scorecardresearch
 

राहुल गांधी का वार- राज्यों को देने के लिए GST का पैसा नहीं, लेकिन प्लेन खरीद रहे PM

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने आरोप लगाया कि पहले केंद्र सरकार ने राजस्व देने का वादा किया, लेकिन जब अर्थव्यवस्था ठप हो गई तो अब केंद्र अपने वादे से मुकर रहा है.

X
कांग्रेस नेता राहुल गांधी (PTI) कांग्रेस नेता राहुल गांधी (PTI)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • जीएसटी के मसले पर हमलावर राहुल गांधी
  • केंद्र ने नहीं दिया राज्यों का हिस्सा: राहुल
  • अपने लिए प्लेन खरीद रहे हैं पीएम: राहुल

कांग्रेस नेता राहुल गांधी की ओर से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला जारी है. सोमवार को केंद्र द्वारा राज्यों को दिए जाने वाले जीएसटी राजस्व को लेकर कांग्रेस नेता ने पीएम मोदी को घेरा. राहुल गांधी ने आरोप लगाया कि पहले केंद्र सरकार ने राजस्व देने का वादा किया, लेकिन जब अर्थव्यवस्था ठप हो गई तो अब केंद्र अपने वादे से मुकर रहा है. राहुल गांधी ने अपने ट्वीट में कुछ प्वाइंट समझाते हुए, केंद्र को घेरा. 

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने लिखा कि आपके मुख्यमंत्री आपका भविष्य नरेंद्र मोदी के पास क्यों गिरवी रख रहे हैं? राहुल ने अपने ट्वीट में इन बातों को उठाया... 

•    केंद्र सरकार ने राज्यों से जीएसटी राजस्व देने का वादा किया.
•    कोरोना संकट और पीएम मोदी की वजह से अर्थव्यवस्था ठप हो गई.
•    पीएम मोदी ने 1.4 लाख करोड़ का टैक्स कट कॉरपोरेट को दिया, खुद के लिए 8400 करोड़ के दो प्लेन खरीदे.
•    अब केंद्र के पास राज्यों को देने के लिए पैसा नहीं है. 
•    वित्त मंत्री राज्यों को कहती हैं कि उधार लीजिए.


गौरतलब है कि जीएसटी पास होने के बाद केंद्र सरकार की ओर से राज्यों को जीएसटी कलेक्शन का हिस्सा देने की बात कही गई थी. लेकिन काफी वक्त तक कुछ राज्यों का कलेक्शन केंद्र के पास अटका रहा. उसके बाद जब कोरोना का संकट, जीडीपी में गिरावट आई तो ये संकट गहराता गया. 

अब जब राज्यों की ओर से केंद्र पर राजस्व देने का दबाव बनाया गया तो केंद्र की ओर से उधार लेने की बात कही गई, ताकि राज्य अपना खर्च चला सकें. इस मसले पर जीएसटी बैठक में रार हो चुकी है, कई राज्य केंद्र का विरोध कर चुके हैं. ऐसे में आने वाली कुछ जीएसटी काउंसिल की बैठकों में इस मसले पर आर-पार की जंग छिड़ सकती है. 

 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें