scorecardresearch
 

कोरोना: नए वेरिएंट ने बढ़ाई टेंशन, पीएम मोदी ने अधिकारियों के साथ की बैठक

पीएम मोदी की ओर से कोरोना को लेकर बुलाई गई इस उच्च स्तरीय बैठक में कैबिनेट सेक्रेटरी राजीव गौबा के साथ ही कई अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी शामिल रहे.

X
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (फाइल फोटोः पीटीआई) प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (फाइल फोटोः पीटीआई)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • कोरोना के हालात को लेकर पीएम मोदी की बैठक
  • कई वरिष्ठ अधिकारी पीएम मोदी के साथ बैठक में

देश के कई इलाकों में कोरोना संक्रमण के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं. कोरोना के नए वेरिएंट ओमिक्रोन ने भी दुनियाभर के देशों की चिंता बढ़ा दी है. इन सभी हालात के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार को उच्च स्तरीय बैठक की. पीएम मोदी कोरोना के ताजा हालात और देश में वैक्सीनेशन को लेकर आला अफसरों के साथ ये बैठक की है.

पीएम मोदी की ओर से कोरोना को लेकर बुलाई गई इस उच्च स्तरीय बैठक में कैबिनेट सेक्रेटरी राजीव गौबा के साथ ही कई अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी शामिल रहे. प्रधानमंत्री के प्रिंसिपल सेक्रेटरी पीके मिश्रा, स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण और नीति आयोग के सदस्य डॉक्टर वीके पॉल भी इस बैठक में थे.

कोरोना के नए वेरिएंट को लेकर राज्यों में भी चिंता बढ़ने लगी है. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने अपील की है कि कोरोना के नए वेरिएंट से प्रभावित देशों की फ्लाइट्स पर रोक लगाई जाए. केजरीवाल ने ट्वीट कर कहा है कि बड़ी समस्याओं से जूझते हुए हमारे देश ने कोरोना से पार पाया है. हमें नए वेरिएंट को भारत में प्रवेश करने से रोकने के लिए हर जरूरी कदम उठाने चाहिए.

वहीं, कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने भी इस वेरिएंट को लेकर चिंता जताई है. गुजरात में एयरपोर्ट पर विदेश से आने वाले लोगों के लिए आरटीपीसी-आर टेस्ट अनिवार्य कर दिया गया है. मुंबई में भी बीएमसी ने बैठक बुलाई है.

गौरतलब है कि पीएम मोदी ने बैठक ऐसे समय बुलाई है जब देश के स्कूल-कॉलेजों में भी कोरोना फैल रहा है. कर्नाटक, तेलंगाना, राजस्थान, ओडिशा समेत देश के अलग-अलग राज्यों से छात्रों और शिक्षकों के कोरोना की चपेट में आने की खबरें आ रही हैं. कोरोना के नए वेरिएंट ने भी दुनियाभर के देशों की चिंता बढ़ा दी है.

अमेरिका समेत कई देशों ने इंटरनेशनल फ्लाइट्स, खास तौर पर दक्षिण अफ्रीका की उड़ानों को लेकर सख्ती बरतने का ऐलान कर दिया है वहीं भारत इन्हें शुरू करने की तैयारी में है. एक दिन पहले ही नागर विमानन मंत्रालय ने करीब एक साल से ठप इंटरनेशनल उड़ान सेवा 15 दिसंबर से शुरू करने का ऐलान किया था. कोरोना से बचाव के लिए वैक्सीन की दोनों डोज लगवाने के बाद भी लोग संक्रमण की चपेट में आ रहे हैं. इससे भी सरकार की चिंता बढ़ गई है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें