scorecardresearch
 

गठबंधन पर आर-पार: श‍िवसेना ने दिया आख‍िरी फॉर्मूला, उद्धव बोले- हमें नीचा दिखाने की कोश‍िश न करे BJP

महाराष्ट्र में बीजेपी-शिवसेना गठबंधन पर आर-पार की ठन गई है. विधानसभा चुनाव के लिए सीटों के बंटवारे को लेकर श‍िवसेना ने बीजेपी को आख‍िरी फॉर्मूला दिया है. इसके तहत शिवसेना 151 सीटों पर चुनाव लड़ेगी और बीजेपी को 119 सीटों पर चुनाव लड़ने को कहा गया है.

X
श‍िवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे श‍िवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे

महाराष्ट्र में बीजेपी-शिवसेना गठबंधन पर आर-पार की ठन गई है. विधानसभा चुनाव के लिए सीटों के बंटवारे को लेकर श‍िवसेना ने बीजेपी को आख‍िरी फॉर्मूला दिया है. श‍िवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे ने बीजेपी पर निशाना साधते हुए ये भी कहा, 'हमको बार-बार नीचा दिखाने की कोशिश ना की जाए और अगर ये खींचतान यूं ही जारी रहेगी तो सेना के शेर तैयार हैं.'हालांकि, बीजेपी ने शिवसेना के इस प्रस्ताव को खारिज कर दिया है. बीजेपी ने कहा है कि ये फैसला अव्यवहारिक है.

महाराष्ट्र में बीजेपी और शिवसेना के बीच सीटों के बंटवारे पर आज आर या पार का दिन है. बीजेपी और शिवसेना ने अलग-अलग बैठक बुलाई. बीजेपी नेता नई दिल्ली में पार्टी मुख्यालय पर राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह से मिलने पहुंचे. बैठक में राजीव प्रताप रूडी, ओम माथुर, विनोद तावड़े और देवेंद्र फडनवीस की बैठक हुई. शाम को दिल्ली में बीजेपी चुनाव समिति की मीटिंग भी होनी है.

इससे पहले मुंबई के रंग शारदा ऑडिटोरियम में शिवसेना कार्यसमिति की बैठक हुई. इसमें उद्धव ने बीजेपी को दो टूक शब्दों में कह दिया कि वो श‍िवसेना को नीचा दिखाने की कोशिश न करे. उद्धव ने कहा, 'लोकसभा चुनाव के वक्त हमने बीजेपी की बात मानी. संकट के वक्त बाला साहेब ने बीजेपी का साथ दिया था. ये हमारे अस्त‍ित्व की लड़ाई है.'

कार्यसमिति की बैठक में उद्धव ने नया फार्मूला दिया जिसके मुताबिक शिवसेना 151 सीटों पर चुनाव लड़ेगी और बीजेपी को 119 सीटों पर चुनाव लड़ने को कहा गया है. बाकी 18 सीटों को 4 अन्य सहयोगी दलों को देने का फॉर्मूला सुझाया गया है. नए फॉर्मूले की पेशकश पर उद्धव ने कहा कि ये गठबंधन बचाने की उनकी आखिरी कोशिश है. उद्धव ने बैठक में दिवंगत बीजेपी नेता गोपीनाथ मुंडे को भी याद किया. उन्होंने कहा कि मुंडे के रहते गठबंधन में सभी चीजें सामान्य तौर पर होती थीं.

उद्धव ठाकरे का बयान आने के बाद महाराष्ट्र बीजेपी के नेताओं ने दिल्ली में प्रेस कांफ्रेंस की. कहा गया कि गठबंधन में कोई आखिरी प्रस्ताव नहीं होता है. सीटों को लेकर टीवी चैनलों के जरिये नहीं, बल्कि आमने-सामने होनी चाहिए. बीजेपी ने यह भी कहा कि 25 साल पुराना गठबंधन टूटना नहीं चाहिए. लेकिन यह भी कहा कि ज्यादा सीटें जीतने वाली पार्टी का सीएम होना चाहिए.

बीजेपी ने पहले भी ठुकरा दिया था श‍िवसेना का फॉर्मूला
इससे पहले समाधान की कोशिशें कामयाब नहीं हो पाई हैं. महाराष्ट्र बीजेपी अध्यक्ष देवेंद्र फडणवीस और शिवसेना मुखिया उद्घव ठाकरे की बैठक बेनतीजा रही. बीजेपी ने शिवसेना का फॉर्मूला ठुकरा दिया और महाराष्ट्र बीजेपी अध्यक्ष ने देर रात उद्धव से मिलकर नाराजगी जताई. महाराष्ट्र बीजेपी अध्यक्ष ने उद्धव को बीजेपी कोर कमेटी का फैसला सुनाया और शिवसेना के प्रस्ताव को खारिज कर दिया.

नए फॉर्मूले में शिवसेना ने अपनी 14 सीटें घटाने का प्रस्ताव दिया था. यानी 169 सीटों के बजाए 155 सीटों पर चुनाव लड़ने की पेशकश की थी. जबकि बीजेपी को 126 सीटें दी गई थी. शिवसेना की छोड़ी गई 14 सीटों में से 7 सीटें बीजेपी के खाते में जाएंगी जबकि बाकी 7 सीटें स्वभिमानी शेतकारी संगठन को मिलेगा. आरपीआई को बीजेपी अपने कोटे की सीटें देंगी. ऐसा करने पर बीजेपी की अपनी सीट 119 से भी घट जाएगी.

गौरतलब है कि बीजेपी ने 2009 में 119 सीटों पर चुनाव लड़ा था. यही वजह है कि बीजेपी ने शिवसेना के फॉर्मूले को मानने से इनकार कर दिया है.

माना जा रहा है कि अब उद्धव ठाकरे से बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह की बात होगी और सीट बंटवारे में आए गतिरोध को दूर किया जाएगा. आज दिल्ली में बीजेपी संसदीय दल की बैठक भी होनी है जिसके बाद कोई अंतिम फैसला होगा.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें