scorecardresearch
 

सर्वे: बंगाल में 'दीदी' की हैट्रिक, असम में बीजेपी की वापसी, जानें कहां किसकी बन रही सरकार

बंगाल समेत 4 राज्यों और एक केंद्र शासित प्रदेश के लिए विधानसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान हो गया है और अब सबको 2 मई को इंतजार है क्योंकि इसी दिन मतगणना होगी. सी-वोटर ओपिनियन पोल के जरिए यह जानने की कोशिश की गई कि बंगाल, असम, केरल, तमिलनाडु और पुडुचेरी में किसकी सरकार बनती दिख रही है.

क्या बंगाल में बीजेपी को जीत हासिल होगी (सांकेतिक-पीटीआई) क्या बंगाल में बीजेपी को जीत हासिल होगी (सांकेतिक-पीटीआई)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • चुनाव आयोग ने शुक्रवार को किया था चुनाव तारीखों का ऐलान
  • 2 मई को बंगाल और असम समेत 5 राज्यों में होगी मतगणना
  • एबीपी न्यूज और सी-वोटर का ओपिनियन पोल सर्वे

बंगाल समेत 4 राज्यों और एक केंद्र शासित प्रदेश के लिए विधानसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान हो गया है और अब सबको 2 मई को इंतजार है क्योंकि इसी दिन मतगणना होगी. हालांकि चुनाव के तारीखों के ऐलान के साथ ही चुनाव आचार संहिता भी लागू हो गई है और राजनीतिक दल मतदाताओं को लुभाने की कोशिशों में जुट गए हैं.

2 मई आने में अभी वक्त है लेकिन एबीपी न्यूज और सी-वोटर ओपिनियन पोल के जरिए यह जानने की कोशिश की गई कि बंगाल, असम, केरल, तमिलनाडु और पुडुचेरी में किसकी सरकार बनने के आसार हैं. ओपिनियन पोल के जरिए जानने की कोशिश करते हैं कि भारतीय जनता पार्टी, कांग्रेस, तृणमूल कांग्रेस समेत कई अन्य पार्टियों के लिए फिलहाल कैसी संभावना बनती दिख रही है.

पुडुचेरी में एनडीए को सत्ता!

सबसे पहले बात पुडुचेरी की. ओपिनियन पोल के अनुसार, 30 सीटों वाली पुडुचेरी विधानसभा में बीजेपी की अगुवाई वाले NDA को 46 प्रतिशत वोट मिलने की संभावना है तो कांग्रेस गठबंधन को 36 प्रतिशत वोट मिल सकते हैं. इस तरह से सीट के आधार पर देखें तो एनडीए को 17 से 21 सीट तो कांग्रेस गठबंधन को 8 से 12 सीट मिलने के आसार हैं.

केरल में फिर वाम मोर्चा की सरकार!

ओपिनियन पोल के जरिए अब केरल विधानसभा के बारे में जानते हैं. केरल में सीपीआई (एम) की अगुवाई वाली लेफ्ट डेमोक्रेटिक फ्रंट (एलडीएफ) के खाते में इस बार 83-91 सीटें जाने की संभावना है और कांग्रेस की अगुवाई वाली यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट (यूडीएफ) को 47 से 55 सीटों पर संतोष करना पड़ सकता है. वहीं बीजेपी के खाते में 0 से 2 सीटें जा सकती हैं. 

वोट प्रतिशत के आधार पर एलडीएफ को 40 फीसदी तो यूडीएफ को 33 फीसदी वोट मिल सकते हैं. बीजेपी को 13 फीसदी वोट मिलने का अनुमान है.

बात अब तमिलनाडु की

ओपिनियन पोल के मुताबिक तमिलनाडु में एआईएडीएमके गठबंधन को 29 प्रतिशत वोट मिल सकते हैं तो डीएमके गठबंधन को करीब 41 प्रतिशत वोट मिलने के आसार दिख रहे हैं. अन्य को करीब 30 प्रतिशत वोट मिल सकते हैं.

सीटों के आधार पर देखें तो तमिलनाडु में एआईएडीएमके गठबंधन को 58 से 66 सीटें तो डीएमके गठबंधन की इस बार सत्ता में वापसी हो रही है. डीएमके गठबंधन को 154 से 162 सीटें मिलने का अनुमान है. जबकि अन्य के खाते में महज 8 सीटें ही जा सकती हैं.

असम में क्या फिर से बनेगी बीजेपी की सरकार

ओपिनियन पोल के मुताबिक असम में बीजेपी गठबंधन के खाते में 42% वोट जाते दिख रहे हैं तो कांग्रेस गठबंधन को 31% वोट मिल सकते हैं. अन्य के खाते में 27 प्रतिशत वोट जाने की संभावना है. 

पोल के अनुसार, 126 सदस्यीय विधानसभा में बीजेपी गठबंधन के खाते में 68 से 76 सीटें जाने की उम्मीद है तो कांग्रेस गठबंधन को 43 से 51 सीटें ही मिल सकती हैं. असम में विधानसभा की 126 सीटें और सदन में बहुमत के लिए 64 सीटें चाहिए.

बंगाल के बारे में ओपिनियन पोल में क्या?

अब बात करते हैं पश्चिम बंगाल की. सीटों के आधार पर बात करें तो ममता बनर्जी की अगुवाई वाली टीएमसी एक बार फिर राज्य की सत्ता में लौटती दिख रही है. ओपिनियन पोल के मुताबिक टीएमसी को 148-164 सीटें मिल सकती हैं तो वहीं 200 पार का नारा लगाने वाली भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) को 92 से 108 सीटों से ही संतोष करना पड़ सकता है. सर्वे के मुताबिक कांग्रेस और लेफ्ट गठबंधन के खाते में 31-39 सीटें जा सकती हैं.

बंगाल की कुल 294 विधानसभा सीटों में वोट प्रतिशत के आधार पर देखें तो टीएमसी को 43% तो बीजेपी को 38% वोट मिल सकते हैं. तो वहीं कांग्रेस-लेफ्ट गठबंधन को महज 13% वोट ही मिलने के आसार हैं. जबकि बंगाल में 2016 में हुए विधानसभा चुनाव में टीएमसी ने 211, कांग्रेस-लेफ्ट ने 76, बीजेपी ने 3 और अन्य ने 2 सीट जीती थी.


 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें