scorecardresearch
 

टेस्ला के कर्नाटक जाने पर महाराष्ट्र में सियासत, MNS ने आदित्य ठाकरे पर साधा निशाना

फिलहाल दिग्गज कारोबारी एलन मस्क भारत में अपना कारोबार शुरू करने जा रहे हैं. उनकी इलेक्ट्रिक कार बनाने वाली कंपनी टेस्ला यहां लग्जरी इलेक्ट्रिक कारों का निर्माण और कारोबार करेगी. टेस्ला ने बेंगलुरु में रजिस्ट्रेशन कराया है. अब इसी पर महाराष्ट्र में राजनीति शुरू हो गई है.

पर्यटन मंत्री आदित्य ने अक्टूबर में टेस्ला को महाराष्ट्र आने का न्योता दिया था (फाइल-पीटीआई) पर्यटन मंत्री आदित्य ने अक्टूबर में टेस्ला को महाराष्ट्र आने का न्योता दिया था (फाइल-पीटीआई)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • टेस्ला कंपनी ने बेंगलुरु में रजिस्ट्रेशन कराया
  • अक्टूबर में आदित्य ठाकरे ने दिया था न्योता
  • MNS का आरोप, सिर्फ शब्द एक्शन नहीं

महाराष्ट्र में टेस्ला कंपनी को लेकर राजनीति शुरू हो गई है. एलन मस्क की इलेक्ट्रिक कार बनाने वाली कंपनी टेस्ला ने आधिकारिक रूप से बेंगलुरु में रजिस्ट्रेशन करा लिया है, लेकिन इस पर महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (MNS) ने राज्य की उद्धव ठाकरे सरकार पर जमकर निशाना साधा है.

खास बात यह है कि महाराष्ट्र के पर्यटन मंत्री आदित्य ठाकरे ने ट्वीट के जरिए अक्टूबर में टेस्ला को अपने यहां आने का न्योता दिया था. लेकिन टेस्ला ने बेंगलुरु में एक ऑफिस रजिस्टर्ड करा लिया है. हालांकि इस पर उद्धव ठाकरे सरकार को MNS की आलोचना का सामना करना पड़ रहा है. 

MNS नेता संदीप देशपांडे ने आदित्य ठाकरे के पिछले साल अक्टूबर में किए गए ट्वीट के स्क्रीन शॉट पर निशाना साधते हुए कहा, "टेस्ला कंपनी कर्नाटक भाग गई है. यह 'पेज 3 मंत्रियों के लिए' एक झटका है. महज शब्द कोई एक्शन नहीं."

आदित्य ठाकरे ने 22 अक्टूबर को ट्वीट कर कहा था. 'आज शाम मुझे उद्योग मंत्री सुभाष देसाई द्वारा टेस्ला टीम के साथ उन्हें महाराष्ट्र आमंत्रित करने के लिए एक वीडियो कॉल में शामिल होने का अवसर मिला. मैं सिर्फ निवेश के कारण नहीं बल्कि इलेक्ट्रिक मोबिलिटी और स्थिरता में दृढ़ विश्वास के कारण मौजूद था.'

महाराष्ट्र को झटका

महाराष्ट्र को पहले से ही घरेलू और विदेशी ऑटोमोबाइल निर्माताओं की मेजबानी करने के लिए घर जैसा माना जाता है. पुणे के करीब चाकन औद्योगिक बेल्ट को राज्य के एक प्रमुख ऑटोमोबाइल हब के रूप में जाना जाता है. ठाकरे इलेक्ट्रिक वाहनों को बढ़ावा देने के मामले में सबसे आगे रहे हैं और महाराष्ट्र में टेस्ला के निवेश करने से राज्य को बहुत फायदा होता. टेस्ला अधिकारियों के साथ अपनी बैठक के बाद, ठाकरे ने कहा था कि सरकार नीति निर्माण और सतत विकास के लिए प्रतिबद्ध है.

ठाकरे ने 22 अक्टूबर को एक ट्वीट में कहा था, 'हम सतत विकास के लिए नीति निर्माण और परिवर्तनों के लिए दृढ़ता से प्रतिबद्ध हैं और मैं व्यक्तिगत रूप से मानता हूं कि अक्षय ऊर्जा द्वारा समर्थित इलेक्ट्रिक मोबिलिटी, आगे का रास्ता है. आशा करते हैं कि हम इस विचार को जल्द ही मुख्यधारा में लाने में मदद कर सकते हैं.'

देखें: आजतक LIVE TV

फिलहाल दिग्गज कारोबारी एलन मस्क भारत में अपना कारोबार शुरू करने जा रहे हैं. उनकी इलेक्ट्रिक कार बनाने वाली कंपनी टेस्ला यहां लग्जरी इलेक्ट्रिक कारों का निर्माण और कारोबार करेगी. टेस्ला ने आधिकारिक रूप से कर्नाटक की राजधानी बेंगलुरु में रजिस्ट्रेशन कराया है. कंपनी का ऑफिस बेंगलुरु क्लब के सामने रिचमंड सर्कल जंक्शन पर स्थित है.

कॉर्पोरेट मामलों के मंत्रालय के अनुसार, टेस्ला इंडिया मोटर्स एंड एनर्जी प्राइवेट लिमिटेड 8 जनवरी को बेंगलुरु में पंजीकृत हुई. वैभव तनेजा, वेंकटरंगम श्रीराम और डेविड जॉन फेंस्टीन इसके निदेशक हैं. वैभव तनेजा टेस्ला में CFO बनाए गए हैं, जबकि जॉन फेंस्टीन टेस्ला में ग्लोबल सीनियर डायरेक्टर, ट्रेड मार्केट एक्सेस हैं. 


 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें