scorecardresearch
 

बॉर्डर विवाद सुलझाने के लिए 'डिनर डिप्लोमेसी', आज अमित शाह से मिलेंगे असम और मिजोरम के मुख्यमंत्री

असम और मिजोरम के बीच इस साल जुलाई में सीमा विवाद को लेकर हिंसा हुई थी. इस हिंसा में असम पुलिस के 5 जवान शहीद हो गए थे, जबकि एक नागरिक की भी मौत हुई थी. अब गुरुवार को असम और मिजोरम ने बार्डर पर बाड़ में वृद्धि करने का फैसला किया है.

मिजोरम के मुख्यमंत्री जोरामथांगा और असम के सीएम हिमंता बिस्वा सरमा मिजोरम के मुख्यमंत्री जोरामथांगा और असम के सीएम हिमंता बिस्वा सरमा
स्टोरी हाइलाइट्स
  • असम और मिजोरम के बीच जुलाई में हुआ था सीमा विवाद
  • सीमा पर फैली हिंसा में असम के 5 पुलिसकर्मी मारे गए थे

असम और मिजोरम के बीच इस साल जुलाई में सीमा विवाद को लेकर हिंसा हुई थी. इस हिंसा में असम पुलिस के 5 जवान और एक नागरिक मारा गया था. अब गुरुवार को असम और मिजोरम ने बार्डर पर बाड़ में वृद्धि करने का फैसला किया है. 

मिजोरम के मुख्यमंत्री जोरामथांगा ने असम के सीएम हिमंता बिस्वा सरमा से दिल्ली स्थित असम हाउस में मुलाकात की. दरअसल, हिमंता बिस्वा सरमा ने डिनर का आयोजन किया था. दोनों मुख्यमंत्रियों के बीच दो घंटे चली इस बैठक जोरामथांगा ने सौहार्दपूर्ण करार दिया. 

अधिकारियों के मुताबिक, गृह मंत्रालय के हस्तक्षेप के बाद दोनों मुख्यमंत्रियों ने अपने सीमा विवाद को सुलझाने के लिए मुलाकात की. असम और मिजोरम का 164 किमी लंबा बॉर्डर मिलता है.  जोरामथांगा ने डिनर के बाद बताया कि मुलाकात काफी अच्छी रही. हम भाइयों की तरह हैं. शुक्रवार को हम गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात करेंगे. हम बार्डर पर बाड़ में वृद्धि करने की कोशिश करेंगे. 

मुलाकात पर क्या बोले असम सीएम
असम सीएम  हिमंता बिस्वा सरमा ने कहा, उन्होंने डिनर का मजा लेने के अलावा किसी अन्य मुद्दे पर कोई बात नहीं की. हमने एक साथ डिनर का आनंद लिया क्योंकि हम अच्छे दोस्त हैं. हम कल गृह मंत्री से मिलेंगे. आज कुछ भी चर्चा नहीं हुई. जोरामथांगा ने कहा कि वे उम्मीद करते हैं कि इस तरह की कई और बैठकें होंगी. 

दोनों राज्यों के विवाद को सुलझाना चाहता है केंद्र
केंद्र असम और मिजोरम के बीच शांतिपूर्ण हल चाहता है. बताया जा रहा है कि केंद्रीय गृह मंत्री बार्डर मुद्दे को हल करने के लिए दोनों राज्यों के मुख्यमंत्रियों से लगातार संपर्क में हैं. 
 
26 जुलाई को हुई थी हिंसा
26 जुलाई को असम और मिजोरम बॉर्डर पर हिंसा फैली थी. मिजोरम पुलिस ने असम के पुलिसकर्मियों पर फायरिंग कर दी थी. इसमें असम के 5 पुलिसकर्मी और 1 नागरिक मारे गए थे. जबकि 50 अन्य घायल हुए थे. इसके बाद केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला ने दोनों राज्यों के मुख्य सचिव और डीजीपी की बैठक बुलाई थी. इसमें फैसला हुआ था कि विवादित सीमा पर सीआरपीएफ की तैनाती की जाएगी. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×