scorecardresearch
 

'Pfizer और Moderna से बेहतर हैं भारतीय वैक्सीन्स', अदार पूनावाला का दावा

पहली स्वदेशी कोरोना वैक्सीन कोविशील्ड बनाने वाले सीरम इंस्टीट्यूट के सीईओ अदार पूनावाला ने दावा किया है कि भारतीय वैक्सीन्स, फाइजर और मॉडर्ना से बेहतर हैं.

X
अदार पूनावाला (फाइल फोटो) अदार पूनावाला (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • पूनावाला ने अमेरिका का दिया उदाहरण
  • कहा- वैक्सीन की मांग में आई है कमी

अदार पूनावाला ने दावा किया है कि कोरोना वायरस के खिलाफ भारतीय वैक्सीन, फाइजर (Pfizer) और मॉडर्ना (Moderna) जैसी विदेशी वैक्सीन की तुलना में बेहतर हैं. कोरोना वायरस की महामारी के खिलाफ जंग में पहली स्वदेशी वैक्सीन कोविशील्ड बनाने वाले सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के सीईओ अदार पू्नावाला ने बुधवार को ये दावा किया.

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, सीरम इंस्टीट्यूट के सीईओ अदार पूनावाला ने ये दावा किया है कि मेड इन इंडिया वैक्सीन्स फाइजर और मॉडर्ना जैसी वैक्सीन्स की तुलना में कोरोना वायरस से बचाव के लिए अधिक सुरक्षा प्रदान कर रही हैं. उन्होंने कहा कि ये अच्छा है कि फाइजर और मॉडर्ना को भारत में इस्तेमाल की इजाजत नहीं दी गई है.

अदार पूनावाला ने अपनी बात के समर्थन में अमेरिका का उदाहरण दिया. उन्होंने कहा कि अमेरिका जैसे देश में लोग दूसरी और तीसरी बूस्टर डोज लेने के बाद भी बड़ी तादाद में कोरोना के मामले सामने आ रहे हैं लेकिन भारत में हमारी वैक्सीन्स लोगों को कोरोना से बेहतर सुरक्षा प्रदान कर रही हैं. सीरम इंस्टीट्यूट के सीईओ ने कोविशील्ड वैक्सीन के निर्यात को लेकर भी बात की.

उन्होंने निर्यात को लेकर एक सवाल के जवाब में कहा कि भारत ने इसे 80 से अधिक देशों को निर्यात किया है. कोविशील्ड की 10 करोड़ के करीब डोज विदेश भेजी जा चुकी हैं. अदार पूनावाला ने कहा कि अब कोरोना केस में गिरावट की वजह से कोरोना वैक्सीन की मांग में कमी आई है. गौरतलब है कि कोरोना वायरस के खिलाफ जंग में सीरम इंस्टीट्यूट ने ही पहली स्वदेशी वैक्सीन बनाई थी.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें