scorecardresearch
 

SAFAR का दावा महज 2 दिनों में दिल्ली के प्रदूषण में पराली का योगदान 19% तक बढ़ा

केंद्र सरकार के SAFAR वेबसाइट की ओर से जारी आंकड़ों के अनुसार, पंजाब और हरियाणा में पराली जलाने की घटनाओं की वजह से गुरुवार को दिल्ली-एनसीआर में वायु प्रदूषण में 6 प्रतिशत का योगदान रहा. इससे एक दिन पहले यह हिस्सा महज 1 प्रतिशत था, और पिछले तीन दिनों में 3 प्रतिशत रहा.

दिल्ली में खराब होता जा रहा हवा का स्तर (सांकेतिक-पीटीआई) दिल्ली में खराब होता जा रहा हवा का स्तर (सांकेतिक-पीटीआई)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • पंजाब-हरियाणा में कल से पराली जलाने की संख्या में वृद्धि
  • 15 अक्टूबर को पराली जलाने का योगदान सिर्फ 6 फीसदी था
  • पराली जलाने की करीब 740 मामले सामने आए- SAFAR
  • नौ महीने गुजर गए, अब तक कितने स्मॉग टावर लगे- BJP

दिल्ली की आबोहवा खराब होती जा रही है. राजधानी में गिरते प्रदूषण के स्तर पर एक ओर जमकर बयानबाजी हो रही है तो दूसरी ओर केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (CPCB) की वेबसाइट SAFAR द्वारा मैप किए गए आंकड़ों के अनुसार, दिल्ली के प्रदूषण में पराली का योगदान आज शनिवार तक 19% तक बढ़ गया है. इस तरह इसमें 13% तक की वृद्धि हुई है.

SAFAR की ओर से जारी आंकड़ों में कहा गया, “पड़ोसी राज्यों पंजाब और हरियाणा के कई क्षेत्रों में कल से पराली जलाने की घटनाओं में वृद्धि देखी गई है. SAFAR ने अनुमान लगाया कि आग लगाने की घटना 822 तक पहुंच गई है. जबकि परिवहन और हवा की दिशा अनुकूल है और पीएम 2.5 में दिन में पराली का योगदान करीब 19% की वृद्धि का अनुमान है."

देखें: आजतक LIVE TV

15 अक्टूबर को दिल्ली-एनसीआर की वायु गुणवत्ता में प्रदूषण के लिए पराली का योगदान महज 6% था. केंद्र सरकार के SAFAR वेबसाइट की ओर से जारी आंकड़ों के अनुसार, पंजाब और हरियाणा में पराली जलाने की घटनाओं की वजह से गुरुवार को दिल्ली-एनसीआर में वायु प्रदूषण में 6 प्रतिशत का योगदान रहा. इससे एक दिन पहले यह हिस्सा महज 1 प्रतिशत था, और पिछले तीन दिनों में 3 प्रतिशत रहा.

लेकिन गुरुवार को हरियाणा, पंजाब और राष्ट्रीय राजधानी की सीमा वाले क्षेत्रों में पराली जलाने की घटनाओं में वृद्धि हो गई. SAFAR के अनुसार, पराली जलाने की करीब 740 मामले सामने आए.

दिल्ली में कितने स्मॉग टावर लगेः बीजेपी
इस बीच भारतीय जनता पार्टी की प्रवक्ता नुपूर शर्मा ने कहा कि अक्टूबर-नवंबर के महीने में हर साल वायु प्रदूषण होता है. हमें यह स्वीकार करना होगा कि जिस हवा में हम सांस लेते हैं उसमें वायु प्रदूषण की समस्या है जिससे हम सभी को निपटना होगा. इसका मतलब एक-दूसरे पर आरोप लगाना नहीं है.

बीजेपी प्रवक्त ने कहा कि परसो केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने आपको बताया कि पराली जलाने का हर रोज का आंकड़ा बदलता है. उन्होंने आपको एक ओवरऑल औसत बताया 4%. उसके रेस्पोंस में दिल्ली सरकार ने 1 नवंबर 2019 का एक आंकड़ा उठाकर दे दिया.

उन्होंने कहा कि दिल्ली सरकार ने इस साल 65 हजार करोड़ रुपये का बजट अनाउंस किया है और उसमें मात्र 52 करोड़ रुपये ही एनवायरमेंट डिपार्टमेंट को अलॉट किए गए हैं. बीजेपी प्रवक्ता ने कहा कि आज के एक बड़े अखबार में खबर आई है कि बुधवार को दिल्ली एनसीआर के वायु प्रदूषण में पराली जलने से होने वाले प्रदूषण का हिस्सा PM2.5 1% था, वही बृहस्पतिवार को 6% और शुक्रवार को 18% था.

नुपूर शर्मा ने दिल्ली की अरविंद केजरीवाल सरकार पर हमला करते हुए कहा कि पिछले साल दिल्ली में कंस्ट्रक्शन पर सर्वोच्च न्यायालय ने बैन लगाया था और आप ने नहीं लगाया. दिसंबर 2019 को सर्वोच्च न्यायालय ने दिल्ली सरकार को कहा था कि 3 महीने के अंदर स्मॉग टावर लगाइए, अब नौ महीने से ज्यादा समय हो गया है फिर भी कितने स्मॉग टावर लगे. 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें