scorecardresearch
 

लोकसभा में उठा PM मोदी के ट्विटर अकाउंट हैक होने का मामला, अधीर रंजन चौधरी ने सरकार पर दागे सवाल

कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ट्विटर अकाउंट हैक होने का मामला लोकसभा में उठाया. उन्होंने पीएम के ट्विटर अकाउंट हैक होने को देश की सुरक्षा से जोड़ते हुए सरकार से स्पष्टीकरण की मांग की. 

X
पीएम का ट्विटर अकाउंट हैक होना देश की सुरक्षा का सवाल है- अधीर रंजन चौधरी पीएम का ट्विटर अकाउंट हैक होना देश की सुरक्षा का सवाल है- अधीर रंजन चौधरी
स्टोरी हाइलाइट्स
  • कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अधीर रंजन चौधरी ने उठाए सवाल
  • बोले- आम लोगों का ट्विटर हैंडल कैसे बचा पाएगी सरकार

कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ट्विटर अकाउंट हैक होने का मामला सोमवार को लोकसभा में उठाया. उन्होंने पीएम के ट्विटर अकाउंट हैक होने को देश की सुरक्षा से जोड़ते हुए इस मामले पर सरकार से स्पष्टीकरण की मांग की है. 

'PM का ट्विटर सुरक्षित नहीं, तो आम लोगों का क्या होगा'

कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने कहा है कि देश का सबसे सुरक्षित माना जाने वाला अकाउंट प्रधानमंत्री का होता है, लेकिन हमारे प्रधानमंत्री के अपने ट्विटर अकाउंट पर दिनदहाड़े हमला हो रहा है, डकैती हो रही है. उन्होंने सरकार से सवाल किया है कि अगर हमारे प्रधानमंत्री का ट्विटर हैंडल सुरक्षित ना रहे, तो हिंदुस्तान के आम लोगों का ट्विटर हैंडल कैसे बचा पाएंगे.  

उन्होंने आगे यह भी कहा, 'मुद्दा यह है कि जब हिंदुस्तान की सरकार क्रिप्टोकरंसी पर पाबंदी लगाने की कोशिश कर रही है, तो प्रधानमंत्री जी के ट्विटर हैंडल से यह पोस्ट किया जा रहा है कि भारत सरकार ने आधिकारिक रूप से क्रिप्टोकरंसी को कानूनी मान्यता दे दी है और सरकार भी 500 बिटकॉइन खरीदकर लोगों को बांट रही है.' 

'यह हमारे देश की सुरक्षा का मामला है'

अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि यह हमारे देश की सुरक्षा का मुद्दा है. मैं भारत सरकार का ध्यान इस तरफ आकर्षित करना चाहता हूं. मैं चाहता हूं कि सरकार सदन में बोले कि कैसे पिछले दो साल में, दो-दो बार प्रधानमंत्री का ट्विटर हैंडल हैक हुआ. हमारे हिंदुस्तान की सुरक्षा कैसे बचेगी. हमारे हिंदुस्तान की सुरक्षा आज खतरे में है. सरकार जवाब दे कि यह सब कैसे ये हुआ और क्यों हुआ? इस विषय पर सदन में स्पष्टीकरण दिया जाए. 

रात 2.11 बजे हुआ था अकाउंट हैक

बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का आधिकारिक ट्विटर हैंडल रविवार देर रात हैक हो गया था. रात 2 बजकर 11 मिनट पर इससे एक ट्वीट किया गया जिसमें दावा किया गया, 'भारत ने आधिकारिक रूप से बिटकॉइन को कानूनी मान्यता दे दी है और सरकार भी 500 बिटकॉइन खरीदकर लोगों को बांट रही है.' दो मिनट बाद ही इस ट्वीट को डिलीट कर दिया गया और फिर 2 बजकर 14 मिनट पर इसी तरह का एक और ट्वीट किया गया. कुछ देर बाद उस ट्वीट को भी डिलीट कर दिया गया, लेकिन तब तक स्क्रीनशॉट वायरल हो चुके थे. करीब घंटे भर बाद 3 बजकर 18 मिनट पर पीएमओ ने ट्वीट कर बताया कि पीएम नरेंद्र मोदी के ट्विटर हैंडल से छेड़छाड़ हुई थी. जिसे अब ठीक कर लिया गया है.

CERT-IN कर रही है जांच

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का ट्विटर अकाउंट हैक होने के बाद इसकी जांच के लिए सरकार लेटेस्ट टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल कर रही है. सूत्रों ने बताया कि CERT-IN को इस काम में लगाया गया है और वो हैकिंग के सोर्स का पता लगाने का कोशिश कर रही है. CERT-IN केंद्र सरकार की एजेंसी है जो मिनिस्ट्री ऑफ इलेक्ट्रॉनिक्स एंड इन्फोर्मेशन टेक्नोलॉजी के अधीन काम करती है. इसका काम भारत सरकार की हैकिंग और फिशिंग जैसे साइबर खतरों से निपटना है. ये एजेंसी भारतीय इंटरनेट डोमेन की सुरक्षा संबंधी काम भी देखती है.


 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें