scorecardresearch
 

महाराष्ट्र: अठावले ने सुझाया नया फॉर्मूला, ऐसे बन सकती है BJP-शिवसेना सरकार

महाराष्ट्र में सरकार कब बनेगी इस पर मंथन लगातार जारी है. एनसीपी, शिवसेना और कांग्रेस के बीच सरकार बनाने की पूरी कहानी लिखी जा चुकी है लेकिन अब तक उसे पर्दे पर उतारा नहीं गया है.

फडणवीस के साथ केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले (Photo-PTI) फडणवीस के साथ केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले (Photo-PTI)

  • शिवसेना ने एनडीए की बैठक का बहिष्कार किया था
  • संजय राउत को 3 और 2 साल का फॉर्मूला सुझाया है

महाराष्ट्र में सरकार कब बनेगी इस पर मंथन लगातार जारी है. एनसीपी, शिवसेना और कांग्रेस के बीच सरकार बनाने की पूरी कहानी लिखी जा चुकी है, लेकिन अब तक उसे पर्दे पर उतारा नहीं गया है. लेकिन बीजेपी और शिवसेना गठबंधन की सरकार बनने के रास्ते अब भी खुले नजर आ रहे हैं.

सोमवार को केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार में मंत्री रामदास अठावले ने शिवसेना नेता संजय राउत को सरकार गठन का एक फॉर्मूला सुझाया है. उन्होंने कहा, मैंने संजय राउत से बात की और उन्हें 3 और 2 साल का फॉर्मूला सुझाया. इसके तहत तीन साल मुख्यमंत्री बीजेपी का होगा और 2 साल शिवसेना का.

रामदास अठावले के मुताबिक संजय राउत ने कहा कि अगर बीजेपी इस पर हामी भरती है तो शिवसेना विचार कर सकती है. अठावले ने कहा कि वह इस बारे में बीजेपी से बातचीत करेंगे.

बता दें कि असल में महाराष्ट्र में मुख्यमंत्री पद की मांग को लेकर बीजेपी से अलग हो चुकी शिवसेना ने एनडीए की बैठक का बहिष्कार किया था. केंद्रीय मंत्री और एनडीए की सहयोगी रिपब्लिक पार्टी ऑफ इंडिया के प्रमुख रामदास अठावले ने कहा, शिवसेना मीटिंग में नहीं थी. हालांकि शिवसेना के विनायक राउत सर्वदलीय बैठक में मौजूद थे. मेरा मानना है कि इस समस्या को खत्म किया जाना चाहिए. मैंने अमित भाई (अमित शाह) से भी इस सिलसिले में बोला.

रामदास अठावले ने बताया, 'अमित भाई ने कहा कि सभी चीजें सही दिशा में जा रही हैं. अंत में बीजेपी और शिवसेना ही सरकार (महाराष्ट्र में) बनाएंगी. मुझे लगता है कि शिवसेना को अपना रुख बदलना चाहिए. कांग्रेस शिवसेना को सपोर्ट करने को तैयार नहीं है.'

रामदास अठावले ने कहा, 'मैंने अमित भाई (बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह) से कहा कि अगर वह मध्यस्थता करते हैं तो रास्ता निकाला जा सकता है, इस पर उन्होंने (अमित शाह) ने कहा कि "चिंता मत करो, सब ठीक हो जाएगा. बीजेपी और शिवसेना सरकार बनाने के लिए साथ आएंगी.'

मेयर चुनाव पर दिख रहा है असर

महाराष्ट्र में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) और शिवसेना के बीच आई दरार का असर मेयर चुनाव में दिख रहा है. नासिक नगर पालिका के चुनाव से पहले बीजेपी और शिवसेना अपने पार्षदों को क्रास वोटिंग से बचाने में जुट गई है. इसके लिए बीजेपी ने अपने 53 पार्षदों को सिंधुदुर्ग जिले के एक रिजॉर्ट में ठहराया है. वहीं, बीजेपी की ही तरह शिवसेना ने अपने 34 पार्षदों को मुंबई के एक होटल में ठहराया है.

बीजेपी और एनसीपी मिलकर सरकार बनाए

वहीं, सोमवार को महाराष्ट्र के अमरावती से निर्दलीय सांसद नवनीत रवि राणा ने कहा कि राज्य में बीजेपी और एनसीपी मिलकर सरकार बनाए. आजतक से खास बातचीत में राणा ने यह बात कही. उन्होंने कहा, हम चाहते हैं कि महाराष्ट्र में एनसीपी और बीजेपी गठबंधन की सरकार बने और ऐसा ही होगा.

इधर, महाराष्ट्र में सरकार गठन को लेकर खींचतान के बीच राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) प्रमुख शरद पवार सोमवार को कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात की. इस मुलाकात से पहले मीडिया से बात करते हुए शरद पवार ने कहा कि शिवसेना और बीजेपी साथ मिलकर चुनाव लड़ी थी. अब शिवसेना और बीजेपी को अपना रास्ता तय करना है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें