scorecardresearch
 

अमित शाह का सीएम ममता पर हमला- बंगाल में होते हैं सबसे ज्यादा एसिड अटैक

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह मिशन बंगाल पर हैं. आज उनके दौरे का दूसरा दिन है. थोडी देर पहले वो दक्षिणेश्वर काली के दरबार में पहुंचे हैं. कल अमित शाह ने आदिवासी के घर भोजन किया था. आज अमित शाह ने मतुआ समुदाय के घर भोजन किया.

X
गृहमंत्री अमित शाह (फाइल फोटो- पीटीआई)
गृहमंत्री अमित शाह (फाइल फोटो- पीटीआई)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • बंगाल के दो दिवसीय दौरे पर अमित शाह
  • मतुआ परिवार में अमित शाह ने खाया खाना
  • शाह के बंगाल दौरे का आज दूसरा दिन

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह मिशन बंगाल पर हैं. आज उनके दौरे का दूसरा दिन है. थोडी देर पहले वो दक्षिणेश्वर काली के दरबार में पहुंचे हैं. कल अमित शाह ने आदिवासी के घर भोजन किया था. वहीं आज पश्चिम बंगाल में गृहमंत्री अमित शाह ने कोलकाता के गौरानगर में मतुआ समुदाय के सदस्य के घर खाना खाया. वहीं अमित शाह ने आज बीजेपी कार्यकर्ताओं से मुलाकात की और सांसदों से संवाद भी किया.

इस दौरान गृहमंत्री अमित शाह ने पश्चिम बंगाल की ममता बनर्जी सरकार पर भी हमला बोला. अमित शाह ने कहा कि पश्चिम बंगाल में सबसे ज्यादा एसिड अटैक होते हैं. अमित शाह ने कहा कि हमारा लक्ष्य स्पष्ट है कि बंगाल का विकास हो, देश की सीमाएं सुरक्षित हों, बंगाल के अंदर घुसपैठ रुके. टीएमसी और ममता बनर्जी का एकमात्र लक्ष्य है कि अगले टर्म में भतीजे को मुख्यमंत्री बना देना है. अब बंगाल की जनता को तय करना है कि परिवारवाद चाहिए या विकासवाद चाहिए.

इससे पहले केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह आज न्यूटाउन स्थित मतुआ समुदाय के मंदिर पहुंचे. इसके बाद उन्होंने मतुआ समुदाय के एक परिवार के घर खाना खाया. अमित शाह के स्वागत की जोरदार तैयारी भी की गई. मतुआ समुदाय की महिलाओं ने अमित शाह पर फूलों की बारिश की.

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह आज मतुआ समुदाय के नबीन बिस्वास के घर गए. इनके घर पर शाह ने खाना खाया. खाने के मेन्यु में चावल, रोटी, शुक्तो, मूंग दाल, तूर दाल, पनीर, चटनी और खीर थी. नबीन बिस्वास की पत्नी ने खाना बनाया था. खाने को केले के पत्ते पर परोसा गया.

देखें: आजतक LIVE TV

आपको बता दें कि नादिया और नॉर्थ 24 परगना जिले की 10 विधानसभा सीटों पर मतुआ समुदाय की जबरदस्त पकड़ है. यह समुदाय पलायन करके आया था. बताया जाता है कि पश्चिम बंगाल में मतुआ समुदाय के करीब 70 लाख शरणार्थी रहते हैं, जिन पर बीजेपी की नजर है. मिशन बंगाल के लिए बीजेपी को मतुआ समुदाय से बड़ी उम्मीद है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें