scorecardresearch
 

बच्चों की कोवैक्सीन का रास्ता साफ, लेकिन बरती जाएगी ये सतर्कता, जानिए क्या रहे हैं ट्रायल के नतीजे

सरकार से जुड़े सूत्रों का कहना है कि बच्चों की वैक्सीन अभी एक और कमेटी में जाएगी. बच्चों का मामला है इसलिए एक्सपर्ट ही इसको फाइनल करेंगे.

बच्चों के लिए कोवैक्सीन को लेकर मंजूरी का इंतजार बच्चों के लिए कोवैक्सीन को लेकर मंजूरी का इंतजार
स्टोरी हाइलाइट्स
  • मंजूरी के लिए सब्जेक्ट एक्सपर्ट कमेटी कर चुकी है सिफारिश
  • बच्चों का मामला है इसलिए एक्सपर्ट ही फाइनल करेंगेः सूत्र
  • अब तक 22 देशों ने कोवैक्सीन को लेकर अपनी अनुमति दे दी

बच्चों को कोवैक्सीन (Covaxin) लगाए जाने को लेकर DCGI की मंजूरी का इंतजार है, लेकिन मंजूरी दिए जाने से पहले स्वास्थ्य मंत्रालय पूरी तरह से सतर्कता बरत रहा है. मंजूरी को लेकर ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया कुछ और चीजों पर विश्लेषण कर रहा है.

बच्चों के लिए कोवैक्सीन की मंजूरी दिए जाने को लेकर सरकार से जुड़े सूत्रों ने बताया कि 
सब्जेक्ट एक्सपर्ट कमेटी (SEC) ने सिफारिश की है. जबकि DCGI कुछ और विश्लेषण कर रहा है. इस संबंध में जब सीरो सर्वे किया गया तो 67 फीसदी में एंटीबॉडीज पाए गए.

सरकार से जुड़े सूत्रों का कहना है कि बच्चों की वैक्सीन अभी एक और कमेटी में जाएगी. बच्चों का मामला है इसलिए एक्सपर्ट ही इसको फाइनल करेंगे.

22 देशों में कोवैक्सीन की अनुमति

इस बीच कोवैक्सीन को लेकर देश दर देश लगातार अनुमोदन मिल रहा है. अब तक 22 देशों ने कोवैक्सीन को लेकर अपनी अनुमति दे दी है.

क्लिक करें --- Covaxin for Children: बच्चों की कोवैक्सीन को एक्सपर्ट पैनल की मंजूरी, DCGI की अप्रूवल का अभी इंतजार

अभी तक कुल 12 देशों में कोवैक्सीन के इस्तेमाल की अनुमति के लिए ईयूएल (आपात उपयोग की सूची) दिया गया है. ईयूएल देने वाले देश हैं भारत के अलावा ईरान, गुयाना, निकारागुआ, मॉरिशक, पैराग्वे, नेपाल, वेनेजुएला, जिंबाव्वे, मैक्सिको, फिलीपिंस और बोत्सवाना. सरकार से जुड़े सूत्रों का कहना है कि WHO कोवैक्सीन के लिए जल्द ही ईयूएल जारी करेगा.

इनके अलावा कई अन्य देशों ने यात्रा के लिए कोवैक्सीन सर्टिफिकेट को मंजूरी दे दी है. कोवैक्सीन लगाने वाले को लेकर यात्रा करने की अनुमति देने वाले देश हैं हंगरी, जर्मनी, एस्टोनिया, ग्रीस, बेलारूस, लेबनान और सर्बिया. इस सूची में हर दिन वृद्धि हो रही है.

इस बीच सरकार से जुड़े सूत्रों ने बताया कि अक्टूबर महीने में देश में कुल 28 करोड़ वैक्सीन के डोज तैयार होंगे. जिसमें 28 करोड़ कोविशिल्ड, 6 करोड़ कोवैक्सीन और 60 लाख डीएनए वैक्सीन शामिल होंगे.

अभी तक देश में वैक्सीनेशन अभियान तेजी से चल रहा है. करीब 73% लोगों को पहला डोज दे दिया गया है तो 30 फीसदी को दूसरा डोज दिया जा चुका है. अभी 8 करोड़ वैक्सीन स्टाक में हैं. 17 अक्टूबर या 18 अक्टूबर तक देश में 100 करोड़ वैक्सीन डोज लग जाएगी.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें