scorecardresearch
 

त्रिपुरा: काफिले पर हुआ हमला तो बाबुल सुप्रियो बोले- पीठ में छुरा घोंपती है बीजेपी

सोशल मीडिया पर ट्वीट कर बाबुल सुप्रियो ने बताया है कि अगरतला में बीजेपी के लोगों ने उनके काफिले पर पत्थर फेंके और जब वे बाहर निकल उनसे सवाल-जवाब करने पहुंचे, तो सभी मौके से फरार हो लिए.

X
टीएमसी नेता बाबुल सुप्रियो टीएमसी नेता बाबुल सुप्रियो
स्टोरी हाइलाइट्स
  • बाबुल सुप्रियो के काफिले पर हमला
  • नेता ने बीजेपी पर लगाया आरोप
  • बोले- पीठ में छुरा घोंपती है बीजेपी

पश्चिम बंगाल के बाद अब त्रिपुरा में बीजेपी बनाम टीएमसी की जंग देखने को मिल रही है. वहां भी लंबे समय से राजनीतिक हिंसा का दौर देखने को मिल रहा है. अब टीएमसी नेता बाबुल सुप्रियो ने बीजेपी पर गंभीर आरोप लगाए हैं. त्रिपुरा दौरे पर गए सुप्रियो का आरोप है कि बीजेपी के लोगों ने उनके काफिले पर पत्थर फेंके.

सोशल मीडिया पर ट्वीट कर बाबुल सुप्रियो ने बताया है कि अगरतला में बीजेपी के लोगों ने उनके काफिले पर पत्थर फेंके और जब वे बाहर निकल उनसे सवाल-जवाब करने पहुंचे, तो सभी मौके से फरार हो लिए. सुप्रियो ने लिखा कि आज एक हिंसक भीड़ से मेरा सामना हुआ. मुझ पर पत्थर फेंके गए. जब अपनी गाड़ी से मैं उतरा तो वो सभी डरपोक की तरह वहां से भाग लिए. ये शर्म की बात है कि बीजेपी राजनीतिक हिंसा की बात करती है और खुद त्रिपुरा में वहीं करती भी दिख जाती है.

अब सुप्रियो यहीं पर नहीं रुके हैं. उन्होंने अपने अगले ट्वीट में बीजेपी को पीठ में छुरा घोंपने वाली पार्टी बता दिया दै. बीजेपी को खुली चुनौती देते हुए उन्होंने कहा है कि इस बार भाजपा आसनसोल को दोबारा जीत कर दिखा दे. बंगाल की आसनसोल सीट से बाबुल सुप्रियो ने बीजेपी को जीत दिलवाई थी. वे खुद वहां से सांसद रहे थे. लेकिन इस साल बाबुल ने बीजेपी से अपना वो पुराना नाता तोड़ दिया.

मोदी सरकार के दूसरे मंत्रिमंडल विस्तार के बाद ही बाबुल सुप्रियो ने राजनीति से संन्यास का ऐलान कर दिया था. इसके बाद सभी को चौंकाते हुए कुछ महीनों बाद सुप्रियो ने टीएमसी का दामन थाम लिया. अब अभी के लिए बाबुल त्रिपुरा में टीएमसी के लिए प्रचार कर रहे हैं. वहां पर बीजेपी सत्ता में जरूर है लेकिन टीएमसी से कड़ी टक्कर मिलती दिख रही है. 

टीएमसी आरोप लगा रही है कि बीजेपी त्रिपुरा में उनके बड़े नेताओं की रैली नहीं होने दे रही है. राजनीतिक हिंसा का आरोप भी लगातार लगाया जा रहा है. ऐसे में बंगाल के बाद त्रिपुरा में भी बीजेपी बनाम टीएमसी की ये जंग जोरदार दिखाई पड़ रही है.  

Stela Dey की रिपोर्ट

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें