scorecardresearch
 

कर्नाटक: बीएस येदियुरप्पा बोले- आलाकमान का भरोसा, अगले दो साल तक रहूंगा सीएम

पार्टी में सीएम येदियुरप्पा का विरोध तेज हो गया था. ऐसी अटकलें शुरू हो गई थीं कि पार्टी येदियुरप्पा को सीएम पद से हटा सकती है. लेकिन अब येदियुरप्पा खुद बोल चुके हैं कि वो सीएम पद पर बने रहेंगे.

कर्नाटक सीएम बीएस येदियुरप्पा (फाइल फोटो) कर्नाटक सीएम बीएस येदियुरप्पा (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • सीएम पद की अटकलों पर येदियुरप्पा ने दिया जवाब
  • येदियुरप्पा ने कहा कि पार्टी के भरोसे से बढ़ी जिम्मेदारी

कर्नाटक में चल रहे 'सियासी नाटक' के बीच सीएम बीएस येदियुरप्पा ने उन्हें हटाए जाने की अटकलों पर विराम लगा दिया है. सीएम ने कहा कि वो राज्य में अगले दो साल तक मुख्यमंत्री रहेंगे और अपना कार्यकाल पूरा करेंगे. सीएम ने शुक्रवार को कहा कि बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव अरुण सिंह के, उन्हें पद से हटाने को इनकार करने वाले बयान से और भी मजबूती मिली है. जिसके बाद अब वो अगले दो साल तक अपना कार्यकाल निर्बाध पूरा करेंगे. 

उन्होंने कहा कि बीजेपी हाईकमान के इस विश्वास से उनपर जिम्मेदारियां और भी ज्यादा बढ़ गयी हैं. दरअसल शुक्रवार को एक सवाल के जवाब में सीएम येदियुरप्पा ने कहा कि कर्नाटक प्रभारी अरुण सिंह ने कहा है कि नेतृत्व के परिवर्तन का कोई सवाल ही नहीं है. येदियुरप्पा अगले दो साल तक बने रहेंगे.  

कर्नाटक: आधा दर्जन बार उठ चुकी है येदियुरप्पा को हटाने की मांग, अब तक नहीं हिली कुर्सी

बता दें कि पार्टी में सीएम येदियुरप्पा का विरोध तेज हो गया था. ऐसी अटकलें शुरू हो गई थीं कि पार्टी येदियुरप्पा को सीएम पद से हटा सकती है. लेकिन अब येदियुरप्पा खुद बोल चुके हैं कि वो सीएम पद पर बने रहेंगे.

ऐसा पहली बार नहीं है कि कर्नाटक सीएम विवादों में हों, बल्कि बीएस येदियुरप्पा को लेकर कर्नाटक में अक्सर विवाद होते रहे हैं. मई 2018 में जब येदियुरप्पा को सीएम बनाया जा रहा था तब भी उनकी बढ़ती उम्र को लेकर उनका विरोध हुआ था. हालांकि, पार्टी ने इस बात को नजरअंदाज करते हुए येदियुरप्पा को ही सीएम बनाया. 

अभी जो विवाद शुरू हुआ है वो पिछले साल फंड एलोकेशन को लेकर हुई एक मीटिंग से शुरू हुआ है. पिछले साल जब विधानसभाओं में फंड एलोकेशन को लेकर एक इंटरनल मीटिंग हुई थी तो कुछ बीजेपी विधायकों ने सीएम येदियुरप्पा के खिलाफ जाकर बातें कही थीं. इसके बाद कैबिनेट विस्तार को लेकर भी सीएम के खिलाफ बगावत हुई. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें