scorecardresearch
 

सुशांत पर शोर मचाने वाले सीबीआई के पूर्व निदेशक अश्विनी कुमार पर कुछ बोलें- शिवसेना

शिवसेना ने कहा कि सीबीआई के प्रमुख निदेशक पद पर काम कर चुका व्यक्ति निराश हो जाता है, जीवन में जैसे कुछ बचा ही न हो और जिंदगी से निराश होकर आत्महत्या कर लेता है, इस पर हम सारे लोग आंख बंद करके विश्वास कर लेते हैं, हम इससे सहमत नहीं हैं.

शिवसेना सांसद संजय राउत (फोटो-PTI) शिवसेना सांसद संजय राउत (फोटो-PTI)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • अश्विनी कुमार ने आत्महत्या क्यों की-शिवसेना
  • 'हिमाचल में रहने वाली अभिनेत्री को बोलना चाहिए'
  • सुशांत मामले पर शिवसेना ने मीडिया को घेरा

शिवसेना ने सीबीआई के पूर्व निदेशक अश्विनी कुमार की आत्महत्या को संदिग्ध बताते हुए सवाल उठाए हैं. शिवसेना ने कहा कि अश्विनी कुमार के इस तरह से खुदकुशी करने पर कोई सवाल नहीं कर रहा है, यह हैरान करने वाली बात है. शिवसेना ने इस मुद्दे पर फिल्म अभिनेत्री कंगना रनौत को भी निशाने पर लिया है.

शिवसेना के सामना के संपादकीय में लिखा गया है कि सीबीआई के पूर्व निदेशक अश्विनी कुमार ने आत्महत्या कर ली है. देश का सामाजिक, राजनीतिक माहौल बलात्कार और आत्महत्या जैसे मुद्दों से धुंधला हो गया है. ऐसे में अपने शिमला स्थित घर में अश्विनी कुमार की लाश का लटका हुआ मिलना झकझोर देने वाली घटना है.

शिवसेना ने कहा कि सीबीआई के प्रमुख निदेशक पद पर काम कर चुका व्यक्ति निराश हो जाता है, जीवन में जैसे कुछ बचा ही न हो और जिंदगी से निराश होकर आत्महत्या कर लेता है, इस पर हम सारे लोग आंख बंद करके विश्वास कर लेते हैं, हम इससे सहमत नहीं हैं. 

अश्विनी कुमार सिर्फ सीबीआई के निदेशक ही नहीं थे बल्कि सेवानिवृत्ति के बाद वह नागालैंड और मणिपुर के राज्यपाल भी बने थे. वह हिमाचल राज्य के पुलिस महानिदेशक थे. दिल्ली में प्रमुख नेताओं की विशेष सुरक्षा की जिम्मेदारी संभालने वाली एसपीजी में उन्होंने महत्वपूर्ण काम किया. मतलब वे मन और शरीर से मजबूत थे और इसीलिए सरकार ने उन पर विशेष जिम्मेदारियां सौंपी. ऐसा व्यक्ति अचानक आत्महत्या कर लेता है और कोई सवाल तक नहीं करता, इस पर आश्चर्य होता है.

कंगना रनौत पर भी निशाना साधा

शिवसेना ने अश्विनी कुमार के बहाने बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत पर भी निशाना साधा. शिवसेना ने कहा कि अश्विनी कुमार सच में जीवन से निराश हो गए थे या उन पर किसी का दबाव था, इस पर फिलहाल हिमाचल में रहने वाली ‘अभिनेत्री’ को कुछ कहना चाहिए. अश्विनी कुमार को किन परिस्थितियों में आत्महत्या करनी पड़ी, यह सवाल कर्कश भौंकने वाले चैनलों से भी पूछा जाना चाहिए. सुशांत मामला आत्महत्या नहीं बल्कि हत्या है, इसको सिद्ध करने के लिए जिन्होंने पूरी ताकत लगा दी, उन्हें सीबीआई के पूर्व निदेशक अश्विनी कुमार की आत्महत्या के पीछे कुछ रहस्य है, ऐसा प्रतीत ना होना आश्चर्यजनक है.

सुशांत पर छाती पिटने वाले अब कहां हैं?

शिवसेना ने कहा कि मुंबई में सुशांत सिंह राजपूत ने आत्महत्या की. कुछ दिनों पहले से वह निराश थे. मादक पदार्थों का सेवन करने लगे थे. चैनलों, बीजेपी आईटी सेल और उनके नेता सुशांत मामले में कई रहस्य ढूंढ कर धोबीघाट पर ले आए. उस रहस्यमय फिल्म को देखकर हिचकॉक, शेरलॉक होम्स और जेम्स बांड जैसे ‘नायक’ भी अचंभित हो गए होंगे. इन सारे हिचकॉक और शेरलॉक होम्स की औलादों को अश्विनी कुमार की लटकी हुई लाश के पीछे दबे रहस्य का पता भी नहीं चला? 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें