scorecardresearch
 

टूलकिट केस में दिशा रवि को किस शर्त पर मिली जमानत? सुनिए 'आज का दिन'

किसान आंदोलन के दौरान उछले टूलकिट मामले में गिरफ्तार 21 साल की पर्यावरण एक्टिविस्ट दिशा रवि को ज़मानत मिल गई है. पटियाला हाउस कोर्ट ने उसे कल राहत दी.

दिशा रवि (फाइल फोटो-PTI) दिशा रवि (फाइल फोटो-PTI)

किसान आंदोलन के दौरान उछले टूलकिट मामले में गिरफ्तार 21 साल की पर्यावरण एक्टिविस्ट दिशा रवि को ज़मानत मिल गई है. पटियाला हाउस कोर्ट ने उसे कल राहत दी. कोर्ट ने दिशा को 1 लाख रुपये का निजी मुचलका जमा करने की शर्त पर जमानत दी थी जिसके बाद दिशा रात को तिहाड़ जेल से बाहर आयीं. उधर अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश धर्मेंद्र राणा ने जमानत पर सुनवाई के दौरान कहा कि लड़की का कोई आपराधिक इतिहास नहीं है, लिहाज़ा ज़मानत को ठुकराने का कोई तुक नहीं बनता. इसके अलावा कोर्ट के क्या ऑब्जरवेशन रहे, जिसकी बिनाह पर उन्हें जमानत मिली, बता रही हैं हमारी सहयोगी अनीशा माथुर.

कोरोना के केसे एक समय काम होते दिखाई दे रहे थे. माना भी जाने लगा कि कोरोना कंट्रोल में आ रहा है लेकिन जिस तरह से नए मामलों ने रफ्तार पकड़ी वो परेशान करनेवाला है. महाराष्ट्र के कुछ शहरों में तो प्रतिबंध लग गए है और केरल मध्यप्रदेश, पंजाब भी कम प्रभावित नहीं हैं. इन्हीं सब सिचुएशंस को देखते हुए कल पीएमओ ने कोरोना को लेकर इमरजेंसी मीटिंग बुलाई. क्या इस मीटिंग में डिस्कस हुआ बता रही हैं आजतक रेडियो की रिपोर्टर स्नेहा मोरदानी.

नेपाल पिछले कुछ महीनों से राजनीतिक अस्थिरता में है. सत्तारूढ़ पार्टी नेपाल कम्युनिस्ट पार्टी में दोफाड़ होने से ऐसा हुआ. एक के अगुवा हैं के पी शर्मा ओली और दूसरे के पुष्प कमल दहल प्रचंड. 20 दिसम्बर को ओली ने नेपाली संसद को भंग भी कर दिया था. इस फ़ैसले को कोर्ट तक लाया गया और रिज़ल्ट ये है कि नेपाली सुप्रीम कोर्ट ने प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली के संसद भंग करने के फ़ैसले को असंवैधानिक करार दिया है. अब आगे किस तरफ कहानी बढ़ेगी? जो नेपाल पहले ही राजनीतिक तौर पर अस्थिर था वहाँ सुप्रीम कोर्ट का ये फ़ैसला कैसा असर डालेगा. यबता रही हैं इंडिया टुडे टीवी की फॉरेन अफेयर्स एडिटर गीता मोहन.

अहमदाबाद के मोटेरा स्टेडियम में आज भारत और इंग्लैंड फिर भिड़ने जा रहे हैं. आलीशान स्टेडियम में डे-नाईट टेस्ट मैच खेला जाएगा. सीरीज़ का ये तीसरा मैच है. इससे पहले दो मैच चेन्नई में खेले गए थे और दोनों ही टीमें एक-एक मैच जीत चुकी हैं. अब यह देखना दिलचस्प होगा कि तीसरे टेस्ट में कौन सी टीम बाज़ी मारती है और चार टेस्ट मैचों की इस सीरीज में लीड लेती है. तो क्या टीम कॉम्बिनेशन रहने वाला है? टॉस कितना बड़ा फैक्टर हो सकता है? अश्विन और ईशांत शर्मा क्या रिकॉर्ड बनाने जा रहे हैं, इन सभी बातों का जवाब मिलेगा आपको कुमार केशव और खेल पत्रकार मोहम्मद इक़बाल की बातचीत में.


साथ ही आज की तारीख का इतिहास और अख़बार का हाल तो है ही. ये सब कुछ सिर्फ आधे घंटे के मॉर्निंग न्यूज़ पॉडकास्ट 'आज का दिन' में नितिन ठाकुर के साथ.

'आज का दिन' सुनने के लिए यहां क्लिक करें

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें