाने के पर्याप्त दस्तावेज

दिल्ली दंगों के मामले में शरजील इमाम और उमर खालिद की गिरफ्तारी काफी बाद में हुई, इसीलिए इस मामले में दिल्ली पुलिस की तरफ से सप्लीमेंट्री चार्जशीट अब दाखिल की गई है.

कड़कड़डूमा कोर्ट ने लिया संज्ञान (सांकेतिक फोटो) कड़कड़डूमा कोर्ट ने लिया संज्ञान (सांकेतिक फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • कड़कड़डूमा कोर्ट ने संज्ञान ले लिया है
  • सप्लीमेंट्री चार्जशीट पर संज्ञान लिया गया
  • स्क्रूटनी के लिए 22 दिसंबर की डेट तय

दिल्ली दंगा मामले में शरजील इमाम और उमर खालिद के खिलाफ दाखिल सप्लीमेंट्री चार्जशीट पर मंगलवार को कड़कड़डूमा कोर्ट ने संज्ञान ले लिया है. शरजील इमाम और उमर खालिद को लेकर दाखिल की गई 930 पन्नों की इस सप्लीमेंट्री चार्जशीट पर संज्ञान लेते हुए कोर्ट ने कहा कि पुलिस की तरफ से दाखिल की गई इस चार्जशीट में दोनों आरोपियों पर केस चलाने के लिए पर्याप्त दस्तावेज हैं.

दिल्ली दंगों के मामले में शरजील इमाम और उमर खालिद की गिरफ्तारी काफी बाद में हुई, इसीलिए इस मामले में दिल्ली पुलिस की तरफ से सप्लीमेंट्री चार्जशीट अब दाखिल की गई है.

शरजील इमाम और उमर खालिद दोनों आरोपियों की तरफ से इस मामले में कोर्ट में चार्जशीट की कॉपी देने के लिए भी अर्जी लगाई गई थी, जिस पर कोर्ट ने स्पेशल सेल को निर्देश दिया है कि वो 2 दिसंबर को दोनों आरोपियों के वकील को चार्जशीट की सॉफ्ट कॉपी सौंप दे. कड़कड़डूमा कोर्ट की तरफ से चार्जशीट पर स्क्रूटनी के लिए 22 दिसंबर की डेट तय की गई है.

दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने दिल्ली हिंसा मामले में खालिद और शरजील इमाम के खिलाफ UAPA के तहत सप्लीमेंट्री चार्जशीट कड़कड़डूमा कोर्ट की विशेष अदालत में दायर की है. इस चार्जशीट में दिल्ली पुलिस ने सिलसिलेवार ढंग से बताया है कि इन दोनों की भूमिका दिल्ली में दंगा कराने वाले मास्टरमाइंड की थी. इस चार्जशीट में बताया गया है कि 300 बांग्लादेशी महिलाओं को दंगा कराने के लिए इस्तेमाल किया गया ,जिन्हें इससे पहले शाहीन बाग के प्रदर्शन के लिए लाया गया था.

15 लोगों के खिलाफ दिल्ली दंगों के मामले में दिल्ली पुलिस ने 17,500 पन्नों की पहली चार्जशीट दो महीने पहले दायर की थी. इसमें ताहिर हुसैन, सफूरा जरगर, गुलफिशा खातून, देवांगना कालिता, शफा-उर-रहमान, आसिफ इकबाल तन्हा, नताशा नरवाल, अब्दुल खालिद सैफी, इशरत जहां, मीरान हैदर, शादाब अहमद, तल्सीम अहमद, सलीम मलिक और अतहर खान बतौर आरोपी शामिल हैं. 

नताशा अग्रवाल और देवांगना कलिता जैसे आरोपियों को इस मामले में जहां जमानत मिल चुकी है, वहीं कोर्ट ताहिर हुसैन की जमानत अर्जी चार बार खारिज कर चुका है. ताहिर हुसैन को भी दिल्ली पुलिस ने अपनी चार्जशीट में दिल्ली दंगों को कराने का मास्टरमाइंड बताया है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें