scorecardresearch
 

बंगाल: सीएम ममता का गवर्नर पर निशाना, कहा- उनका नाम हवाला केस में, वह भ्रष्ट आदमी हैं

ममता ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कहा कि आठवें चरण के मतदान के दौरान सूबे में कोरोना पॉजिटिविटी रेट 33 प्रतिशत था. अब यह केवल 3.3 प्रतिशत है. डिस्चार्ज रेट 97.6 प्रतिशत है. रोजाना नए मामलों की संख्या में तेजी से कमी आ रही है.

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी. (फाइल फोटो) पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी. (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • 15 जुलाई तक बढ़ाई गई कोरोना संबंधी पाबंदियां
  • बीजेपी और गवर्नर पर ममता ने साधा निशाना

पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने सोमवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान बंगाल के गवर्नर जगदीप धनखड़ पर निशाना साधा. सीएम ममता ने गवर्नर को भ्रष्ट कहा. ममता बनर्जी ने राज्यपाल को आड़े हाथों लिया. दार्जिलिंग से लौटे राज्यपाल जगदीप धनखड़ की यात्रा पर सवाल उठाते हुए उन्होंने कहा कि  राज्यपाल उत्तर बंगाल  क्यों गए थे और क्यों इतने सारे लोगों को अपने साथ लेकर गए थे. 

ममता के मुताबिक राज्यपाल दार्जिलिंग जाकर बीजेपी के एमपी, विधायक और उन लोगों से मुलाकात की जो राज्य को बांटना चाहते हैं . ममता ने कहा कि क्या वह एक आंदोलन खड़ा करना चाह रहे हैं. इसके बाद ममता बनर्जी ने कहा कि राज्यपाल जगदीप धनखड़ जैन हवाला मामले से जुड़े हुए थे. चार्जशीट में उनका नाम था और वह एक भ्रष्ट आदमी हैं.  ममता बनर्जी ने आज फिर राज्यपाल को हटाने की मांग की और कहा कि इससे पहले उन्होंने राज्यपाल को हटाने के लिए 3 चिट्ठियां लिखी हैं. ममता के मुताबिक राज्यपाल सरकारी अधिकारियों को धमकी दे रहे हैं. आखिर किस हैसियत से वह ऐसा कर रहे हैं.

दरअसल, दार्जिलिंग से लौटे राज्यपाल ने जीटीए यानी गोरखा टेरिटोरियल एडमिनिस्ट्रेशन के अकाउंट में गड़बड़ी का आरोप लगाया है और जीटीए के ऑडिट की रिपोर्ट मांगी है तथा जांच की बात कही है. राज्यपाल के मुताबिक हजारों करोड़ रुपये जीटीए के पास पहुंचने पर भी विकास नहीं दिखाई दे रहा और ऑडिट नहीं हो रहा है. यह अच्छी बात नहीं है. मैं जीटीए का ऑडिट सीएजी से कराऊंगा और भ्रष्टाचार को रोकने की जरूरत है. जो भी दोषी होंगे निश्चित रूप से दंडित किए जाएंगे. 

ममता बनर्जी ने बीजेपी पर निशाना साधते हुए  कहा कि बीजेपी केवल ईडी  और सीबीआई जानती है. अगर ये लोग जांच ही करना चाहते हैं तो यूपी में मिली लाशों और गुजरात में हुए वैक्सीन स्कैम के बारे में जांच करें. एनएचआरसी के मसले पर ममता ने कहा कि चुनाव के बाद बंगाल में हिंसा नहीं हुई है. बीजेपी साजिश कर रही है. यहां तक कि बीजेपी ने कुछ लोगों को एनएचआरसी के समक्ष भी भेजा था.

ममता ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान ऐलान किया कि सूबे में कोरोना संबंधी पाबंदियों को 15 जुलाई तक बढ़ा दिया गया है. हालांकि इस दौरान निजी और सरकारी बसों का संचालन जारी रहेगा. बसों में केवल 50 फीसदी लोग ही यात्रा कर सकेंगे. साथ ही सभी ड्राइवर और कन्डक्टर्स वैक्सीनेटेड होने चाहिए. सैलून  और ब्यूटी पार्लर को भी 50 फीसदी स्टाफ और सीटिंग कैपेसिटी के साथ खुलने की अनुमति दी गई है. सब्जी विक्रेताओं को सुबह 6 से 12 बजे  तक की अनुमति दी गई है. इसके अलावा बाजार 11 बजे सुबह से शाम के आठ बजे तक खुलेंगे. जिम को भी आधी क्षमता यानी 50 फीसदी के साथ खोलने की अनुमति है.

ममता ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कहा कि आठवें चरण के मतदान के दौरान सूबे में कोरोना पॉजिटिविटी रेट 33 प्रतिशत था. अब यह केवल 3.3 प्रतिशत है. डिस्चार्ज रेट 97.6 प्रतिशत है. रोजाना नए मामलों की संख्या में तेजी से कमी आ रही है. 2.12 करोड़ वैक्सीन  डोज दी जा चुकी है. सोशल डिस्टेंसिंग और मास्क अनिवार्य है. निजी और सरकारी दफ्तर केवल 50 क्षमता के साथ सुबह 10 बजे से शाम के चार बजे तक खुलेंगे. बैंक व अन्य आर्थिक संस्थान को पहले की तरह 10 बजे से दो बजे तक खोले जाने की अनुमति है. शादी में केवल 50 लोगों की मौजूदगी की अनुमति है. ट्रेन के परिचालन पर रोक है.

इसपर भी क्लिक करें- पश्चिम बंगाल में 32 हजार शिक्षकों की होगी भर्ती, मुख्यमंत्री ममता बनर्जी का बड़ा ऐलान

ममता ने कहा कि कुछ राजनीतिक पार्टियां डिजास्टर मैनेजमेंट एक्ट का पालन नहीं कर रही हैं. हम उनके खिलाफ कार्रवाई करेंगे.फर्जी कोरोना टीकाकरण  के मसले पर ममता बनर्जी ने कहा कि देबांजन देब धूर्त है. उसने ऐसा करने की हिम्मत कैसे की. ये लोग इंसान नहीं आतंकियों से भी बदतर हैं.  देबांजन को छोड़ा नहीं जाएगा. हमने इस मामले में जांच के लिए एसआईटी बनाई है. जो लोग भी इसमें शामिल हैं उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी.

ये भी पढ़ें-

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें