scorecardresearch
 

ओडिशा: मां के शव के पास 2 दिनों तक भूखी-प्यासी बैठी रही 3 साल की बच्ची

ओडिशा के बलांगिर जिले में दिल दहला देने वाली घटना ने स्थानीय लोगों की आंखों को नम कर दिया. एक तीन साल की बच्ची अज्ञानता में अपनी मरी हुई मां के शरीर के पास दो दिन तक भूखी-प्यासी बैठी रही.

X
बच्ची को लगा कि उसकी मां सो रही है बच्ची को लगा कि उसकी मां सो रही है
स्टोरी हाइलाइट्स
  • दो दिन तक मां के शव के साथ रही बच्ची
  • ससुराल वालों ने मां-बेटी को बेघर किया, अकेले रहती थी महिला
  • महिला अक्सर बीमार रहती थी, घरों में काम करके करती थी गुजारा

ओडिशा के बलांगिर जिले में दिल दहला देने वाली घटना ने स्थानीय लोगों की आंखों को नम कर दिया. तीन साल की बच्ची अज्ञानता में अपनी मरी हुई मां के शरीर के पास दो दिन तक भूखी-प्यासी बैठी रही. इस घटना की जानकारी स्थानीय पुलिस को मिलने पर घटनास्थल की जांच की गई. प्रारंभिक जांच में पता चला कि महिला की मौत करीब तीन दिन पहले हो गई थी.

कुन्नी नायक नाम की महिला अपनी बच्ची के साथ अकेली रहा करती थी. जानकारी के मुताबिक, करीब दो दिन बीते जाने के बाद, बच्ची ने देखा कि उसकी मां के मुंह से कीड़ा निकल रहा है. तभी बच्ची दौड़ कर अपने पड़ोसी के पास गई और उन्हें बुलाकर लाई. पड़ोस की महिला जब उसके घर पहुंची, तो उसे कुछ गंध महसूस हुई. कमरे में देखा तो पता चला कि बच्ची की मां जमीन पर मृत पड़ी है.

ससुराल वालों ने मां-बेटी को बेघर किया

स्थानीय लोगों के मुताबिक, कुन्नी नायक बहुत गरीबी में गुजारा कर रही थी. महिला को पति के घर पर प्रताड़ित किया जाता था. एक दिन ससुराल वालों ने महिला और उसकी तीन साल की बच्ची को घर से बाहर निकाल दिया. इस घटना के बाद, महिला के मायके वालों ने भी उसे अनदेखा कर दिया. महिला गरीबी की मार से दर-दर की ठोकरें खाने लगी. हालात ये हो गए कि वह अपनी बच्ची को दो वक्त की खाना भी नहीं दे पा रही थी. वह गांव के घरों में काम करके दिन गुजार रही थी. गांव में ही एक छोटे से घर में अपनी बच्ची के साथ रहती थी.

चाइल्ड हेल्प लाइन सेंटर में बच्ची

मीडिया से बातचीत में कुन्नी नायक के घर की मालकिन ने बताया कि करीब एक-ढेड़ साल पहले वह अपनी बच्ची के साथ एक कमरे में रहने के लिए आई थी. वह अक्सर बीमार रहा करती थी. माकान मालकिन ने कहा कि बच्ची को लगा कि मां सो रही है. इस घटना के बाद पड़ोसी ने बच्ची को खाना खिलाया. बच्ची अब पूरी तरह से स्वस्थ है. 

इस घटना की जानकारी मिलने पर लोगों से पूछताछ के बाद स्थानीय बाल कल्याण समिति एवं चाइल्ड लाइन के अधिकरियों ने बच्ची को चाइल्ड हेल्प लाइन सेंटर में रखा है. महिला के शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया गया है. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें